Main Menu

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस : SC ने नीतीश सरकार को लगाई फटकार, पूछा- क्या कर रहे आप?

Share This Now

लखनऊ न्यूज़ डेस्क : मुजफ्फरपुर बालिकागृह मामले में सुप्रीम कोर्ट ने बिहार सरकार को फिर कड़ी फटकार लगाते हुए कहा है कि राज्‍य में इतनी बच्चियों के साथ दुर्व्यवहार हुआ और सरकार कह रही है कि कुछ हुआ ही नहीं. ये बड़े शर्म की बात है.  कोर्ट ने कहा कि नीतीश सरकार सही एफआईआर फाइल करने में असफल रही. साथ कोर्ट ने सरकार को 24 घंटे की मोहलत दी कि आईपीसी की धारा 377 (रेप) और POCSO एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज करें.

सुप्रीम कोर्ट ने कहा, आप (बिहार सरकार) क्या कर रहे हैं? यह शर्मनाक है. अगर बच्चे के साथ कुकर्म हो रहा है और आप कहते है कि यह कुछ भी नहीं है? भला आप यह कैसे कर सकते हैं? यह अमानवीय है. हमें बताया गया कि मामला बड़ी गंभीरता से देखा जाएगा, यह गंभीरता है? हर बार जब मैं इस फाइल को पढ़ता हूं तो यह दुख होता है.

यह भी पढ़े : तेलंगाना में बोले PM मोदी, जिन्हें विकास में विश्वास है, उन्हें बीजेपी पर विश्वास है

सुप्रीम कोर्ट में अगली सुनवाई दोपहर 12 बजे होगी. कोर्ट ने बिहार सरकार को 24 घंटे के भीतर एफआइआर में बदलाव करने को कहा है. साथ ही बिहार के मुख्य सचिव को आदेश दिया है कि वो सुनवाई के दौरान कोर्ट में ही मौजूद रहेंगे.

न्यूज एजेंसी एनएनआई के मुताबिक, सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि जब हमने पाया कि धारा 377 और पॉक्सो एक्ट के तहत भी मामला बना है लेकिन आपने एफआईआर ही दर्ज नहीं कि ऐसे में क्या सरकार के खिलाफ आदेश पारित करें.

कोर्ट ने बिहार सरकार से पूछा कि मई में टिस की रिपोर्ट आई और आपने अबतक इसपर क्या एक्शन लिया? इस तरह बच्चियों से दुष्कर्म मामले में धारा 377 और पॉक्सो एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज नहीं हुआ, क्या यही गंभीरता है? मामले की सुनवाई कर रहे न्यायाधीश ने कहा कि हर बार मैं जब इस केस की फाइल पढ़ता हूं तो मुझे दुख होता है.



Leave a Reply