in

सुप्रीम कोर्ट ने उत्तराखंड हाईकोर्ट के इस फैसले पर रोक लगाई, सभी हुए हैरान

नई दिल्ली : देश अभी फतवों की राजनीति से उबरा ही था कि सुप्रीम कोर्ट ने फिर से इस विवाद को हवा दे दी हैं. जानकारी के अनुसार सुप्रीम कोर्ट ने हाईकोर्ट के उस फैसले पर फिलाल रोक लगा दी हैं जिसमे कहा गया था कि फतवा असवैधानिक प्रक्रिया हैं और इस तरह की प्रक्रिया को मान्यता नहीं दी जा सकती.

यह भी पढ़े : दिल्ली : इस गेम की लत के कारण युवक ने की अपने परिवार की हत्या,

सुप्रीम कोर्ट का फतवा पर फैसला

जानकारी के लिए बता दे कि हाईकोर्ट ने धार्मिक संस्थाओं, संगठनों, पंचायतों, स्थानीय पंचायतों और जन समूहों की ओर से फतवा जारी करने पर प्रतिबंध लगाया था. कोर्ट ने फतवे को गैर संवैधानिक करार देते हुए इसे व्यक्ति के मौलिक अधिकारों के खिलाफ करार दिया था.  सुप्रीम कोर्ट ने हाईकोर्ट के इस फैसले पर फिलहाल रोक लगा दी है, वहीं, याचिकाकर्ताओं को नोटिस जारी कर जवाब मांगा.

हाईकोर्ट ने इस विवाद पर दिया था अपना फैसला

दरअसल कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश राजीव शर्मा और न्यायमूर्ति शरद कुमार शर्मा की पीठ ने यह प्रतिबंध हरिद्वार के एक गांव में नाबालिग से रेप के बाद जारी हुए फतवे के बाद लगाया था.  नाबालिग युवती से दुष्कर्म के बाद गर्भवती होने और दबंगों के खिलाफ मुंह खोलने पर पंचायत ने पीड़िता को गांव से बाहर करने का फतवा जारी किया था. कोर्ट ने पंचायत के फतवे जारी करने को गंभीर माना और कहा कि पीड़िता के साथ सहानुभूति व्यक्त करने के बजाय परिवार को गांव से बाहर का रास्ता दिखाया जा रहा है.

 

इस खबर को पढने के बाद आपकी क्या राय हैं? क्या फतवों को बंद कर देना चाहिए? हमे अपनी राय कमेंट में जरुर बताये और साथ ही अन्य जानकारियों व खबरों से अपडेट रहने के लिए National TV को फोलो करे. इस खबर को शेयर भी करे.

Comments

Leave a Reply

Loading…

0

Comments

0 comments

दिल्ली : इस गेम की लत के कारण युवक ने की अपने परिवार की हत्या,

#MeToo के समर्थन में उतरे अक्षय, हाउस फुल 4 की सूटिंग रुकवाई