Main Menu

किसान मुक्ति मार्च : प्रदर्शनकारी किसानों ने किया संसद की ओर कूच, सुरक्षा के भारी इंतजाम

Share This Now

लखनऊ न्यूज़ डेस्क :  हजारों किसान राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के रामलीला मैदान में जुटे हैं. सभी कल देशभर के विभिन्न इलाकों से नई दिल्ली पहुंचे. उसके बाद आज किसान कर्जमाफी, फसल की लागत का डेढ़ गुना न्यूनतम समर्थन मूल्य  और कृषि  के लिए विशेष सत्र बुलाने जैसी मांगों को लेकर संसद की तरफ मार्च करेंगे.

शुक्रवार को ऋण माफी और फसल के न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ाने समेत अपनी कई अन्य मांगों को लेकर संसद की ओर कूच कर रहे है.

इसके तहत ‘किसान मुक्ति मार्च’ के बैनर तले किसानों ने रामलीला मैदान से संसद भवन की ओर कूच शुरू कर दिया है. दो दिवसीय किसान मार्च में शामिल होने के लिए देश के अलग-अगल हिस्से- आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र, गुजरात, तमिलनाडु, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल से किसान गुरूवार को राजधानी दिल्ली पहुंचे.

वहीं, किसानों के मार्च के चलते रामलीला मैदान के बराबर की एक सड़क पर यातायात पूरी तरह बंद कर दिया गया। ट्रैफिक पुलिस दिल्‍लीवासियों को जाम से बचने के लिए अपने फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडिल पर ट्रैफिक की जानकारी को लगातार अपडेट कर रही

किसान रैली से पहले सुरक्षा व्यवस्था चौकस

दिल्ली में किसानों के मार्च के दौरान किसी तरह की कोई अनहोनी घटना न हो जाए इससे बचने के लिए पर्याप्त व्यवस्था की गई है.राजधानी में यातायात प्रभावित ना हो इसके लिए शुक्रवार को 3,500 पुलिसकर्मी तैनात किए जाएंगे.

पुलिस ने बताया कि सड़कों पर मार्च कर रहे किसानों के दोनों तरफ रस्सी होगी और ताकि ट्रैफिक पर उसका असर न पड़े, इस बात को सुनिश्चित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि यह कोशिश की जाएगी कि लोगों को कम परेशानियों का सामना करना पड़े.

यात्रियों को असुविधा से बचाने के लिए यह जानकारी दी जा रही है. किसान मुक्‍ति मार्च के लिए पहुंचे किसानों के रास्‍ते में करीब 1000 ट्रैफिक पुलिसकर्मी के जवानों को लगाया गया है. इन जवानों को ट्रैफिक व्‍यवस्‍था दुरुस्‍त रखने की हिदायत दी गई है.

ये हैं किसानों की अहम मांगें

  1. किसान की पूरी तरह कर्ज माफी
  2. फसलों की लागत का डेढ़ गुना मुआवजे की मांग
  3. एमएस स्वामीनाथन कमीशन की रिपोर्ट को पूरी तरह से लागू करने की मांग
  4. किसानों को पेंशन देने की मांग
देवगौड़ा का किसानों को समर्थन

अपने हक के लिए आंदोलन कर रहे किसानों के प्रति पूर्ण समर्थन का आश्वासन देते हुए पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा ने कहा कि कोई भी सरकार किसानों के समर्थन के बिना नहीं टिक सकती है. किसानों को संबोधित करते हुए गौड़ा ने कहा कि वह उनके दुख और दिक्कतों को समझते हैं क्योंकि वह खुद किसान के बेटे हैं

पहले दिन पैदल मार्च किया

किसान मुक्ति मार्च के पहले दिन बृहस्पतिवार को स्वराज इंडिया पार्टी के अध्यक्ष योगेंद्र यादव व जय किसान आंदोलन के संयोजक अभिक साहा के नेतृत्व में देशभर से आए किसानों ने बिजवासन से रामलीला मैदान तक पैदल मार्च किया.



Leave a Reply