in

17 जून को ही होगी पीसीएस की मुख्य परीक्षा, अगले सप्ताह शुरू होगा आवेदन

प्रयागराज / इलाहाबाद । पीसीएस 2018 की मुख्य परीक्षा से जुडी बडी खबर है।  उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग के प्रयागराज स्थित मुख्यालय के बाहर अभ्यािर्थियों के लगातार प्रदर्शन व परीक्षा तिथि में बदलाव की मांग को आयोग ने ठुकरा दिया है। पीसीएस 2018 की मुख्य परीक्षा 17 जून को ही होगी और आयोग ने तय समय पर परीक्षा करने के लिऐ अगले सप्ताह से आवेदन की प्रक्रिया शुरू करने की घोषणा की है। जबकि अभ्यार्थियों के ज्ञापन आदि पर आयोग ने सख्त रूख अख्तियार करते हुये किसी भी तरह की राहत देने से इन्कार कर दिया है। आयोग ने स्पष्ट किया है कि परीक्षार्थियों को तैयारी के लिये पर्याप्त समय मिला था, ऐसे में परीक्षा की तारीखें आगे नहीं बढायी जायेंगी।  यानी पीसीएस-2018 की मुख्य परीक्षा अपने तय समय 17 जून को ही होगी। आयोग के सचिव जगदीश ने बताया कि अगले सप्ताह परीक्षा का विस्तृत कार्यक्रम जारी कर दिया जायेगा। गौरतलब है नये पैटर्न पर इस बार पीसीएम की मुख्य परीक्षा हो रही है, जो आईएएस की परीक्षा की तर्ज पर होगी। यही कारण बताकर अभ्यर्थी तैयारी के लिये और अधिक समय की मांग कर रहे हैं।
परीक्षा के बारे में जाने
उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की पीसीएस-2018 में 988 पद है।। जिसकी प्रारंभिक परीक्षा का आयोजन 28 अक्तूबर 2018 को हुआ था। राज्य स्तर की इस सबसे बडी परीक्षा में 398630 परीक्षार्थी शामिल हुए थे। जिसका रिजल्ट 30 मार्च को घोषिता। प्रारंभिक परीक्षा में 19096 अभ्यर्थियों को सफल घोषित किया गया है। हालांकि अभी तक मुख्य परीक्षा का कार्यक्रम नहीं घोषित नहीं किया गया है। कैलेंडर की तिथियों पर ही परीक्षा करने का दावा कर रहे आयोग ने मई के पहले सप्ताह में ही विस्तृत कार्यक्रम जारी करने की घोषणा की है। इस बावत आयोग के सचिव जगदीश ने बताया कि अर्धवार्षिक कैलेंडर22 दिवसंबर को जारी किया गया था और बताया गया था कि मुख्य परीक्षा 17 जून को होगी। ऐसे में समय कम मिलने का कहीं पर सवाल ही नहीं उत्पन्न हो रहा है। अगले सप्ताह से मुख्य परीक्षा के लिये आवेदन की प्रक्रिया शुरू करा दी जाएगी। अभ्यर्थी अपनी तैयारी को पूरी कर लें, परीक्षा की तिथियों में कोई बदलाव नहीं होगा। क्योंकि पीसीएस 2019 की प्रारंभिक परीक्षा का भी विज्ञापन जारी किया जाना है और उसकी तिथियों से सामांतन दूरी आवश्यक है।
कैसा है नया पैटर्न
आयोग की ओर से जारी विज्ञप्ति के अनुसार नये पैटने में  सामान्य अध्यन के चार प्रश्न पत्र होंगे। जिनहें, पहला, दूसरा, तीसरा व चौथा कहा जायेगा। इसमें प्रश्नपत्रवार प्रश्नों की संख्या 20 होगी और सभी अनिवार्य होंगे। प्रत्येक प्रश्नपत्र में 10 सवाल लघु उत्तरीय एवं 10 सवाल दीर्घ उत्तरीय होंगे। लघु उत्तरीय प्रश्नों के उत्तरों की शब्द सीमा 125 और दीर्घ उत्तरीय प्रश्नों के उत्तरों की शब्द सीमा 200 होगी।
जबकि अनिवार्य विषय हिंदी एवं निबंध और वैकल्पिक विषय के प्रश्नपत्र पूर्व की भांति यथावत रहेंगे। हालांकि अब तक दो वैकल्पिक विषय होते थे लेकिन नए पैटर्न के तहत होने वाली मुख्य परीक्षा में केवल एक वैकल्पिक विषय होगा।
क्या होगा लाभ
पीसीएस मुख्य परीक्षा के पैटर्न में बदलाव का असर और लाभ सीधे अभ्यर्थियों को मिलने वाला है। क्योंकि अब उन्हें संघ लोक सेवा आयोग की आईएएस परीक्षा के लिए अलग तरह से तैयारी नहीं करनी पडेगी। बल्कि पीसीएस की मुख्य परीक्षा ही आईएएस की परीक्षा का हिस्सा होगा। यानी दोनों परीक्षाएं एक तरह से ही होंगी और एक परीक्षा की तैयारी कर अभ्यर्थी दोनों परीक्षा में बैठ कर सफलता हासिल कर सकेंगे। इससे अब आईएएस — पीसीएस की तैयारी करना अब पहले की अपेक्षा आसान होगा।
करें लिखने की तैयारी
यूपीपीएससी की परीक्षा में अब तक मुख्य परीक्षा में सामान्य अध्ययन के प्रश्नपत्र में वस्तुनिष्ठ प्रकार के सवाल पूछे जाते थे लेकिन, नए पैटर्न के तहत चारों प्रश्नपत्रों में लघु उत्तरीय एवं दीर्घ उत्तरीय प्रकार के सवाल पूछे जाएंगे। यानी वही अभ्यर्थी इसमें सफल होने वाले हैं जिनके लिखने की स्किल बहुत अच्छी है और अगर आप मुख्य परीक्षा देने वाले हैं तो अपने लिखने की कला का खूब विकास करें।
इस लिंक से आप नये परीक्षा पैटर्न को देख सकते है। इसे देखने के लिए आप आयोग की आधिकारिक वेबसाइट का इस्तेमाल करें। मुख्य पेज पर ही इंपार्टटेंट लिंक में इसका लिंक जारी किया गया है।
Nokia [CPS] IN

Written by Amarish Shukla

फिल्म ‘राम की जन्मभूमि’ के प्रड्यूसर, डायरेक्टर समेत यूट्यूब और गूगल को नोटिस, हाईकोर्ट ने मांगा जवाब

इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर बनने का शानदार मौका, 558 पदों पर 22 मई तक करें आवेदन