in

बाहुबली अतीक के भाई पूर्व विधाायक अशरफ व पूजा पाल के खिलाफ गैरजमानतीय वारंट जारी

प्रयागराज / इलाहाबाद : प्रयागराज : बाहुबली नेता अतीक अहमद के छोटे भाई पूर्व विधायक खालिद अजीम उर्फ अशरफ के खिलाफ गैर जमानतीय वारंट जारी किया गया हैं। यह वारंट प्रयागराज की सांसद विधायक स्पेशल कोर्ट द्वारा आचार संहिता उल्लंघन के मामले में जारी हुआ है। हालांकि अशरफ खुद लंबे समय से फरार है और उसके विरूद्ध अब तक कयी गैर जमानतीय वारंट जारी होने के साथ कुर्की तक की कार्यवाही हो चुकी है। फिलहाल इस मामले को भी अतीक कुनबे पर कसते कानून के पंजे के तौर पर देखा जा रहा है। इस मामले में भी सुनवाई आगे बढने के साथ यह माना जा रहा है कि कोर्ट कुर्की की कार्रवाई करेगी और अशरफ की कानूनन संज्ञान वाही मौजूदा संपत्ति भी कुर्क कर दी जायेगी।
वहीं, आचार संहित के इसी मामले से जुडे मुकदमे में विधायक पूजा पाल के विरूद्ध भी वारंट जारी किया गया है और उन्हे कोर्ट में पेश होने को कहा गया है। इस मामले की अगली सुनवाई 11 जून को होगी और इस दिन दोनों आरोपितों को कोर्ट में हाजिर होना है।
क्या है मामला
स्पेशल कोर्ट में चल रहे मुकदमे के अनुसार पूजा पाल के पति राजू पाल की हत्या के बाद पूजा पाल चुनाव मैदान में उतर आयी थी और बसपा बास मायवती ने उन्हे अपना प्रत्याशी घोषित कर दिया था। चुनाव के दौरान रोक के बावजूद झंडे व बैनर लगाने पर 21 मई 2005 को प्रयागराज शहर पश्चिम से  तत्कालीन सपा प्रत्याशी अशरफ व तत्कालीन बसपा प्रत्याशी दोनों के विरूद्ध मुकदमा दर्ज किया गया था। रिटर्निंग अफसर ने तहरीर में लिखा था कि टेलीफोन बाक्स, सड़क तथा धर्मवीर की प्रतिमा पर रोक व सख्त निर्देश के बावजूद भी समाजवादी पार्टी तथा बसपा के झंडे बैनर इन दोनों प्रत्याशियों की ओर से लगाये गये थे। इस मामले में दोनों के विरूद्ध आचार संहिता उल्लंघन का मामला दर्ज किया गया था।
अलग की गयी है पत्रावली
अशरफ व पूजा पाल पर मुदकमे की जांच हुई और धूमरगंज पुलिस ने विवेचना के बाद आरोप पत्र एक साथ कोर्ट में पेश कर दिया। जिसके बाद दोनों ने अपनी जमानत भी करा ली। लेकिन राजू पाल की हत्या के मुख्य आरोपी अशरफ व कुनबे से दुश्मनी के चलते पूजा पाल ने 17 नवंबर 2011 को पत्रावली अलग-अलग करने की कोर्ट से अपील की और बताया कि कोर्ट में शांति व्यवस्था रहने के लिये यह आवश्यक है। जिसके बाद इस केस की पत्रावली अलग है। हालांकि अब 11 जून को फिर से एक साथ इस मामले की सुनवाई पर दोनों को हाजिर होना है।
Nokia [CPS] IN

Written by Amarish Shukla

लोकसभा चुनाव : इलाहाबाद से 23 और फूलपुर से 36 प्रत्याशी चुनावी मैदान, क्या है अभी तक का माहौल पढे

बहुबली अतीक के फूलपुर से चुनाव लडने की उम्मीदें खत्म, गुजरात जेल में ट्रांसफर