Main Menu

इलाहाबाद : वकील राजेश श्रीवास्तव की हत्या के मामले में होटल व्यवसायी प्रदीप जयसवाल गिरफ्तार

Share This Now

इलाहाबाद । पूरे उत्तर प्रदेश में आज दिनभर खलबली मचाने वाले और सुर्खियों में बने रहने वाले एडवोकेट राजेश श्रीवास्तव मर्डर केस में नया मोड़ आ चुका है। पुलिस ने कर्नलगंज थाने में नामजद मुकदमा दर्ज करने के बाद होटल व्यवसायी प्रदीप जायसवाल को गिरफ्तार कर लिया है। जबकि दूसरे नामजद आरोपी नागर की गिरफ्तारी के लिये दबिश दी जा रही है।

जैसा कि एक्सक्लूसिव खबर में पहले ही यह बता दिया था कि मामला होटल के विवाद से जुड़ा हुआ लग रहा है और पुलिस इसी दिशा में जांच करेगी । हाल फिलहाल पुलिस ने मुकदमा दर्ज करने के बाद उन्हीं कड़ियों को जोड़ना शुरु कर दिया है । देर रात तक मामले में होटल व्यवसाई से पूछताछ की जाती रही, लेकिन अभी पुलिस मीडिया से कुछ भी बताने को तैयार नहीं है । पुलिस का कहना है कि पूरी जांच प्रक्रिया कि अधिकारी भी मॉनिटरिंग कर रहे हैं और उनके आदेशानुसार सारी कार्यवाही चल रही है। जांच एक निर्धारित दायरे तक पहुंचने के बाद मीडिया को इसकी जानकारी दी जाएगी।

2 लोगों पर दर्ज हुआ मुकदमा

इलाहाबाद के रामबाग स्थित होटल क्राउन के मालिक प्रदीप जायसवाल के साथ नगर निगम कर्मचारी कमल नागर को भी एडवोकेट हत्याकांड में आरोपी बनाया गया है । प्रदीप जायसवाल को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। वही, कमल नागर पुलिस की पकड़ से दूर हैं। पुलिस जांच में पता चला है कि आज सुबह एडवोकेट राजेश श्रीवास्तव और प्रदीप जैसवाल के बीच गरमा गरम बहस हुई थी । दोनों में तीखी बहस के बाद ही मामला और ज्यादा बढ़ गया था और बहस के कुछ घंटे बाद ही राजेश को गोली मार दी गई।

क्या है मामला

पुलिस सूत्रों के अनुसार अभी तक हुई जांच में यह पता चला है कि इलाहाबाद विवाद का कारण होटल क्राउन है । दरअसल होटल क्राउन के विस्तार के दौरान सरकारी जमीन पर अवैध कब्जा किया गया है और सरकारी जमीन से अतिक्रमण हटवाने के लिए एडवोकेट राजेश ने मुहिम छेड़ी हुई है। वह हाईकोर्ट की शरण में भी गए हैं, जिससे यह तय है कि इस मामले में होटल क्राउन ने जो अपनी नई बिल्डिंग खड़ी की है उसे गिराना पड़ेगा । ऐसे में होटल क्राउन के मालिक को बड़ा नुकसान होना है।

बढ गया विवाद

इसी मामले को लेकर दोनों पक्षों में विवाद चल रहा था और आज सुबह दोनों पक्षों में तीखी झड़प भी हुई थी। बताया यह भी जा रहा है कि मामला जमीन से भी जुड़ा हुआ था और दोनों की पक्षों के बीच जमीन को लेकर विवाद भी गहरा गया था और उसी मामले में बात बढ़ने के बाद वारदात को अंजाम दिया गया होगा । हालांकि अभी यह अभी जांच का विषय है। पुलिस की प्रथम दृष्टया जांच में होटल की जमीन का विषय सामने आया है ।

अभी जांच का दायरा आगे और बढ़ेगा और हकीकत क्या है वह खुलकर सामने आएगा । फिलहाल दर्ज मुकदमे के आधार पर पुलिस ने गिरफ्तारी शुरू कर दी है और नाक का सवाल बन गए इस मर्डर केस को जल्द से जल्द सुलझाकर पुलिस अपना एक बार फिर से इकबाल कायम करना चाहेगी।

अमरीश मनीष शुक्ला रिपोर्टर



Leave a Reply