in

तालाब के किनारे घाट तथा सहजन और करी पत्ते के पेड़ बचाते हैं पानी, डीएम ने दिए निर्देश

Wharf, Drumstick and curry leaf trees on the banks of the pond save water, DM Instructions
लखनऊ। आज कलेक्ट्रेट सभागार में जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा द्वारा लोक भारती टीम के सदस्यों के साथ जल संरक्षण एवं वर्षा जल संचयन सम्बंधित बैठक आहूत की गई। Wharf, Drumstick and curry leaf trees on the banks of the pond save water, DM Instructions
बैठक में मुख्य विकास अधिकारी मनीष बंसल, बृजेन्द्र पाल सिंह सरक्षक लोक भारती, डी0पी0 शुक्ला निदेशक AAEE कन्सलटेंसी प्राइवेट लिमिटेड, मनरेगा, जल निगम व अन्य विभगीय अधिकारी उपस्थित रहे।
जिलाधिकारी द्वारा बताया गया कि जल संचयन केवल प्रदेश की ही नही बल्कि पूरे देश की प्राथमिकता बन गई है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री द्वारा जिसके लिए सभी ग्राम प्रधानों को पत्र बीबी लिखा गया है की जल संरक्षण व वर्षा जल संचयन करने हेतु ग्राम पंचायतों में तालाबों की खुदाई व वृक्षारोपण का कार्यक्रम एक जन आन्दोलन के रूप में चलाया जायें और सभी ग्राम प्रधान जल संचयन से जुड़े कार्यो को प्राथमिकता के आधार पर करे और ग्रामवासियो को जागरूक करे।
Wharf, Drumstick and curry leaf trees on the banks of the pond save water, DM Instructions
Wharf, Drumstick and curry leaf trees on the banks of the pond save water, DM Instructions
उन्होंने कहा कि जैसे-जैसे आबादी बढ़ रही है पानी का उपयोग भी बढ़ा रहा है और जल संरक्षण व जल संचयन न होने की वजह से पानी का जल स्तर नीचे गिरता जा रहा है। उन्होंने कहा कि हमें अपनी आने वाली पीढ़ी के लिए जल संरक्षण व संचयन करने के लिए अधिक से अधिक श्रमदान करना होगा।
प्रधानमंत्री द्वारा दिये गये निर्देशों के क्रम में उन्होंने कहा कि बारिश का मौसम प्रारम्भ होते ही हमें ऐसे भी काम करने है कि बारिश के पानी का ज्यादा से ज्यादा संचयन कर सकें। खेतों की मेड़ बन्दी नदियों और धाराओं की चैकडैम का निर्माण और तटबन्ध, तालाबों की खुदाई एवं सफाई, वृक्षारोपण, वृर्षा जल के अतिरिक्त के संचयन हेतु टांका जलाशय आदि की बड़ी संख्या में निर्माण करें ताकि खेत का पानी खेत में गांव का पानी गांव में ही संचित किया जाये।
उन्होंने कहा कि अगर हम ऐसा कर पाये तो न केवल पैदावार बढ़ेगी बल्कि हमारे पास जल का बढ़ा भण्डार होगा इसके लिए लोगों को जागरूक किया जाना आवश्यक है।
उन्होंने कहा कि प्रत्येक ग्रामवासी को जल संचयन हेतु और नहाने-धोने में कम से कम पानी का इस्तेमाल करना पानी को गिरने से बचाना वर्षा के पानी को घरों में सोकपिट बनाकर संचयन करना फसल सिंचाई हेतु लघु ड्रिप इरीगेशन एवं सूक्ष्म सिंचाई तकनीकों के इस्तेमाल करने हेतु प्रेरित किया जायें।
Wharf, Drumstick and curry leaf trees on the banks of the pond save water, DM Instructions
Wharf, Drumstick and curry leaf trees on the banks of the pond save water, DM Instructions
उन्होंने ने कहा कि पानी से जुड़े जितने भी विभग है वह इस कार्य को प्राथमिकता के आधार पर करें। किसी भी विभग को यह नही सोचना है कि उनका नहर का विभाग है तो उनको केवल नहर से जुड़े कर ही करने है। सभी जल से जुड़े विभागों को जल संचयन का कार्य प्राथमिकता के आधार पर करना है।
बृजेन्द्र पाल सिंह सरक्षक लोक भारती द्वारा बताया गया कि जल ही जीवन है सिर्फ यह कह देना ही काफी नही है। इससे समस्या का कोई समाधान नही होने वाला। अब समय आ गया है कि हमे जल संचयन के लिए वास्तविकता में कार्य करना है। उन्होंने कहा कि गोमती की 22 सहायक नदियां है परन्तु सिर्फ 2 में ही अभी पानी है। इस लिए इस समय जल संचयन की अत्यधिक आवश्यकता है।
उन्होंने बताया कि लखीमपुर के ग्राम में हर घर में रिचार्जिंग सिस्टम का निर्माण किया गया है। पूरे गांव में कोई नाली नही है। जितना भी वेस्ट पानी है रिचार्जिंग सिस्टम के द्वारा भूमि में समा जाता है। उन्होंने सुझाव दिया गया कि ऐसी ही व्यवस्था हमे गोमती तटवर्तीय सभी गांवों में लागू करनी होगी।

Wharf, Drumstick and curry leaf trees on the banks of the pond save water, DM Instructions

सरक्षक महोदय द्वारा सिचाई विभाग को सुझाव दिया गया कि नहरों के निकट के जितने भी तालाब है उनमें जल भरने की व्यवस्था की जाए। उन्होंने कहा कि यह छोटे छोटे कार्यो के द्वारा हम अधिक से अधिक जल संचयन कर सकते है। लोक भारती के सदस्यों के द्वारा तालाबो के मॉडल के बारे में भी अधिकारियों को अवगत कराया गया। उन्होंने कहा जल संरक्षण के साथ साथ वृक्षारोपण का कार्य भी बहुत ही महत्वपूर्ण है।
जिलाधिकारी द्वारा सभी अधिकारियों को निर्देश दिए गए कि गांवों के छोटे तालाबो को पुनर्जीवित किया जाए। नदियों और बड़े तालाबो को चिन्हित किया जाए और उनके आस पास के लोगो को जागरूक किया जाए। साथ ही गोमती नदी किनारे के 47 गांवों के प्रधानों को बुला कर उनको जल संचयन के लिए जागरूक किया जाए।
उन्होंने कहा कि हमे केवल तालाब खोदने का कार्य नही करना है, नए तालाबो के निर्माण के साथ साथ पुराने तालाबो की डिसलिटिंग, क्षमता बढ़ाने और सभी तालाबो पर वृक्षारोपण करने का कार्य भी करना है। उन्होंने कहा कि सभी कुओं की सूची बनाई जाए साथ ऐसे कुओं की अलग सूची बनाए जिनमे पानी नही है। साथ ही निर्देश दिया कि ट्यूबवेल और निजी लोगो के ट्यूबवेल की भी सूची बनाई जाए तथा फेल हो गए ट्यूबवेलों को अलग से चिन्हित किया जाए। उन्होंने कहा कि यह सभी कार्य हमे 30 जून तक पूरे करने है।
जिलाधिकारी द्वारा बताया गया कि खनन के माध्यम से भी तालाबो की खुदाई की जा रही है। साथ ही इसी माध्यम से 2 झीलों की खुदाई का प्लान भी बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि वर्षा आने वाली है हमे सभी कार्य जल्दी ही पूरे करने है ताकि आने वाले 6 माह में हमारे पास जल का भंडारण हो सके।
लोक भारती द्वारा सुझाव दिया गया कि तालाबोंं पर वृक्षारोपण में सहजन और करी पत्ता के वृक्षों को प्राथमिकता दी जाए। सभी तालाबो में छोटे छोटे घाटों का निर्माण किया जाए। जिसके लिए जिलाधिकारी द्वारा सभी अधिकारियों को निर्देश दिया गया कि लोक भारती द्वारा दिये गए सुझावों को भी अपने जल संचयन के प्लान में शामिल करें। जिसके पश्चात जिलाधिकारी द्वारा बैठक में आए लोक भारती के सदस्यों को धन्यवाद ज्ञापित किया गया और उनको जल संचयन के लिए प्रधानों को प्रेरित करने के लिए अगले सप्ताह होने वाले प्रधानों के सम्मेलन में भी आमंत्रित किया।

Written by National TV

Microsoft India discussing purchase of several new PCs at the cost of mantaining an older PC

नए पीसी का इस्तेमाल उत्पादकता बढ़ाता है, माइक्रोसॉफ्ट ने जारी की टेकआइल रिपोर्ट

lko sports news Lucknow district badminton championship from 27 june

लखनऊ जिला बैडमिंटन चैम्पियनशिप 27 से