in ,

पाकिस्तान में बहने वाले पानी को रोकने के लिए काम शुरू हो चुका है : गजेंद्र सिंह शेखावत

Work begun to stop water flowing in Pakistan: Union Water Power Minister Gajendra Singh Shekhawat
Work begun to stop water flowing in Pakistan: Union Water Power Minister Gajendra Singh Shekhawat

नई दिल्ली : केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा है कि सिंधु जल संधि का उल्लंघन किए बिना हम पाकिस्तान जाने वाले उस पानी को डायवर्ट करके उसे अपने लोगों के लिए इस्तेमाल करेंगे। पाकिस्तान में बहने वाले पानी को रोकने के लिए काम शुरू हो चुका है। Work begun to stop water flowing in Pakistan: Union Water Power Minister Gajendra Singh Shekhawat

केंद्रीय जल शक्ति मंत्री ने कहा है कि पाकिस्तान में बहने वाले पानी को रोकने के लिए काम शुरू हो चुका है। उन्होंने कहा, ‘मैं उस पानी की बात कर रहा हूं, जो पाकिस्तान जा रहा है, और मैं सिंधु संधि को तोड़ने की बात नहीं कर रहा हूं’। मुद्दा यह है कि हम पाकिस्तान में बहने वाले अतिरिक्त पानी को कैसे रोक सकते हैं और कैसे फसका उपयोग कर सकते हैं।

Nokia [CPS] IN

सरकार ने पाकिस्तान में बहने वाली नदियों के पानी को रोकने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा है कि भारत के हिस्से का पानी काफी मात्रा में पाकिस्तान जाता है।

Work begun to stop water flowing in Pakistan: Union Water Power Minister Gajendra Singh Shekhawat
Work begun to stop water flowing in Pakistan: Union Water Power Minister Gajendra Singh Shekhawat

केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा कि कुछ जलाशय और नदियां हैं जो इस जल संधि के बाहर हैं। हम उन्हें अलग कर देंगे, जिससे की हम सूखे के मौसम में उस पानी का उपयोग कर सके। मंत्री ने कहा कि हमारे जलाशय भरे हुए हैं, लेकिन हम उस पानी को पाकिस्तान में जाने दे रहे हैं। अब हम इस पानी को रावी की ओर मोड़ सकते हैं।

भारत अपने हिस्से की तीन नदियों से मिलने वाले पानी का अधिकतम 95 फीसद हिस्सा ही इस्तेमाल कर पाता है। बचा हुआ लगभग पांच फीसद पानी बहकर पाकिस्तान में चला जाता है और ऐसा इसलिए होता है क्योंकि भारत के पास इस बचे हुए पानी को रोकने या देश के भीतर ही अन्य नदियों में मोड़ने की कोई व्यवस्था नहीं है।

19 सितंबर 1960 को हुए सिंधु घाटी जल समझौते में छह नदियां सिंधु, चिनाब, झेलम, रावी, ब्यास, और सतलुज शामिल हैं। सिंधु घाटी की इन छह नदियों में कुल 168 मिलियन एकड़ पानी है। सिंधु जल समझौते के तहत इसमें से तीन प्रमुख नदियां सिंधु, चिनाब और झेलम का पानी पाकिस्तान को जाता है।

Work begun to stop water flowing in Pakistan: Union Water Power Minister Gajendra Singh Shekhawat

इन तीन नदियों में सिंधु घाटी के कुल पानी का 80 फीसद (लगभग 135 मिलियन एकड़) पानी बहता है। इसके अलावा तीन अन्य नदियों रावी, ब्यास और सतलुज का पानी भारत को मिलता है। इन नदियों में सिंधु घाटी के कुल पानी का 20 फीसद (लगभग 33 मिलियन एकड़) पानी बहता है।

Nokia [CPS] IN

पुलवामा आतंकी हमले और बालाकोट में आतंकी कैंप पर जवाबी कर्रवाई के बाद केंद्रीय मंत्री की ये टिप्पणी काफी महत्त्वपूर्ण है। हाल ही में दोनों देशों के द्विपक्षीय संबंधों में कमी आई है। सरकार ने 5 अगस्त को जम्मू और कश्मीर को विशेष अधिकार देने वाले अनुच्छेद 370 और 35A को खत्म कर दिया था, जिसके बाद बौखलाए पाकिस्तान भारत में मौजूद अपने राजदूत को वापस बुला लिया था।

Nokia [CPS] IN

Written by National TV

up bjp paid tribute to Former CM of Madhya Pradesh and senior leader Babulal Gaur

विधानसभा उपचुनाव को लेकर भाजपा अलर्ट, सभी मोर्चों की हुई बैठक

सीएम योगी की सभी मंत्रियों को नसीहत, कार्यों में परिवार का हस्तक्षेप न होने दें