in , ,

वीमेट; छोटे वीडियो बनाकर पैसे कमाना अब रोजगार का नया चलन बना

Vmate Making money by making short videos is now a new trend of employment
Vmate Making money by making short videos is now a new trend of employment

लखनऊ: वीमेट; छोटे वीडियो बनाकर पैसे कमाना अब रोजगार का नया चलन बना। Vmate Making money by making short videos is now a new trend of employment

अब उत्तर प्रदेश के लोग अपनी प्रतिभा और रुचि का इस्तेमाल कर आसानी से पैसे कमा सकते हैं, वो भी घर बैठे।

Nokia [CPS] IN

प्रमुख शॉर्ट वीडियो ऐप वीमेट ने आज लखनऊ के फन रिपब्लिक मॉल में आयोजित एक इवेंट में वीमेट पर लखपति-वीडियो बनाओलखपति बन जाओ’’ कैंपेन की भारत में शुरुआत की।

वीमेट पर लखपति-वीडियो बनाओलखपति बन जाओ’’ कैंपेन का मकसद स्थानीय प्रतिभाओं/कलाकारों की तलाश करके उन्हें ये सिखाना है कि किस तरह से वो अपनी लोकप्रियता बढ़ा सकते हैं और यह सुनिश्चित कर सकते हैं कि अधिक से अधिक लोग उनके बनाए गए वीडियो देखें।

साथ ही लोगों की वीमेट पर बनाए अपने शॉर्ट वीडियो की मदद से कमाई करने में भी मदद की जाएगी। उत्तर प्रदेश के लोग अपने वीडियो के लिए 980,000 रुपए से भी ज्यादा की रकम इनाम के रूप में जीत सकते हैं। तो वहीं अलग-अलग व्यक्ति इस काम के लिए हर हफ्ते 66 हजार रुपए तक की कमाई कर सकते हैं।

इस मौके पर पूरे उत्तर प्रदेश से वीमेट के 15 शीर्ष प्रतिभाशाली वीडियो क्रिएटर और उनके फैन्स मौजूद रहे, जिन्होंने वहां अपना टैलेंट दिखाया और दर्शकों को अपनी प्रेरक कहानियां भी बताई।

गिनीज़ रिकॉर्ड की तैयारी में वीमेट के हैवी वेट चैंपियन

वीमेट हैवी वेट चैंपियन अब्दुल्ला पठान अपनी फिटनेस का बेहद ध्यान रखते हैं और आगे चलकर वो WWE ज्वाइन करना चाहते हैं। वीमेट पर उनके फिटनेस और वेटलिफ्टिंग वीडियो काफी हिट हैं। इन वीडियो की बदौलत ही वीमेट पर उन्हें 3 लाख 52 हजार से ज्यादा फॉलोवर्स मिले हैं और सबसे ज्यादा इनाम भी।

उत्तर प्रदेश में चल रहे ‘वीमेट पर लखपति’ कैंपेन के तहत अपने वीडियो बनाकर वो हर हफ्ते औसतन 10 हज़ार रुपए कमा लेते हैं। अब्दुल्ला ने शुरुआत की थी ऐसे वीडियो बनाने से जिनमें वो महंगे जिम और डाइट के बिना ही लोगों को पहलवानी और वेटलिफ्टिंग के लिए अपनी बॉडी को ट्रेन करने के तरीके सिखाते थे। अपने वीडियो में वो एक साथ 2 मोटर साइकिल उठाते देखे जा सकते हैं!

साथ ही इन वीडियो में वो अपने कंधे पर एक साथ तीन लोगों को उठाकर चलते देखे जा सकते हैं! शुरुआत में इंजीनियरिंग डिग्री होने के बावजूद नौकरियों के मौके छोड़कर वीडियो बनाने में समय खर्च करने पर अब्दुल्ला के परिवार ने ऐतराज़ किया। लेकिन अब अपने वीडियो के जरिए मिली शोहरत और पैसों ने उनकी ज़िंदगी बदल दी है- अब उनका परिवार और गांव के लोग खुश हैं।

और उनके वीडियो को पसंद करने के साथ समर्थन भी देते हैं। अब्दुल्ला रोज़ाना 3-4 घंटे ट्रेनिंग और वीडियो बनाने में बिताते हैं। साथ ही वो गिनीज़ रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज करवाने की भी तैयारी कर रहे हैं। एक ओर वीमेट पर जहां ऐसे हैवीवेट चैंपियन ट्रेंड कर रहे हैं वहीं एक साधारण सी लगनेवाली जोड़ी भी लोगों के दिल जीत रही है।

इंटरनेट पर लड़की बनकर हिट हुआ लड़काबिल्कुल लड़कियों की तरह!

वीमेट पर ‘मालीपुर डांसर’ के यूज़रनेम के साथ मुखौटा पहनकर वीडियो बनानेवाली एक जोड़ी है। इस जोड़ी के वीमेट पर 1 लाख से भी ज्यादा फॉलोवर हैं। ये जोड़ी है दो भाइयों की जिनमें से एक लड़की की तरह कपड़े पहनता है। उनके डांस और कॉमेडी वीडियो वीमेट ऐप पर बेहद हिट हैं।

हालांकि उनके गांव के लोगों ने लड़कियों की तरह तैयार होकर कॉमेडी वीडियो बनाने पर उनका मज़ाक भी उड़ाया लेकिन इस जोड़ी को वीमेट ऐप पर समय बिताना पसंद है।

क्योंकि यहां के दर्शकों ने उनकी प्रतिभा को गर्मजोशी से स्वीकारा और पसंद भी किया। ‘वीमेट पर लखपति’ कैंपेन के तहत बने इन वीडियोज़ की मदद से इन भाइयों को शोहरत और सम्मान के साथ हर महीने ठीक-ठाक कमाई करने का मौका मिला, जबकि पहले वो बहुत कम कमा पाते थे।

वीमेट एक ऐसा प्लेटफॉर्म है जिस पर जवान, बूढ़े, बच्चे सभी के लिए कुछ न कुछ है।

वीमेट ने लड़की को बेहतर शिक्षा पाने में मदद की

5 साल की नैना को वीमेट पर भारत की सबसे प्यारी बच्ची के रूप में जाना जाता है। वीमेट पर नैना के 3 लाख से भी ज्यादा फॉलोवर्स हैं। 1 साल की उम्र में नैना की मां गुज़र गईं। दुर्भाग्यवश नैना के पिता और दादा दोनों को शराब की लत थी जिसेक कारण वे नैना को पालने  में असमर्थ थे। इसीलिए नैना के चाचा-चाची ने नैना को गोद ले लिया।

नैना की चाची बताती हैं कि नैना को उसके क्यूट लुक, प्रतिभा और अदाओं के कारण फिल्म में रोल का भी ऑफर मिला था। वीमेट पर लखपति कैंपेन के तहत वीमेट पर नैना के हिट वीडियोज़ के लिए उसे इनाम और कैश मिला। उसकी चाची का कहना है कि इस कैश का इस्तेमाल नैना की आगे की पढ़ाई के लिए किया जाएगा

इस मौके पर वीमेट की निशा पोखरियाल ने कहा कि ‘‘वीमेट पर लखपति- वीडियो बनाओ, लखपति बन जाओ’’ कैंपेन एक ऐसा प्लेटफॉर्म है जहां यूज़र्स वीडियो शूट करके अपनी प्रतिभा दिखाएंगे और रोज़ पैसे भी कमाएंगे।

इस ईवेंट के ज़रिए हमारा ध्यान है कुछ यादगार कहानियों और उत्तर प्रदेश को एक अलग नज़रिए से देखने पर। जहां स्थानीय लोग बेहद साधारण से लगनेवाली चीजें जैसे डांस, कॉमेडी, खाना, फैशनवर्क, DIY एक्टिविटी वगैरह कुछ इस तरह से कर रहे हैं जो लोगों का ध्यान आकर्षित करे।

उत्तर प्रदेश में बहुत से वीमेट यूज़र हैं जिन्होंने अपने वीडियो के जरिए खूब पैसा कमाया है। वीमेट उत्तर प्रदेश में नए टैलेंट की तलाश में जुटा रहेगा और इस टैलेंट को उनके वीडियोज़ के जरिए सराहता रहेगा। हम जल्द ही यूपी में 10 लाख के एक नए प्रोजेक्ट का ऐलान करेंगे। इसलिए हमारे ऐप से जुड़े रहें!’’

‘‘वीमेट पर लखपति- वीडियो बनाओ, लखपति बन जाओ’’ कैंपेन अपने सभी यूज़र्स को कैश इनाम देता है ताकि वो अपने डांस, कॉमेडी, फूड, फैशन, वर्क और DIY वीडियो शूट और पोस्ट करके अपना टैलेंट दिखा सकें।

वीमेट के बारे में

वीमेट इंडिया, UGC शॉर्ट वीडियो ऐप कम्युनिटी का हिस्सा है, जिसकी मदद से यूज़र्स 15 सेकंड के छोटे-छोटे वीडियो शूट करते हैं, अन्य लोगों के वीडियो देखते हैं और दोस्तों के साथ शेयर भी करते हैं। इसकी मदद से वो पैसे भी कमाते हैं और अपनी तरह की रुचि के वीडियो बनाने वाले लोगों से कनेक्ट भी कर सकते हैं।

इस ऐप में डांस, कॉमेडी, फैशन, फूड, फिटनेस, स्पोर्ट्स जैसी अलग-अलग श्रेणियां हैं।

‘‘वीमेट पर लखपति- वीडियो बनाओ, लखपति बन जाओ’’ कैंपेन का उद्देश्य स्थानीय प्रतिभाओं/ कलाकारों की तलाश करके उन्हें अपनी लोकप्रियता बढ़ाने, अपने लिए अधिक से अधिक दर्शक बनाए रखने, और वीमेट ऐप पर अपने वीडियो से पैसे कमाने के तरीके सिखाना है।

Nokia [CPS] IN

वीमेट पर बेहतरीन स्टिकर्स और वीडियो एडिटिंग इफेक्ट्स मौजूद हैं जिनकी मदद से मज़ेदार वीडियो बनाए जा सकते हैं। इसके जरिए यूज़र चाहे तो किसी पॉपुलर वीडियो के साथ मिलाकर कोई मज़ेदार वीडियो भी बना सकता है। ये ऐप Google Play Store पर मौजूद है।

Nokia [CPS] IN

Written by Ranjeev Thakur

Remembering the brave martyrs of freedom struggle by donating

दीपदान कर याद किया स्वतंत्रता संग्राम के वीर शहीदों को

Daoria, Rama's family living in helplessness, who will help them

बेबसी और लाचारी में जी रहा रामा का परिवार, कौन करेगा मदद ?