in ,

प्रतियोगी छात्रा से रेप के मामले में पूर्व विधायक संजय के खिलाफ जारी हुआ गैर जमानतीय वारंट

इलाहाबाद / प्रयागराज : प्रतियोगी छात्रा से रेप के आरोप में फंसे पूर्व विधायक संजय जायसवाल के विरूद्ध प्रयागराज की सांसद विधायक स्पेशल कोर्ट ने सख्त रूख अख्तियार कर लिया है। स्पेशल कोर्ट ने पेशी पर हाजिर न होने पर संजय के विरूद्ध गैर जमानतीय वारंट जारी किया है और पुलिस को आदेश दिया है कि उन्हे गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश करे। मामला 2013 का है, जिसमें एक प्रतियोगी छ़ात्रा ने पूर्व विधायक के विरूद्ध रेप करने का आरोप लगाया था। यह मुकदमा अब प्रयागराज की स्पेशल कोर्ट में चल रहा है। जहां विधायक पिछली कयी सुनवाई पर हाजिर नहीं हुये तो कोर्ट ने उनके विरूद्ध गैर जमानतीय वारंट जारी किया है।
क्या है मामला
मुकदमे के अनुसार 9 सितंबर 2013 को पीड़ित प्रतियोगी छात्रा की मुलाकात विधायक संजय जायसवाल से हुई थी। उस समय छात्रा नौकरी की जद्दोजहद में तैयारी कर रही थी। संजय ने खुद को विधायक बताया और नौकरी दिलाने का आश्वासन दिया। धीरे धीरे छात्रा से विधायक ने नजदीकी बढाई और छात्रा को विश्वास में ले लिया। आरोप है कि विधायक अपने साथ छात्रा को दारुलशफा ले गए, जहां उसके साथ उन्होंने रेप किया और उसकी अश्लील फोटो आदि भी अपने मोबाइल में खींच लिये। पहले नौकरी के नाम पर विधायक छात्रा का शारीरिक शोष्ण करते रहे और बाद में बात बढने पर विधायक ने छात्रा से शादी का वादा किया और 11 अक्टूबर 2013 को वैवाहिक इकरारनामा हुआ। लेकिन, उसके बाद विधायक शादी से मुकर गया। छात्रा ने जब दबाव बनाया तो उसे पता चला कि विधायक की पहले से ही शादी हो चुकी है। इसी मामले में छात्रा ने लखनऊ जिले के हजरतगंज थाने में विधायक के विरूद्ध मुकदमा दर्ज कराया। एक पत्नी के रहते हुए दूसरा विवाह करने, रेप, धोखाधडी आदि की धाराअें में विधायक पर मुकदमा दर्ज है। जिसकी पत्रावली अब प्रयागराज स्पेशल कोर्ट में आयी हुई है।
गिरफ्तार कर पेश करने आदेश
प्रयागराज की स्पेशल कोर्ट में यह मामला आने के बाद इस पर सुनवाई शुरू हुई, लेकिन वारंट जारी होने के बाद भी विधायक हाजिर नहीं हुये। इस जिस कोर्ट ने सख्त रूख अपनाते हुये गैर जमानतीय वारंट जारी किया है और पुलिस को आदेश दिया है कि विधायक को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया जायें । गौरतलब है कि पूर्व विधायक संजय प्रताप जायसवाल पहले कांग्रेस में थे और रेप के मामले में फंसने के बाद जब उनका टिकट कटा तो वह बीजेपी में शामिल हो गये और मौजूदा समय में बीजेपी में ही मौजूद हैं। मामले की सुनवाई स्पेशल कोर्ट के जज पवन कुमार तिवारी कर रहे हैं।
Nokia [CPS] IN

Written by Amarish Shukla

cms student ashraf selection in 7 usa universities with scholarship

अमेरिका के 7 विश्वविद्यालयों में सीएमएस छात्र का स्काॅलरशिप के साथ चयन

हाईकोर्ट का बड़ा आदेश अब हस्ताक्षर व अगूंठे का निशान मैच न होने पर सीधे कार्रवाई व चयन से नहीं बाहर होंगे चयनित, सीआरपीएफ के 36 अभ्यर्थियों को राहत