in

डीएम को राजकीय गृहों, संगठनों, शरणालयों के औचक निरीक्षण की आख्याएं प्रस्तुत की गई

Surprising inspections reports of state houses, organizations, camps were presented to DM
Surprising inspections reports of state houses, organizations, camps were presented to DM
लखनऊ। शुक्रवार को डीएम कौशल राज शर्मा को राजकीय गृहों, संगठनों, शरणालयों के औचक निरीक्षण की आख्याएं प्रस्तुत की गई। Surprising inspections reports of state houses, organizations, camps were presented to DM
डीएम लखनऊ के निर्देशानुसार जनपद लखनऊ में स्थित महिला कल्याण विभाग द्वारा संचालित विभिन्न राजकीय गृहो /संगठनों/शरणालयो का औचक निरीक्षण कराना सुनिश्चित किया गया था।
जिसके लिए जिलाधिकारी महोदय के स्तर से समस्त अपर नगर मजिस्ट्रेटों को निरीक्षण करने के आदेश दिये गये थें। तत्क्रम में निम्नानुसार अधिकारियों के द्वारा अपनी निरीक्षण आख्याएं उपलब्ध कर दी गई है। जो निम्नवत है-ः
Surprising inspections reports of state houses, organizations, camps were presented to DM
Surprising inspections reports of state houses, organizations, camps were presented to DM
1) अपर नगर मजिस्ट्रेट-प्रथम :- 
क) अपर नगर मजिस्ट्रेट-प्रथम द्वारा संस्था राजकीय महिला शरणालय, प्राग नारायण रोड, लखनऊ का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के समय संस्था में 71 संवासिनियाॅ पायी गयी। संस्था में एक नर्स का पद रिक्त है। संस्था में अत्यधिक संवासिनियों के दृष्टिगत अतिरिक्त 06 महिला चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों को तैनात किये जाने की आवश्यकता है। संस्था में महिला काउन्सलर की तैनाती नही है।
परिसर व कमरों में पर्याप्त साफ सफाई पाई गई। संवासिनियो द्वारा बताया गया कि खाना मेनू के अनुसार दिया जाता है। निरीक्षण में की गुणवत्ता संतोषजनक पाई गई। संस्था में एक 84 वर्ष की वृद्व मानसिक विक्षिप्त महिला निरूद्व है, जिसके स्थानान्तरण की कार्यवाही सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए गए।
ख) अपर नगर मजिस्ट्रेट-प्रथम द्वारा संस्था राजकीय बाल गृह(शिशु), प्राग नारायण रोड, लखनऊ का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के समय संस्था में कुल 33 बच्चे आवासित पाये गये। यह संस्था 06 से 10 वर्ष के बच्चों के लिए संचालित है। बच्चों को खेलने के लिए कैरम, लूडो, साइकिल, फुटबाल, उपलब्ध है। निरीक्षण में सभी कमरों में पर्याप्त साफ सफाई पाई गईं। बच्चों से पूछने पर बच्चों द्वारा अवगत कराया गया कि खाना मेनू के अनुसार दिया जाता है। निरीक्षण में खाने की गुण्डवत्ता संतोषजनक पाई गई।
ग) अपर नगर मजिस्ट्रेट-प्रथम द्वारा संस्था राजकीय बाल गृह(शिशु), प्राग नारायण रोड, लखनऊ दत्तक ग्रहण इकाई का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के समय संस्था में कुल 56 बच्चे आवासित पाये गये। यह संस्था 0 से 06 वर्ष के बच्चों के लिए संचालित है। बच्चों को खेलने के लिए कैरम, लूडो, फुटबाल, उपलब्ध है।
संस्था में 04 से 06 वर्ष के बच्चों के लिए शिक्षा की व्यवस्था है जो विभागीय शिक्षक द्वारा दी जा रही है। वरदान इण्टर नेशनल स्कूल में बच्चे पढने जाते है। निरीक्षण में खाद्य सामग्री गुणवत्तापूर्ण पाई गई। निरीक्षण में कमरों में साफ सफाई संतोषजनक पाई गई और परिसर में साफ सफाई की व्यवस्था सही कराने के निर्देश दिए गए।
2) अपर नगर मजिस्ट्रेट-द्वितीय :- 
क) अपर नगर मजिस्ट्रेट-द्वितीय द्वारा स्वैच्छिक संस्था समाज सेवा संस्थान, सराॅय माली खाॅ,चैक,लखनऊ का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के समय संस्था में कुल 28 बच्चे आवासित पाये गये,जिसमें से 06 बच्चें 0-05 वर्ष आयु के थे।कमरों मेें वेंटीलेशन की पर्याप्त व्यवस्था नही थी जिसको सही कराने के निर्देश दिए।
बच्चों को मनोरंजन हेतु प्रत्येक शनिवार को पिकनिक पर ले जाया जाता हैं। सभी कमरों में पर्याप्त साफ सफाई पाई गई। परिसर की सुरक्षा व्यवस्था के लिए गार्ड की व्यवस्था पाई गई। निरीक्षण में  खाद्य सामग्री गुणवत्तापूर्ण पाई गई।
3) अपर नगर मजिस्ट्रेट-तृतीय :- 
क) अपर नगर मजिस्ट्रेट-तृतीय द्वारा स्वैच्छिक संस्था स्नेहालय होली क्रास वेलफेयर ट्रस्ट,कैन्ट रोड, लखनऊ का निरीक्षण किया गया। उक्त संस्था 10-18 वर्ष की आयु की बालिकाओं के लिये मान्यता प्राप्त हैं। निरीक्षण के समय संस्था में कुल 13 संवासिनियाॅ आवासित पायी गया, जिसमें से 02 बालिकायें 10 वर्ष से कम आयु की हैं। संस्था की सुरक्षा के लिए सी0सी0टी0वी0 कैमरे और गार्ड की व्यवस्था पाई गई।
किचन,बाथरूम व सोने के कमरों में पर्याप्त साफ-सफाई पाई गई। संस्था में बान सुझाव पेटी, मेन्यू, बाल समिति कार्यवृत्त रजिस्टर व मेन्यू कार्ड बनाया गया हैं,जो अच्छी स्थिति मेें हैं। जो सभी 18 वर्ष से ऊपर के है। संस्था में तीन कमरें बच्चों के रहने हेतु, 01 कक्ष क्रियाकलाप हेतु, 01 शिक्षण कक्ष व 01 भोजन कक्ष स्थापित हैं। संस्था में  संवासियों को व्यावहारिक, शैक्षिक संगीत, आर्ट आदि की शिक्षा दी जाती हैं। बालिकाओं द्वारा अवगत कराया गया कि खाना मेनू के अनुसार दिया जाता है। निरीक्षण में खाने की गुणवत्ता संतोषजनक पाई गई।
4) अपर नगर मजिस्ट्रेट-चतुर्थ :-
क) अपर नगर मजिस्ट्रेट-चतुर्थ द्वारा स्वैच्छिक संस्था केयर एजूकेशनल ट्रस्ट,इन्दिरानगर,लखनऊ द्वारा संचालित डे केयर सेन्टर का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के समय संस्था में कुल 50 बच्चे पाये गये। संस्था में बच्चों के लिये शिक्षण कक्ष स्थापित हैं,जिसमें प्रातः 7ः30 से 11ः00 बजे तक सामान्य शिक्षा दी जाती हैं। बच्चों के देखभाल योजना सहित व्यक्तिगत देखभाल नही बनी हैं जिसको व्यवस्थित कराने के निर्देश दिए। संस्थान में पर्याप्त साफ सफाई पाई गई।
ख) अपर नगर मजिस्ट्रेट-चतुर्थ द्वारा स्वैच्छिक संस्था निर्वाण मानसिक होम(बालक), खरगापुर, लखनऊ का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के समय संस्था में कुल 19 बच्चे आवासित पाये गये। जो सभी 18 वर्ष से ऊपर के है। संस्था में तीन कमरें बच्चों के रहने हेतु, 01 कक्ष क्रियाकलाप हेतु, 01 शिक्षण कक्ष व 01 भोजन कक्ष स्थापित हैं।
संस्था में  संवासियों को व्यावहारिक, शैक्षिक संगीत, आर्ट आदि की शिक्षा दी जाती हैं। सभी कमरों व परिसर में पर्याप्त साफ सफाई पाई गई। संस्थान में भोजन मेनू के अनुसार प्रदान किया जाता है। निरीक्षण में खाद्य सामग्री की गुणवत्ता संतोषजनक पाई गई। संस्थान की सुरक्षा के लिए गार्ड की पर्याप्त व्यवस्था है।

Surprising inspections reports of state houses, organizations, camps were presented to DM

 डीएम कौशल राज शर्मा द्वारा बताया गया कि अपर नगर मजिस्ट्रेट पंचम, षष्टम, सप्तम और नगर मजिस्ट्रेट की आख्याए अभी आना बाकी है जो कि आज शाम तक जमा करा दी जाएगी।
आख्याओं के अनुसार सभी प्रकार के गृहो में कोई गंभीर अव्यवस्था प्रकाश में नही आई। जो भी नाममात्र समस्याएं प्रकाश में आई है उसके लिए सभी संस्थानों को नोटिस भेजे जा रहे है कि वह 1 सप्ताह में कमियों को दूर कराए, अन्यथा उनके विरुद्ध कार्यवाही की जाएगी।
Nokia [CPS] IN

Written by National TV

priyanka attack on yogi government for serving salt and bread to children in Mirzapur

मिर्जापुर में बच्चों को नमक-रोटी परोसने को लेकर प्रियंका ने योगी सरकार पर बोला हमला

Akhilesh disbanded SP state executive, meet to Omprakash Rajbhar

अखिलेश ने भंग की सपा प्रदेश कार्यकारिणी, ओमप्रकाश राजभर से मुलाकात के बाद अटकले तेज