Main Menu

क्या हैं रुसी S-400 डिफेन्स सिस्टम? पढ़िए पूरी जानकारी

Share This Now

नई दिल्ली : भारत और रूस के बीच हुई डील का सबसे महत्वपूर्ण मुद्दा हैं डिफेन्स सिस्टम. पीएम मोदी ने अमेरिका को आंख दिखाते हुए रूस से S-400 सिस्टम खरीद लिया हैं. जानकारी के लिए बता दे कि अमेरिका ने S-400 खरीदने के लिए भारत को मना किया था लेकिन पीएम मोदी के साहस के कारण यह डील संभव हो पाई हैं

यह भी पढ़े : मोदी ने खरीदा ऐसा सिस्टम कि पाकिस्तान के साथ अमेरिका भी घबराया

क्या हैं S-400 मिसाइल सिस्टम?

यह एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम है, जो दुश्मन के एयरक्राफ्ट को आसमान से गिरा सकता है. S-400 को रूस का सबसे अडवांस लॉन्ग रेंज सर्फेस-टु-एयर मिसाइल डिफेंस सिस्टम माना जाता है. यह दुश्मन के क्रूज, एयरक्राफ्ट और बलिस्टिक मिसाइलों को मार गिराने में सक्षम है. यह सिस्टम रूस के ही S-300 का अपग्रेडेड वर्जन है. इस मिसाइल सिस्टम को अल्माज-आंते ने तैयार किया है, जो रूस में 2007 के बाद से ही सेवा में है. यह एक ही राउंड में 36 वार करने में सक्षम है.

आखिर पीएम मोदी ने क्यों उठाया खरीदने का जोखिम?

एयर चीफ बीएस धनोआ की मानें तो S-400 भारतीय वायुसेना के लिए एक ‘बूस्टर शॉट’ जैसा होगा. भारत को पड़ोसी देशों के खतरे से निपटने के लिए इसकी खासी जरूरत है. पाकिस्तान के पास अपग्रेडेड एफ-16 से लैस 20 फाइटर स्क्वैड्रन्स हैं. इसके अलावा उसके पास चीन से मिले J-17 भी बड़ी संख्या में हैं. पड़ोसी देश और प्रतिद्वंद्वी चीन के पास 1,700 फाइटर है, जिनमें 800 4-जेनरेशन फाइटर भी शामिल हैं.

ऐसे में यह जरुरी होगया था कि देश को पड़ोसियों के हमले से सुरक्षित रखा जाये, इसलिए पीएम मोदी ने यह S-400 मिसाइल सिस्टम खरीदा हैं ताकि हमारा देश सुरक्षित रह सके. इस सिस्टम को खरीदने के लिए देश को अधिक बजट की आवश्यकता पड़ी इसलिए भी पट्रोल के दाम कम नहीं किये गये थे.

भारतीय वायुसेना के पास लड़ाकू विमानों की कमी के चलते दुश्मनों से निपटने की उसकी क्षमता प्रभावित हुई है. इसी सप्ताह वायुसेना के चीफ धनोआ ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था, ‘कोई भी देश भारत की तरह खतरे का सामना नहीं कर रहा है. हमारे दुश्मनों की नीयत रातोंरात बदल सकती है. हमें जरूरत है कि हम अपने प्रतिद्वंद्वियों से निपटने के लिए पर्याप्त ताकत जुटाकर रखें.

यह जानकारी आपको कैसी लगी? हमे कमेन्ट में अपनी रे दे और साथ ही ऐसी खबरों व् जानकारियों से अपडेट रहने के लिए National TV को फोलो करे. 



Leave a Reply