in ,

lok sabha election; जौनपुर से कांग्रेस ने देवब्रत मिश्रा पर खेला दाँव

lok sabha election congress candiddate devbrat mishra from jaunpur
lok sabha election congress candiddate devbrat mishra from jaunpur
जौनपुर/रिपोर्ट अब्दुल हलीम सिद्दीक़ी। बड़े इंतेज़ार के बाद चुनावी गहमा गहमी के बीच कांग्रेस ने अपना पत्ता खोलते हुए एक बड़े नाम पर दांव लगा दिया है। पार्टी ने पूर्व राज्यसभा सदस्य शिव प्रताप मिश्र (बाबा) के पुत्र मूल रूप से प्रतापगढ़ के रामनगर निवासी 48 वर्षीय देवब्रत मिश्र को जौनपुर लोकसभा क्षेत्र से शनिवार को प्रत्याशी घोषित कर दिया। lok sabha election congress candiddate devbrat mishra from jaunpur
घोषणा को लेकर सियासी गलियारे में सरगर्मी तेज हो गई है। देवब्रत मिश्रा 2004 में मछलीशहर लोकसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ चुके हैं। इनके उम्मीदवार होने से दूसरे दलों की बेचैनी बढ़ गई एवं कांग्रेसियों में उत्साह का माहौल है।
जौनपुर छेत्र के लोगों को बड़ी बेसबरी से प्रत्याशियों के घोषणा का इंतेज़ार था।  जैसे ही बसपा ने रिटायर्ड पीसीएस अधिकारी मड़ियाहूं निवासी श्याम सिंह यादव के नाम की घोषणा की तुरन्त कांग्रेस ने भी पूर्व राज्यसभा सदस्य शिव प्रताप मिश्र (बाबा) के पुत्र मूल रूप से प्रतापगढ़ के रामनगर निवासी 48 वर्षीय देवब्रत मिश्र को प्रत्याशी बनाकर जौनपुर की स्यासत में सभी को चौका दिया है।
lok sabha election congress candiddate devbrat mishra from jaunpur
lok sabha election congress candiddate devbrat mishra from jaunpur
क्योंकि लोगों का मानना यह था कांग्रेस पार्टी इस लोकसभा छेत्र से पूर्व विधायक कांग्रेस अल्पसंख्यक के राष्ट्रीय चेयरमैन नदीम जावेद पर अपनी किस्मत आज़मा सकती है। या हाल ही में बसपा छोड़कर कांग्रेस में आए बसपा महाराष्ट्र प्रभारी अशोक सिंह को प्रत्याशी घोषित कर सकती है। लेकिन कांग्रेस ने देवब्रत मिश्रा के नाम की घोषणा कर दी।
आपको बताते चलें कि मूल रूप से प्रतापगढ़ के रामनगर निवासी 48 वर्षीय देवब्रत ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी के सदस्य हैं। यह जौनपुर के  मछलीशहर लोकसभा क्षेत्र से 2004 में चुनाव भी लड़ चुके हैं। इन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय से राजनीति विज्ञान से बीए आनर्स, लखनऊ विश्वविद्यालय से एलएलबी के अलावा लंदन स्कूल ऑफ पॉलिटिकल से डिजाइन एंड मैनेजमेंट आर्गेनाइजेशन का कोर्स किया है।
इनके पिता शिव प्रताप मिश्र की कांग्रेस में अच्छी रसूख थी। वह राजीव गांधी के करीबी माने जाते थे। अब जौनपुर छेत्र के लोग भारतीय जनता पार्टी पर नज़र टिकाए हुए हैं। क्योंकि अभी भारतीय जनता पार्टी ने किसी भी प्रत्याशी की घोषणा नहीं की है।

Written by Ranjeev Thakur

chaiti mahotsav indian new year brij ki holi veer eklavya play shriram lila samiti

चैती महोत्सव; ब्रज की होली व वीर एकलव्य नाटक ने किया मंत्र मुग्ध

इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में छात्र नेता रोहित शुक्ला की गोली मारकर हत्या