in , ,

ख़तने के ज्वलंत मुद्दे पर दिल को झकझोरती फिल्म ‘शिनाख्त’

on female genital mutation film shinakht poster launched by director pragyesh singh actor shishir sharma writter pranav vikram singh
on female genital mutation film shinakht poster launched by director pragyesh singh actor shishir sharma writter pranav vikram singh
लखनऊफिल्म शिनाख्त का पोस्टर लांच गोमती नगर के एक होटल सुरा वे में हुआ। इस अवसर पर फिल्म के निर्देशक प्रज्ञेश सिंह, एक्टर शिशिर शर्मा, लेखक प्रणव विक्रम सिंह और  टीम के अन्य लोग मौजूद रहे। on female genital mutation film shinakht poster launched by director pragyesh singh actor shishir sharma writter pranav vikram singh
एक दौर था, जब फिल्मों को ही अच्छा नही माना जाता था। फिल्मों के सार्थक सन्देश ने जहाँ फिल्मों की स्वीकार्यता बढाई, वही फिल्मों के व्यावसायिक युग की शुरुआत भी हुई। इस बदलाव ने अच्छे सन्देश या बौद्धिकता के स्तर पर फिल्मों को मौका दिया। ऐसी ही एक हालिया फिल्म है शिनाख्त जो खतना की समस्या को बेबाकी से उजागर करती है।
ऐसे ही विषय पर बनी फिल्म शिनाख्त का पोस्टर लांच गोमती नगर के एक होटल सुरा वे में रविवार को हुआ। इस अवसर पर फिल्म के निर्देशक प्रज्ञेश सिंह, एक्टर शिशिर शर्मा, लेखक प्रणव विक्रम सिंह और  टीम के अन्य लोग मौजूद रहे।
on female genital mutation film shinakht poster launched by director pragyesh singh actor shishir sharma writter pranav vikram singh
on female genital mutation film shinakht poster launched by director pragyesh singh actor shishir sharma writter pranav vikram singh
कंपनी सेक्रटरी से फिल्मकार बने लखनऊ के प्रज्ञेश सिंह का ध्यान हमेशा सामाजिक समस्यायों और कुरूतियो पर रहता है। विगत के वर्षो में छोटी सी गुजारिश जैसी 28 मिनट की फिल्म बनाकर चर्चा में रह चुके प्रज्ञेश सिंह ने हाल में खतना जैसी कुप्रथा पर एक फिल्म का निर्माण व् निर्देशन किया है। प्रज्ञेश को सामाजिक मुद्दों पर फिल्म निर्माण करना व्यावसायिक स्तर पर भले ही फायदे का सौदा न हो, परन्तु उनकी फिल्म को अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर हमेशा सराहना मिली है। खतने पर आधारित 40 मिनट की अवधि की फिल्म शिनाख्त को अब तक 24 अंतर्राष्ट्रीय फिल्म उत्सव में प्रदर्शित किया जा चूका है। जिसमेंं से शिनाख्त अभी तक 10 से अधिक पुरस्कार अपने नाम कर चुकी है।
अमेठी में जन्मे प्रज्ञेश सिंह को 2018 में कला संस्कृति क्षेत्र में लोकमत सम्मान से सम्मानित किया गया था तो 2019 में उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाइक के हाथो रंग भारती सम्मान से अलंकृत किया गया।
प्रज्ञेश ने बताया की कम बजट के चलते टीम ने कठिन महेनत की और 40 मिनट की अवधि की फिल्म शिनाख्त का शूट रिकॉर्ड दो दिन से पूरा किया गया। फिल्म में राजू खेर, शिशिर शर्मा, शक्ति सिंह, नवनी परिहार, आरफी लाम्बा, स्टेफी पटेल, मेजर बिक्रमजीत कंवरपाल और कृष्णा भट्ट जैसे नामचीन कलाकारों ने काम किया है।

on female genital mutation film shinakht poster launched by director pragyesh singh actor shishir sharma writter pranav vikram singh

फिल्मिस्तान जैसी राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार फिल्म में काम कर चुके सुभ्रांशु दास ने फिल्म का कैमरा संभाला है। तो धार्मिक कट्टरवाद की अवधारणा को तोड़ते हुए सज्जाद अली चंदवानी ने फिल्म में संगीत दिया है। फिल्म की एडिटिंग हिमांशु रस्तोगी ने की है। प्रज्ञेश सिंह और प्रणय विक्रम सिंह के सह लेखन के डायलाग फिल्म के विषय को अद्भुत रोचकता प्रदान करते है।
on female genital mutation film shinakht poster launched by director pragyesh singh actor shishir sharma writter pranav vikram singh


Nokia [CPS] IN

on female genital mutation film shinakht poster launched by director pragyesh singh actor shishir sharma writter pranav vikram singh

प्रज्ञेश सिंह ने बात करने के दौरान बताया की धार्मिक पहलू से जुड़े संवेदनशील विषयों पर फिल्म बनना एक जोखिम भरा कदम था, परन्तु इमानदारी से अपनी बात कहने की लगन और टीम के सहयोग से सब आसान होता चला गया। प्रज्ञेश सिंह ने बताया कि फिल्म को भारतीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड से यू श्रेणी में प्रमाणन मिलना मनोबल को बढाने वाला था। यह इस बात को दर्शाता है की हम एक साफ़ सुथरी फिल्म बना रहे है।
खतना नाम कि यह प्रथा अत्यंत क्रूर और अमानवीय ही नहीं वरन उस समाज और देश के कानून और संविधान की भी खिल्ली उड़ाता नजर आता है। बतादें कि महिलाएं और पुरूषों दोनों में खतना किया जाता है।
तेजी से आगे बढ़ती अर्थव्यवस्था और देश की बदलती तस्वीर में जहाँ भारत को विश्व की अर्थ व्यवस्था में अग्रणी होने का खवाब देख रही है। भारत में महिलाओं का खतना बोहरा मुस्लिम समुदाय में प्रचलित है, जिनकी आबादी दस लाख से थोड़ी ही अधिक है। पश्चिमी भारत और पाकिस्तान के कुछ हिस्सों में स्त्रियों का खतना करने का रिवाज आज भी जारी है।

Nokia [CPS] IN
Nokia [CPS] IN

Written by National TV

Mayor sanyukta Bhatia choreographer Ankur Rana felicitated the winners of the nytri icon dance championship

नयत्री आइकॉन डांस चैंपियनशिप के विजेताओ को मेयर संयुक्ता भाटिया और कोरियोग्राफर अंकुर राना ने पुरस्कर्त किया

vk pandey said mahant narendra giri maharaj will be the president of big kali temple lko

बड़ी काली मंदिर विवाद; क्षमा ही सबसे बड़ा दण्ड : बाबा ओम भारती