Main Menu

लखनऊ पुस्तक मेला व अंकुरम शिक्षा महोत्सव का समापन हुआ

Share This Now
लखनऊ। संगीत नाटक अकादमी परिसर गोमतीनगर में पिछले 10 दिनों से चल रहा लखनऊ पुस्तक मेला व अंकुरम शिक्षा महोत्सव ने अगले वर्ष तक के लिए विराम ले लिया। पुस्तक प्रेमियों ने यहां मनपसंद उपलब्ध साहित्य लिया तो संस्कृति प्रेमियों को यहां 11 जिलों से आई बाल प्रतिभाओं के संग ही विविध सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आनन्द लिया।

सहारनपुर जहरीली शराब कांड; सामूहिक चितायें देख सहमे लोग, सीएम योगी ने बताई सपा की साजिश

महापर्व कुम्भ’ थीम पर आधारित पुस्तक मेले में समापन दिवस खूब भीड़ रही। मेले में लखनऊ, दिल्ली, मुम्बई, अहमदाबाद, नोएडा, चण्डीगढ, कोलकाता़ के स्टाल सजे थे। प्रमुख स्टालधारकों को आज सम्मानित किया गया। अतिथियों के तौर पर पूर्व मुख्य सचिव आलोक रंजन ने प्रमुख सचिव संस्कृति जितेन्द्र कुमार ने प्रमाणपत्र व स्मृतिचिह्न व प्रमाणपत्र वितरित करते हुए पुस्तक मेले और अंकुरम शिक्षा महोत्सव के आयोजन को सराहा और कहा कि ऐसे आयोजन राजधानी के अलावा अन्य शहरों में भी बराबर होने चाहिए।
आयोजक मनोज सिंह चंदेल ने अतिथियों का स्वागत करते हुए बताया कि मेले में आई-केअर, आगमन, ज्वाइन हैण्ड्स फाउण्डेशन, संस्कार भारती, परिवहन विभाग जैसी 20 से अधिक संस्थाओं के काव्य समारोह, पुस्तक विमोचन, परिचर्चा, नाट्यपाठ जैसे विविध आयोजन हुए। अंत मे सह संयोजक आकर्ष चंदेल ने सभी का आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर आई-केअर के मिशन लीडर अनूप गुप्ता, ज्योति किरन रतन, शीला पाण्डेय व अन्य गणमान्य अतिथि उपस्थित थे।

लाइन लाॅस, बिजली चोरी और बकाया बिल विद्युत विभाग के लिये कैंसर जैसा है : राज्यपाल राम नाईक

अंकुरम वार्षिक सम्मेलन में लाला एमपीवी बालिका विद्यालय, आईटी काॅलेज, अवध गल्र्स पीजी काॅलेज, नारी शिक्षा निकेतन पीजी कालेज, रामाधीन सिंह गल्र्स पीजी कालेज, चिनहट, गोसाईगंज, इस्माइलगंज जैसे स्थानीय क्षेत्रों और कन्नौज, बस्ती, बलरामपुर, मथुरा आदि 10 अन्य ज़िलों के प्राथमिक विद्यालयों के बच्चों और सीमा श्रीवास्तव, लाल बहादुर यादव, करनकुमारी, नफीसा बानो, संतोष सक्सेना, सुजाता मेहता, आदि शिक्षकों के साथ ही प्रधानों ने सहभागिता निभाई। इन्हें स्मृतिचिह्न व प्रमाणपत्र वितरित किये गये।

11 को प्रियंका, राहुल और ज्योतिरादित्य सिंधिया के स्वागत में जी जान से जुटे कांग्रेस व सेवादल के कार्यकर्ता

अंकिता यादव, दिव्या सिंह, मानसी सिंह, रितिका यादव, दीक्षा सैनी, आशी जोशी जैसी 28 इन्टर्न के अलावा प्रीति कश्यप, अपूर्वा यादव व आकांक्षा सिंह को विशेष रूप से पुरस्कृत किया गया। इससे पहले नेहा तिवारी, यूसुफ हसीब, अल्फिया, सिमरन, आराधना, शीतल, रुचि, सिम्पी, नजमुल आदि बच्चों-युवाओं ने गीत संगीत व नृत्य की प्रस्तुतियां दीं। समापन समारोह के बाद शाम को कवि सम्मेलन व मुशायरा आयोजित किया गया।


Leave a Reply