in

बसपा के कद्दावर नेता व विधायक रहे कलेक्टर पांडे भाजपा में शाामिल, गठबंधन को झटका

प्रयागराज / इलाहाबाद : कांग्रेस द्वारा योगेश शुक्ला के रूप में भाजपा को यमुनापार इलाके में बडा झटका दिये जाने के बाद भाजपा ने भी डैमेज कंट्रोल शुरू कर दिया है। भाजपा ने भी यमुनापार के कद्दावर नेता और विधायक रहे कलेक्टर पांडे व पूर्व पीएम चंद्रशेखर के सहयोगी रहे वरिष्ठ नेता मुकेश जायसवाल को तोडकर अपनी टीम में शामिल कर लिया है। कलेक्टर पांडे भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की उपस्थिति में भाजपा में शामिल हुये। अमित शाह ने कमल पट्टी के साथ पांडे व मुकेश जायसवाल का स्वागत किया और भाजपा की जीत के लिये स्तंभ बनने के लिय जी जान से चुनाव में जुटने को कहा।
फिलहाल सपा बसपा गठबंधन को चुनाव से पहले यह बडा झटका काफी नुकसानदेह होगा और अभी तक यमुनापार इलाके में बढत बना रहे गठबंधन को फिर से अपनी रणनीति सेट करनी पडेगी।
कौन हैं कलेक्टर पाण्डेय
प्रयागराज के यमुनापर इलाके में बसपा की रीढ की हड्डी कहे जाने वाले कलेक्टर पांडे जमीनी नेता माने जाते हैं। ब्राहम्ण वोटों के साथ पिछडे व दलितों के साथ इनकी जुगलबंदी से कयी बार माहौल बदला है। 2007 में यह बसपा के टिकट पर विधायक चुने गये, लेकिन पिछला चुनाव वह सपा के गामा पांडे से बेहद ही मामूली अंतर से हार गये थे। घर घर पहुंच बनाने वाले कलेक्टर पांडे के पास न सिर्फ जन समर्थन है, बल्कि अपनी छवि पर वोट खींचने की क्षमता भी है। अब कलेक्टर पांडे के सहारे भाजपा योगेश शुक्ल के तौर पर हुये नुकसान की भरपाई करेगी।
दोबारा आये भाजपा में
2017 में विधानसभा चुनाव के दौरान बीजेपी से टिकट की चाहत में कलेक्टर पांडे ने बसपा छोड दी थी और केशव मौर्य की अगुवई में भाजपा ज्वाइन कर ली थी। तब कलेक्टर पांडे मेजा से टिकट की दावेदारी कर रहे थे। लेकिन मेजा से जब नीलम करवरिया को प्रत्याशी घोषित कर दिया गया तो 17 दिन बार ही कलेक्टर पांडे ने भाजपा छोड दी थी। लेकिन एक बार फिर से चुनाव से पहले कलेक्टर पांडे की वापसी भाजपा में हुई हैं । ऐसे में भाजपा को जहां ताकत मिलेगी वहीं इस चुनाव में अपनी उपस्थिति दर्ज कराकर कलेक्टर पांडे आगमी चुनाव में अपनी दावेदारी भी करेगे।
Nokia [CPS] IN

Written by Amarish Shukla

गठबंधन प्रत्याशी इंद्रजीत का फिर विवादित बयान बोले, गुंडे सिर्फ क्षत्रिय जाति के लोग

lok sabha election pm modi in vijay sankalp rally muzaffarpur bihar

पीएम मोदी का विपक्ष पर हमला -वे केंद्र में मजबूत सरकार नहीं चाहते, जो जेल में , जेल के दरवाजे पर, बेल पर हैं