in

निजामुद्दीन जलसा : प्रयागराज के मऊआइमा की थाने वाली मस्जिद के 8 लोग भी शामिल

प्रयागराज सिटी । दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके के मरकज में धार्मिक जलसे में कौन कौन शामिल था, अब इसकी पहचान धीरे धीरे साफ होने लगी है। इस जलसे में प्रयागराज के भी 8 लोग शामिल हुये थे। यह सभी प्रयागराज के बार्डर वाले क्षेत्र मऊआइमा के रहने वाले हैं। यह मऊआइमा के थाने वाली मस्जिद की जमात में शामिल थे और जलसे का हिस्सा बने थे। फिलहाल इन सभी को दिल्ली में ही रोक लिया गया है। इसके अलावा पड़ोसी जिले प्रतापगढ़ के भी तीन लोग इस जलसे में शामिल हुये थे और दिल्ली में ही रोक लिये गये हैं। ​इसमें मांधाता ब्लाक स्थित रामपुर बंतरी और गदाईपुर गांव के रहने वाले युवक शामिल हैं। परिजनों के अनुसार यह कयी महीनों से घर के बाहर ही थे और उन्हें नहीं पता कि वह इस जलसे में कैसे पहुंचे।

पंजाब से पहुंचे दिल्ली 

Nokia [CPS] IN

पुलिस के अनुसार  मऊआइमा की थानेवाली मस्जिद से जो जमात गयी थी उसकी अगुवाई इस मस्जिद के मौलाना अब्दुल लतीफ कर रहे थे। उनके साथ चुनौटा कुआ का रहने वाला मोहम्मद मुसीब, सलीम, शाद, मेहराजुद्दीन, वसीम, अब्दुल कादिर, शमीम भी शामिल थे। यह सभी लोग चार महीने के लिए पंजाब गये थे। वहां जालंधर में जलसा आयोजित किया गया था। इसी कार्यक्रम का हिस्सा बनने के बाद उन्हें घर आना था। लेकिन, वह दिल्ली के निजामुद्दीन मरकब पहुंचग गये और अब उनके कोराना वायरस के शिकार होने की संभावना है। हालांकि अभी उनकी जांच रिपोर्ट आदि नहीं आई है।

घर में कोहराम 

मऊआइमा कस्बे के ही रहने वाले जमात के आठों लोगों की जानकारी जैसे ही उनके घरों में पहुंची कोहराम मच गया। हर कोई डर गया है और खौफजदा है। परिजनों का कहना है कि यह सब लोग निजामुद्दीन कब और कैसे आ गए,यह उन्हें नहीं पता । उन्हे तो बस इतना पता है कि ये सभी जलंधर गये थे। फिलहाल जांच के लिये सभी को रोक लिया गया है और अगर जांच में में स्वस्थ्य पाये जाते हैं, तो भी उन्हें वहीं पर कहीं कोरेंटाइन किया जायेगा। लाक डाउन खत्म होने के बाद ही वह घर आ सकेंगे और अगर इनका टेस्ट पॉजिटिव आया तो इनका इलाज होगा।

प्रतापगढ़ का कौन है 

Nokia [CPS] IN

पुलिस द्वारा प्राप्त जानकारी के नअुसार निजामुद्दीन में जलसे में शामिल होने के लिये प्रतापगढ़ के तीन लोग गये थे। जिसमें आरिफ, हाजी सलीम और फैजुल कमर चिल्ला शामिल हैं। इसमें रामपुर बंतरी के फैजुल तो दो महीने पहले मुंबई कमारे के लिये गया था, लेकिन वह भी इस जमात में शामिल हो गया। परिजनों का कहना है कि सभी 23 मार्च को ही घर आने वाले थे। लेकिन, ट्रेनें बंद होने के कारण वह वहीं पर फंस गये।

Nokia [CPS] IN

Written by Amarish Shukla

Central Academy Lucknow

गणतंत्र दिवस के मौके पर सेंट्रल अकादमी ने मनाया ग्रैंड पैरेंटस डे समारोह

पूरे देश को संकट में डालने वाला तबलीगी जमात आखिर है क्या ?