in

UPPSC की भर्ती में धांधली को लेकर फिर से सुलग उठा प्रयागराज, भर्तियों को रद्द करने की मांग

इलाहाबाद / प्रयागराज । उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की भतिर्यों में धांधली का सच फिर से सामने आने के बाद पूरा प्रयागराज शहर सुलग उठा है। हजारों की संख्या में छात्रों ने आयोग के दफ्तार को घेर लिया है। हालात संभालने के लिये जिला मजिस्ट्रेट ने धारा 144 लागू कर दी है। मौके पर पूरे जिले की पुलिस फोर्स, आरएएफ और पीएसी को बुला लिया गया है। हालांकि शुरूआत में नारेबाजी तक सीमित रहा छात्रों का आंदोलन उग्र हो गया है और बार बार सुरक्षाकर्मियों से छात्रों की झड़प हो रही है। वहीं, बिगड़ते माहौल को संभालने के लिये पुलिस ने भी लाठी भांजनी शुरू कर दी है और भीड़ को तितर बितर करने का प्रयास किया जा रहा है। अभ्यर्थियों की मांग है कि परीक्षा नियंत्रक रही अंजू कटियार के कार्यकाल की सभी भर्तियों को रद्द किया जाये और सभी भर्तियों की सीबीआई जांच हो। छात्रों के दर्जनों संगठनों के एक साथ आ जाने के कारण माहौल संभालने में पुलिस प्रशासन के पसीने छूट गये हैं। भयंकर धूप व गर्मी के बीच भी छात्र ठस से मस नहीं हो रहे हैं। पुलिस के दौड़ाने पर कुछ दूर भागने के बाद छात्रों का हुजूम हमलावर होकर फिर से आयोग के मुख्यालय का घेराव कर रहा है और अब स्थिति बेहद ही जटिल हो गयी है।
पथराव से मामला बिगड़ा
पुलिस की सख्ती के बाद छात्रों ने उग्र रूप धारण कर लिया है और वह सुरक्षा बलों पर पथराव भी कर रहे हैं। जिससे छात्रों और सुरक्षा बलों की बीच टकराहट की स्थिति बन गयी है। मौके पर पूरे जिले के अधिकारी डटे हुये हैं और हालात को किसी भी नियंत्रित करने का प्रयास कर रहे हैं। सीविल लांइंस रोड व कानपुर रोड दोनों ओर से अभ्यार्थियों ने आयोग का घेराव किया है और लागातार भीड़ बढती जा रही है। सोशल मीडिया पर खबर वीडियो, फोटोज के वारयल होने से भीड के अभी और बढने व हालात के बिगडने की संभावना बनी हुई है।
लाउडस्पीकर से दी जा रही चेतावनी
छात्रों और सुरक्षा बलों के बीच टकराहट से लगातार बिगड रही स्थिति के बीच शहर के इस इलाके में तत्काल प्रभाव से निषेधज्ञा लागू कर दी गयी है और लाउड स्पीकर से अधिकारी प्रदर्शनकारियों को चेतावनी दे रहे हैं। लोगों को एक स्थान पर खडे न होने व भीड ना जुटाने की अपील के साथ सख्त हिदायत भी दी जा रही है। वहीं, छात्रों के मौके पर डटे रहने के बाद अब कानूनी कार्रवाई के लिये भी पुलिस प्रशासन तैयार हो रहा है।
4 घंटे से चल रहा है प्रदर्शन
यूपी लोक सेवा अयोग की परीक्षा नियंत्रक की गिरफ्तारी व पेपर लीक के मामले ने गुरूवार को ही प्रयागराज जिले में आंदोलन और प्रदर्शन की सुगबुगुहाट पैदा कर दी थी। लेकिन पीसीसएस पीरक्षा स्थगित होने की खबर बाहर निकलते ही छात्रों ने आंदोलन का बिगुल बजा दिया है। वैसे रात में आंदोलन की रणनीति बन गयी थी और इसकी भनक पुलिस को भी लग गयी थी, इसलिये आंदोलन छेड़ने वाले कुछ नेताओं पर नजर भी रखी जा रही थी। लेकिन, दोपहर 12  बजे छात्रों की भीड़ अधिक नहीं थी, जिससे आंदोलन के बेहद शांत रहने की संभावना थी। लेकिन आंदोलन शुरू होने की खबर जैसे जैसे आगे बढी, भीड उम्मीद से ज्यादा जुट गयी है और अब प्रदर्शन भी उग्र हो गया है। वहीं, इस पूरे इलाके में दुकाने बंद कर दी गयी है। वाहनों का आवागमन ठप कर दिया गया है और सुरक्षा के कडे इंतजाम के साथ पूरे इलाके को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया है।
Nokia [CPS] IN

Written by Amarish Shukla

up working journalist association and saral care foundation celebrated world no tobacco day at up press club

यूपी वर्किंग जर्नलिस्ट एसोसिएशन और सरल केयर ने मनाया तम्बाकू निषेध दिवस

गुजरात सरकार ने दी मंजूरी, अहमदाबाद जेल होगा बाहुबली अतीक का नया ठिकाना