in

इसरो ने किया आरआईसैट-2बी का सफल प्रक्षेपण, खुफिया निगरानी, कृषि, वन और आपदा प्रबंधन में करेगा मदद

ISRO launched risat-2B radar imaging monitoring satellite by pslv-c46 from shriharikota
ISRO launched risat-2B radar imaging monitoring satellite by pslv-c46 from shriharikota

नेशनल टीवी इंडिया (श्रीहरिकोटा) : भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने श्रीहरिकोटा से प्रक्षेपण यान पीएसएलवी-सी46 के साथ भारत के हर मौसम के रडार इमेजिंग पृथ्वी निगरानी उपग्रह ‘आरआईसैट-2बी’ का सफल प्रक्षेपण किया। ISRO launched risat-2B radar imaging monitoring satellite by pslv-c46 from shriharikota

यह प्रक्षेपण बुधवार सुबह साढ़े 5 बजे किया गया। इसरो ने बताया कि पीएसएलपी46 ने आरआईसैट-2बी को पृथ्वी की निचली कक्षा (लो अर्थ ऑर्बिट) में सफल तौर पर स्थापित किया।

Nokia [CPS] IN

पीएसएलवी-सी46 को उसके 48वें मिशन पर सुबह साढे पांच बजे श्रीहरिकोटा के सतीश धवन अंतरिक्ष केन्द्र से लॉन्च किया गया। पीएसएलपी46 ने आरआईसैट-2बी को लो अर्थ ऑर्बिट में सफल तौर पर स्थापित किया।

ISRO launched risat-2B radar imaging monitoring satellite by pslv-c46 from shriharikota
ISRO launched risat-2B radar imaging monitoring satellite by pslv-c46 from shriharikota

इसरो द्वारा जारी बयान में कहा गया कि अलग होने के बाद, आरआईसैट-2बी के सौर सरणियों को स्वचालित रूप से और इसरो टेलीमेट्री ट्रैकिंग और कमांड नेटवर्क को बेंगलुरु में तैनात किया गया।  साथ ही कहा, ‘आने वाले दिनों में उपग्रह को अपने अंतिम परिचालन विन्यास में लाया जाएगा।’

इसरो प्रमुख के शिवन ने सैटलाइट की सफल लॉन्चिंग पर खुशी जताई। उन्होंने कहा, ‘मुझे यह जानकारी देते हुए बेहद खुशी है कि पीएसएलवी46 का लॉन्च सफल रहा। यह बड़ी उपलब्धि है।’ उन्होंने इस मिशन में लगे सभी वैज्ञानिकों को बधाई दी।

ISRO launched risat-2B radar imaging monitoring satellite by pslv-c46 from shriharikota


Nokia [CPS] IN

ISRO launched risat-2B radar imaging monitoring satellite by pslv-c46 from shriharikota

शिवन ने कहा कि पीएसएलवी-सी46 के अपने 48वें मिशन पर सुबह साढे पांच बजे यहां से 130 किलोमीटर से अधिक दूर स्थित श्रीहरिकोटा के सतीश धवन अंतरिक्ष केन्द्र से प्रक्षेपित किया गया।

इस उपग्रह का भार 615 किलोग्राम है और इसे प्रक्षेपण के करीब 15 मिनट बाद पृथ्वी की निचली कक्षा में छोड़ा गया। यह सैटेलाइट खुफिया निगरानी, कृषि, वन और आपदा प्रबंधन सहयोग जैसे क्षेत्रों में मदद करेगा।

Nokia [CPS] IN

प्रक्षेपण से पहले तिरूपति के प्रसिद्ध भगवान वेंकटेश्वर मंदिर में पूजा अर्चना भी की। शिवन के मुताबिक, आरआईसैट-2बी के बाद, इसरो चंद्रयान-2 पर काम करेगा जिसका 9 से 16 जुलाई के बीच प्रक्षेपण का कार्यक्रम है। इसरो 6 सितंबर तक चंद्रयान-2 के रोवर को (चंद्रमा की सतह पर) उतारने को लेकर आशान्वित है।

Nokia [CPS] IN

Written by National TV

cbi clean chit to mulayam singh and akhilesh yadav on property over incom

आय से अधिक संपत्ति मामले में मुलायम और अखिलेश को सीबीआई की क्लीन चिट

lok sabha election Complaints of EVM incompatible: Chief Electoral Officer L. Venkateshwar Loo

ईवीएम में गड़बड़ी की शिकायतें निराधार : मुख्य निर्वाचन अधिकारी एल. वेंकटेश्वर लू