Main Menu

नासा को मिली बड़ी कामयाबी, 6 महीने की यात्रा कर इनसाइट स्पेसक्राफ्ट पहुंचा मंगल ग्रह

Share This Now

लखनऊ न्यूज़ डेस्क : अमेरिका के कैलिफोर्निया स्थित नासा की जेट प्रोपल्शन लैबोरेट्री में फ्लाइट कंट्रोलर तब खुशी से झूम उठे जब उन्हें “टचडाउन कंफर्म्ड!” यानी लैंडिंग सफल रही का संदेश मिला. उन्होंने घोषणा की कि इंसाइट लैंडर की लैंडिंग सोमवार को हुई. इस एयरक्राफ्ट के लिए वो छह मिनट बेहद भयावह रहे जब मंगल के आसमान से ये सुपरसोनिक रफ्तार में नीचे जा रहा था.

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा का मार्स इनसाइट लैंडर यान सफलतापूर्वक मंगल की सतह पर उतारा गया। भारतीय समयानुसार सोमवार- मंगलवार की रात करीब 1:24 बजे इसे मंगल पर लैंड कराया गया। इनसाइट लैंडर यान को मंगल की रहस्यमयी दुनिया के बारे में जानकारी के लिए बनाया गया.

यह भी पढ़े : ना भाजपा ना कांग्रेस सबसे बेहतर बसपा, राजस्थान चुनाव में विपक्षियों पर गरजी माया

ये अंतरिक्ष यान 48.2 करोड़ किलोमीटर की यात्रा छह महीने में पूरी करने के बाद सोमवार को लाल ग्रह पर उतरा. नासा के मुताबिक इंसाइट  नाम का ये यान एक पैराशूट और ब्रेकिंग इंजन की मदद से रफ्तार को धीमा किये जाने के बाद मंगल पर उतरा.

इसकी सुरक्षित लैंडिंग की जानकारी रेडियो सिगनल्स के जरिए आई. धरती से मंगल की 100 मिलियन मील (160 मिलियन किलोमीटर) के दूरी तय करके संदेश पहुंचाने में रेडियो सिगनल्स ने आठ मिनट का समय लियाा. इंसाइट के साथ मई के महीने में एक मिनि सेटेलाइट का जोड़ा भी भेजा गया था जिसने स्पेसक्राफ्ट के सुपरसोनिक रफ्तार से निचे जाने की जानकारी ठीक उसी समय पर दी, जब वो लाल आसमान से नीचे जा रहा था.

 कैसे काम करेगा 

नासा का यह यान सिस्मोमीटर की मदद से मंगल की आंतरिक परिस्थितियों का अध्ययन करेगा.इससे वैज्ञानिकों को यह समझने में मदद मिलेगी कि मंगल ग्रह पृथ्वी से इतना अलग क्यों है.



Leave a Reply