in

पिता ने दो बेटियों को शर्बत में जहर देकर खुद भी पिया, तीनों की मौत

सोमवार को दिन के दूसरे पहर में करीब सवा 1 बजे शोभनाथ ने नीबू का शरबत बनाया और उसमे केमिकल मिला दिया। उसने केमिकल मिला शरबत अपनी बेटी कनिष्का (16) और साक्षी (8) को पीने के लिये दिया और खुद पी लिया।

इलाहाबाद / प्रयागराज : उत्तर प्रदेश के प्रयागराज जिले में दिल दहला देने वाली घटना हुई है। यहां पिता ने दो बेटियों को शर्बत में जहर देकर खुद भी पी लिया है, जिससे तीनों की मौत हो गयी है। घटना सोमवार की है, दोपहर में पिता ने नींबू का शर्बत बनाया और उसमें केमिकल मिलकर अपनी दो बेटियों को पिला दिया और खुद भी भी लिया। गले में दर्द होने से बेटियां जब चीखने लगी तो मां दौड़कर कमरे से बाहर आई और सभी को अचेत देखकर मदद के लिय गुहार लगाने लगी। परिजन व पड़ोसी जुटे तो सभी इलाज के लिये अस्पताल ले जाया गया। अस्पताल में चिकित्सकों ने तीनों को मृत घोषित कर दिया। तीन लोगों की मौत की सूचना पाकर प्रशासनिक अमले में भी हड़कंप मचा तो गांव में अधिकारियों का भी जमघट लग गया। पूछताछ में पता चला कि घरेलू कलह की वजह से युवक ने यह आत्मघाती कदम उठाया था।

क्या है पूरा मामला
प्रयागराज जिले के घूरपुर थाना अन्तर्गत कंजासा गांव है। यहां का रहने वाला शोभनाथ निषाद 45 दूसरे प्रदेश में रहकर एक केमिकल फैक्ट्री में काम करता था। 20 दिन पहले ही वह काम छोड़कर वापस घर आ गया और अब यहीं बालू खनन में मजदूरी करने लगा था। पुलिस के अनुसार सोमवार को दिन के दूसरे पहर में करीब सवा 1 बजे शोभनाथ ने नीबू का शरबत बनाया और उसमे केमिकल मिला दिया। उसने केमिकल मिला शरबत अपनी बेटी कनिष्का (16) और साक्षी (8) को पीने के लिये दिया और खुद पी लिया। अगले कुछ मिनट में ही बेटियां गले में तेज जलन से चीखने लगी तो दूसरे कमरे में डेढ साल के बेटे शेषनाग के साथ सो रही मां सावित्री दौड़ कर कमरे से बाहर आयी।

तड़प तड़प कर चली गयी जान
दोनों बेटियों और पति को तड़पता देख सावित्री ने गुहार मचाई तो मदद के लिये परिवार के लोग व पड़ोसी दौड़े। तत्काल सभी को अस्पताल ले जाया गया। लेकिन अस्पताल पहुंचने से पहले ही सभी की मौत हो चुकी थी। अस्पताल में डाक्टरों ने सभी को मृत घोषित कर दिया। घटना की सूचना पर पुलिस पहुंची तो घटना स्थल पर मौजूद पॉलीथिन में रखा कीटनाशक पदार्थ, केन, गिलास कब्जे में ले लिया और अब उसे फोरेंसिक जांच के लिये विधि विज्ञान प्रयोगशाला भेजा गया है।

घरेलू कलह बनी बजह
पुलिस के अनुसार शोभनाथ इस समय घरेलू कलह से जूझ रहा था। जमीन व घर को लेकर भाईयों से विवाद चल रहा थां जबकि आर्थिक तंगी के लेकर पति पत्नी में रोज झगड़ा होता था। रोज रोज के झगड़े से आजिज शोभनाथ ने यह आत्मघाती कदम उठाया। आश्चर्य की बात है कि जिस केमिकल को आत्महत्या के लिये प्रयोग किया गया,उसे लगभग 20 दिन पहले जयपुर से लेकर शोभनाथ आया था। ऐसे में सवाल उठ रहा था कि क्या शोभनाथ ने पहले से ही आत्महत्या का प्लान लिया था। मामले में एसपी यमुनापार दीपेंद्र नाथ ने बताया कि पूछताछ में अभी तक घरेलू कलह के कारण ही आत्महत्या करने की बात सामने आयी है।

Written by Amarish Shukla

jcb owner dead body founded at road side rampur karkhana baleshwar deoria

सड़क किनारे मिला जेसीबी मालिक का शव

supreme court ordered to yogi government for release journalist prashant kanaujiya

पत्रकार को गिरफ्तार करने की जल्दबाजी के लिए योगी सरकार को सुप्रीम फटकार