in

प्रयागराज : भाजपा के पूर्व विधायक की बहू ने लगाई फांसी, दहेज उत्पीड़न का आरोप

इलाहाबाद / प्रयागराज : भारतीय जनता पार्टी के कद्दावर नेता रहे पूर्व विधायक रंग बहादुर पटेल की बहू प्रियंका पटेल अपने घर के अंदर फांसी लगा ली है। विवाहिता की मौत का कारण दहेज उत्पीड़न बताया जा रहा है। घटना की सूचना पुलिस को मिलते ही जिले के आला अफसर फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गये और जांच पड़ताल शुरू की गयी। वहीं, घटा के बाद से परिजनों का रो रो कर हाल बेहाल है। मौके पर पहुंची पुलिस ने फोरेंसिक टीम की मदद से कुछ साक्ष्य एकत्रित किये हैं। इस मामले में मृतका प्रियंका के पिता व भाई ने दहेज उत्पीड़न को लेकर थाने में शिकायत की है । विधायक फैमली पर पुलिस ने शिकंजा कसते हुये पति को हिरासत में ले लिया है।
1 साल पहले हुई थी शादी
सोरांव के पूर्व विधायक स्वर्गीय रंग बहादुर पटेल का परिवार शहर के तेलियरंगज इलाके में रहता है। विधायक पुत्र अनुराग पटेल अभी पढ़ाई कर रहा है। मौजूदा समय में वह लखनऊ के एक कॉलेज से बी फार्मा की पढ़ाई कर रहा है। कुछ दिनों पहले वह अपने घर तेलियरगंज आ गया था और इस समय अपनी पत्नी के साथ रह रहा था। अनुराग की शादी को भी अभी बामुश्किल एक साल ही हुये थे। अनुराग की शादी पिछले साल 5 मई 2018 को टैगोर टाउन निवासी 24 वर्ष की प्रियंका पटेल की शादी हुई थी । अब प्रियंका की फांसी के फंदे पर झूलती हुई लाश मिली है।
सुबह उठे तो मिली लाश
पुलिस के अनुसार पूछताछ के दौरान प्रियंका के पिता व भाई ने आरोप लगाया है कि प्रियंका को दहेज के लिये लगातार परेशान किया जा रहा था। उसने कयी बार इसकी शिकायत भी की थी। लेकिन माइका पक्ष के लोग बेटी को समझा बुझाकर शांत रखते और वक्त के साथ सब ठीक हो जाने की वकालत करते रहै। लेकिन अब प्रियंका की मौत के बाद परिजनों का रो रोकर हाल बेहाल है और वह विधायक परिवार पर कार्रवाई की मांग कर रहे है। परिजनों का आरोप है कि दहेज की मांग पूरी न होने पर उनकी बेटी को मार डाला गया और फांसी के फंदे पर लटका दिया गया है।
पोस्टमार्ट के लिये भेजी गयी लाश
पुलिस ने घटना स्थल पर मौका मुआइना करने के बाद शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया है। जबकि पति अनुराग को भी हिरासत में ले लिया गया है। पुलिस के अनुसार पूछताछ में अनुराग ने बताया कि मंगलवार रात वह दोनों आगे वाले कमरे में सो रहे थे। प्रियंका कब पीछे वाले कमरे में चली गई, उसके बारे में उसे कुछ नहीं है। सुबह करीब 10:00 बजे वह जब जगा तो प्रियंका पीछे वाले कमरे में फांसी के फंदे पर लटकी मिली। अनुराग ने बताया कि उसने सबसे पहले अपने ससुर को सूचना दी और फिर पुलिस को फोन किया। मामले में पुलिस कप्तान अतुल शर्मा ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत कैसे हुई इसकी पुष्टि हो सकेगी। तहरीर के आधार पर कार्रवाई की जायेगी। फिलहाल पुलिस जांच पड़ताल कर रही है ।
Nokia [CPS] IN

Written by Amarish Shukla

इलाहाबाद स्टेट यूनिवर्सिटी की कुलपति बनी प्रो. संगीता श्रीवास्तव, जानिये इनके बारे में

इस शहर में डम्फर की टक्कर से साइकिल सवार की मौत के बाद पुलिस वालों की तोड़ी गयी गाडियां