in

फूलपुर लोकसभा: केशरी देवी ने रोड शो में सभी नाराज गुटों से की जुगलबंदी, अपने साथ जीप पर बैठाकर दूर की खटास

प्रयागराज जिले में फूलपुर से केशरी देवी को टिकट दिये जाने के बाद नाराज गुटों में अंतर कलह शुरू हो गयी । सोशल मीडिया पर तो केशरी की हार तय का स्लोगन वायरल हो गया था। हालांकि केशरी के रोड शो के बाद सभी गुटों का समर्थन साथ नजर आया तो सोशल मीडिया भी केशरी के समर्थन में गुलजार हो गया।

प्रयागराज / इलाहाबाद : टिकट की दावेदारी में लगे भाजपा के कयी कद्दावर नेताओ व उनके संबंधियों का टिकट कटने के बाद गुटबाजी और नाराजगी से मुश्किल झेल रही केशरी देवी ने रोड शो के जरिये सियासी गोट सेट कर दी है। अपने साथ जीप पर सभी नाराज गुटों को खडा कर केशरी ने ना सिर्फ रिश्तों में आयी खटास दूर की, बल्कि  यह भी साबित किया कि वह एक मंझी हुई राजनैतिक खिलाडी है। गौरतलब है कि दो कैबिनेट मंत्री का गुट फूलपुर के टिकट के लिये सीधे दावेदारी कर रहा था। जबकि प्रयागराज के दो बडे राजनैतिक घराने करवरिया व बाजपेयी परिवार भी टिकट की जुगत में था। जबकि एक दर्जन स्थानीय नेताओं ने जोर शोर से दावेदारी कर दिल्ली में कयी दिनों तक पार्टी मुख्यालय की परिक्रमा की थी। लेकिन केशव गुट से होने का फायदा केशरी देवी को मिला था।
नाराज थे दावेदार
प्रयागराज जिले में फूलपुर से केशरी देवी को टिकट दिये जाने के बाद नाराज गुटों में अंतर कलह शुरू हो गयी । सोशल मीडिया पर तो केशरी की हार तय का स्लोगन वायरल हो गया था। हालांकि केशरी के रोड शो के बाद सभी गुटों का समर्थन साथ नजर आया तो सोशल मीडिया भी केशरी के समर्थन में गुलजार हो गया। फिलहाल नामांकन से पहले केशरी की पूरी ताकत में लौटना भाजपा के लिये अच्छा संकेत है और भाजपा की फूलपुर में कमल खिलाने की संभावना अब तेज हो गयी है। फिलहाल दूसरे दलों से आये सभी नेताओं को प्रचार प्रसार टीम में प्रमुखता से जगह दी गयी है ताकि उनके चेहरे पर भी कुछ वोटों की संख्या बढाई जा सके। अंदर खाने से खबर यह भी है कि पार्टी ने भी दूसरे दलों से आने वाले नेताओं को अपनी ताकत दिखाकर कद और पद बढाने का आफर दिया है। हालांकि यह सामान्य बात है और इस तरह की सियासी चालें हर चुनाव में नजर आती हैं ।
सबसे टाप पर बीजेपी
फूलपुर में सपा—बसपा गठबंधन का प्रत्याशी गुरूवार को घोषित होना था। स्थानीय जिला कमेटी कार्यालय पर सुबह से ही भीड भी जुटी रही। लखनउ में रूके नेताओं से समर्थक माहौल की जानकारी लेते रहे। लेकिन टिकट की घोषणा देर रात तक नहीं की जा सकी। जिससे गठबंधन कार्यकर्ताओं में मायूसी है । वहीं इसका पूरा फायदा बीजेपी को मिल रहा है। माहौल बनाने से लेकर जनता के बीच पहुंचने का क्रम बीजेपी ने पूरे जोर शोर से शुरू कर दिया है और अभी तक हर मामले में सभी दलों पर बढत बनाये हुये है। भाजपा के सभी गुटों के एक्टिव मोड में आ जाने से केशरी का चुनाव अब दिलचस्प होगा और जितनी देर सपा यहां से अपना प्रत्याशी घोषित करने में लगा रही है, उसका उतना ही नुकसान होता हुआ नजर आ रहा है।
कुर्मी पटेल ध्रुवीकरण में जुटी भाजपा
फूलपुर के 3 लाख कुर्मी मतदाताओं के ध्रुवीकरण पर भाजपा ने पूरा फोकस किया हुआ है और अपने सभी बैकवर्ड बिरादरी के खास कर कुर्मी नेताओं को चुनावी प्रचार प्रसार करने केलिए मैदान में उतार दिया गया है। जिसमें संगठन के पदाधिकारी समेत विधायक, व उनके परिवार के लोग भी शामिल है।
हालांकि इसके पीछे का सबसे बडा कारण भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह का अचानक से यूपी की कुछ सीटों को लेकर चिंता और वहां रणनीति बदलने के संकेत के बाद किया गया है। माना जा रहा है कि प्रयागराज टीम को भी फूलपुर को हर हाल में जीतने के लिऐ कहा गया है और उसके लिऐ ही सभी गुटों को एक करने के साथ चुनावी प्रचार शुरू हुआ है। फिलहाल फूलपुर सीट पर केशव प्रसाद मौर्य ने खाता खोला था और उनके गुटे से ही केशरी देवी को टिकट मिला है। ऐसे में केशरी की मजबूती के लिये केशव ने भी अंदरखाने में साफ लहजे में जीत से ही संतोष का फार्मूला सेट किया है।

Written by Amarish Shukla

lok sabha election soniya gandhi nomination raibarieal with rahul priyanka

प्रधानमंत्री मोदी अजेय नहीं हम उन्हें हरायेंगे, नामांकन के बाद सोनिया गांधी ने दी चुनौती

प्रयागराज . हाईकोर्ट का बडा आदेश, आचार संहिता लागू होने के बाद भी होगी शिक्षकों की ज्वाइनिंग