in ,

मीडिया सत्ता के खूंटे से बंधने वाली भैंस होती है – विनोद प्रजापति, आईएनए पार्टी नेता

Vinod Prajapati From INA Party
साथियों मीडिया सदा गुलाम होती है चाहे सत्ता किसी की भी हो। यह परम सत्य हैं. मीडिया सत्ता के खूंटे से बंधने वाली भैंस होती है. कल मीडिया कांग्रेस की गुलामी कर रही थी और आज वो बीजेपी की गुलामी कर रही है।
.
देश की आजादी के इतने सालों में कुछ नही बदला. सरकारें आज भी अंग्रेजी हकूमत की तरह बर्ताव करती हैं.
यूपी की बात करें तो यूपी में आज भी जंगलराज कायम है। योगी जी के आने के बाद क्राइम रुका नही है बस उसकी चर्चा समाप्त हो गयी है. चर्चा का काम मीडिया का होता है लेकिन मीडिया तो अपने मालिकों की वफादार होती हैं उसे तो वही दिखाना है जैसे उसके मालिक चाहते है।
यही #अर्नब गोस्वामी योगी आदित्यनाथ जी को जाहिल और गवाँर बताता था और आज देखों कैसे गुलामी बजा रहा हैं। ऐसा क्या बदला कि योगी जी अर्नब की नजर में जाहिल और गवाँर से जेंटलमैंन बन गए?
Vinod prajapati addressing press
कल यूपी में एक ही परिवार के 5 ब्राह्मणों की हत्या कर दी थी जिस पर मीडिया ने पूरा मैनेज करने की कोशिश की। आज खबर मिल रही हैं कि मीडिया ने ऐसा मैनेज किया केस को ताकि सत्ता में बैठे उनके मालिकों पर कोई दिक्कत ना आये। मीडिया कह रही हैं कि बहु ने घर के सदस्यों को जहर देकर मार दिया और फिर खुद भी आत्महत्या कर ली।
वाह री कमाल हो तेरा मीडिया। एक दिन में तो पोर्स्टमार्टम रिपोर्ट नही आती और आपने तो एक दिन में पूरा केस सुलझा दिया। ऐसे केसों को सुलझाने के लिए जहाँ CBI को भी महीनों लग जाते हैं वहां आपने एक ही दिन केस भी सुलझा दिया और अपना फैसला भी सुना दिया। धन्य हैं आपकी बुद्धि।
लगता हैं मालिकों द्वारा लालन पोषण सही से किया जा रहा हैं तभी तो बुद्धि इतनी तेज चल रही हैं।
साथियों आज एक और हत्या हुई है। यह हत्या दुलारे यादव की हैं. सुबह सुबह यह हत्या हुई है. मीडिया तो शाम तक इसपर भी रिपोर्ट दें देगी कि दुलारे यादव का मन भर गया था इसलिए वह कुछ समय परलोक में बिताना चाहता था तो आत्महत्या कर ली।
अभी कुछ दिन पहले एक गरीब सब्जी विक्रेता को यूपी पुलिस ने इतना मारा कि उसकी मौत हो गयी। लेकिन मीडिया में कोई चर्चा नही। अभी पूर्वांचल में भी यूपी पुलिस की पिटाई से एक युवक की हत्या हो गयी थी लेकिन कोई चर्चा नही।
मीडिया आपको भले यह दिखा दें कि सरकार हर गरीब तक खाना पहुंचा रही है तो साथियों यह अर्ध सत्य है क्योंकि भूख से मरने वालों की संख्या बहुत है बस मीडिया में चर्चा नही।
भला हो समाज सेवकों का जो जान जोखिम में लगा कर गरीब लोगों तक खाना पहुंचा रहें हैं वरना सरकार के भरोसे तो लोग भूखे मर जाते। यूपी आज भी जंगलराज के दौर से गुजर रहा हैं…. !
राष्ट्रीय संगठनमंत्री, आईएनए पार्टी।
जय हिन्द, जय सुभाष।
Nokia [CPS] IN

Written by National TV

COVID-19 : अंडमान में 10 पॉजिटिव, 9 निजामुद्दीन मरकज में हुए थे शामिल