in

UPPCS 2017- टॉप-20 में 6 बेटियां भी शामिल, पढिये इनके बारे में

इलाहाबाद / प्रयागराज : उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग ने 2 साल बाद पीसीएस 2017 का रिजल्ट जारी किया है। इस परीक्षा में बेटियों ने एक बार फिर से खुद को साबित किया है और टॉप पाइव में 2 स्थान हासिल करने के बाद टॉप 20 में 6 स्थानों पर बेटियों ने कब्जा जमाया है । पुरूष वर्ग में जहां प्रतापगढ़ के अमित शुक्ला टॉपर रहे, वहीं लड़कियों में भी टॉपर प्रतापगढ़ की ही मिनाक्षी पाण्डेय रही। ओवरआल मिनक्षी तीसरे नंबर पर हैं। मिनाक्षी के अलावा मुरादाबाद की निधि डोडवाल ने पांचवी रैंकिंग के साथ टॉप पाइव में जगह बनाई है। इसके अलावा बुसरा बानो, दिव्या ओझा, बरखा सिंह व रेनू ने टॉप 20 में जगह बनाई है।

महिला वर्ग में टॉप 20 की लिस्ट
1. मिनाक्षी पाण्डेंय
2 . निधि डोडवाल
3. बुसरा बानो
4 . दिव्या ओझा
5. बरखा सिंह
6. रेनू

Nokia [CPS] IN

ओवरआल रैंकिंग में स्थान
पीसीएस 2017 की ओवर आल रैंकिंग में मिनाक्षी पाण्डेय को तीसरी रैंक, निधि डोडवाल को पांचवी रैंक, बुसरा बानो को छठवीं रैं, 9 वीं रैंक पर दिव्या ओझा, 14 वीं रैंक पर बरखा सिंह व 19 वीं रैंक के साथ रेनू ने ओवरआल टाप 20 में जगह बनाई है।

लेखपाल की बेटी बनी एसडीएम
पीसीएस परीक्षा 2017 में  मुरादाबाद की निधि डोडवाल ने पांचवी रैंकिग हासिल की है। निधि  मूल रूप से छजलैट ब्लाक के खलीलपुर अमरू की रहने वाली है। पिता नृपेन्द्र सिंह कांठ तहसील में लेखपाल हैं और अब उनकी बेटी एसडीएम बन गयी है। निधि तीन भाई-बहनों में सबसे बड़ी हैं। निधि की मां सर्वेश सिंह गृहिणी हैं और बेटी को आगे बढने के लिसे सबसे अधिक यही प्रेरित करती रही। वहीं, पिता बच्चों की उच्च शिक्षा व बडी बेटी को अधिकारी बनने का सपना पाले हुये थे। निधि के बचपन से ही वह उसे अधिकारी बनाना चाहते थे, जिसे निधि ने आखिरकार पूरा कर दिया है।

दिव्या ओझा

इनसे मिलिये ये हैं दिव्या ओझा। स्वाभाव से बेहद ही हसमुख हैं और अपनी मृदुभाषिता के लिये दोस्तों के बीच खूब सराही जाने वाली दिव्या घर में सबसे छोटी हैं। लेकिन, अब उन्होंने बडा काम कर दिया है। दिव्या इस बार यूपी पीसीएस 2017 में टॉप टेन की टॉपर हैं और 9 वीं रैंक के साथ इनका चयन एसडीएम पद पर हो गया है। दिव्या मूल रूप से प्रतापगढ के पट्टी तहसील क्षेत्र में रमईपुर दिशानी गांव की रहने वाली है। इनका परिवार खासा चर्चित रहा है। दिव्या के चाचा शिवाकांत ओझा पूर्व मंत्री रह चुके हैं। जबकि दिव्या की पूरी फैमली शिक्षा को लेकर बेहद ही जागरूक है और घर के सभी सदस्य उच्च शिक्षा प्राप्त हैं। दिव्या के पिता डा. निशिकांत ओझा शहर के तिलक इंटर कालेज के प्रधानाचार्य हैं। फिलहाल दिव्या को खूब सारी बधाई और शुभकामनाएं… इनके बारे में भी कल डिटेल से पढ़े।

प्रतिभा मिश्रा

Nokia [CPS] IN

इनसे मिलिये ये हैं प्रयागराज की प्रतिभा मिश्रा, नाम के अनुरूप ही यह बेहद ही सौम्य और प्रतिभावान हैं। पीसीएस 2017 में यह डिप्टी एसपी बन गयी हैं। प्रतिभा की प्रारंभिक शिक्षा चिन्मय विद्यालय रसूलाबाद से हुई। इसके बाद वह इंटरमीडिएट की पढाई के लिये शहर के डीपी गर्ल्स इंटर कालेज की छात्रा रही। बारहवीं करने के बाद पूरब के आक्सफोर्ड कहे जाने वाले इलाहाबाद यूनिवर्सिटी से बीएससी की और फिर यही से एमएससी और गोल्ड मेडलिस्ट रही। प्रतिभा के पिता सुशील कुमार मिश्रा चिन्मय विद्यालय रसूलाबाद के प्राचार्य हैं। प्रतिभा को बहुत बहुत बधाई और शुभकामनाएं…. कल इनके बार में भी डिटेल से भरें।

676 पीसीएस अफसर का चयन
उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग की पीसीएस 2017 का रिज्ल्ट आने के बाद पूरे यूपी में जश्न का माहौल है। कुल 676 पीसीएस अफसर चुने गए हैं। इसमे राज्य के 27 प्रकार के पद थे।  पीसीएस 2017 की प्रारंभिक परीक्षा 24 सितंबर 2017 को हुई थी, जबकि मुख्य परीक्षा जून 2018 में कराई गई। इसका परिणाम आयोग ने 7सितंबर को घोषित किया था। मुख्य परीक्षा में 12295 अभ्यर्थी सफल हुये थे, इनमे से 2029 अभ्यर्थियों को साक्षात्कार में सफलता मिली थी। जिनमें से अब 676 पदों पर टाप रैंकिंग वाले अभ्यर्थी चुने गये। याद दिला दें कि हाल ही में 16 सितंबर से एक अक्टूबर तक साक्षात्कार की प्रक्रिया शुरू हुई थी। जिसमें आजम खान के एफआईआर जैसे सवाल पूछे गये थे।

Nokia [CPS] IN

Written by Amarish Shukla

कौन हैं पीसीएस 2017 टाॅपर अमित शुक्ला, क्यों छोड़ी थी उन्होंने कॉमर्शियल टैक्स अफसर की नौकरी, पढें

प्रेरणादयी बेटियां : दादी ने कहा मैं तेरी सरकारी गाड़ी से चलूंगी दफ्तर और अब एसडीएम बन गयी मीनाक्षी