in

दरवेश यादव की हत्या के बाद चल रहा कुर्सी का विवाद थमा, हरिशंकर सिंह बने बार यूपी बार कौंसिल अध्यक्ष

इलाहाबाद / प्रयागराज : आगरा कचहरी में यूपी बार कौंसिल की अध्यक्ष दरवेज यादव की हत्या के बाद अध्यक्ष की कुर्सी को लेकर उठा विवाद आखिरकार थम गया है। रिक्यूजीशन बैठक के बाद कुर्सी पर मची रार खत्म हो गयी है और हरिशंकर सिंह को सर्वसम्मति से हरिशंकर सिंह को अध्यक्ष मान लिया गया। दरअसल  बार कौंसिल के अध्यक्ष पद के चुनाव में दरवेश सिंह व हरिशंकर सिंह को बराबर.बराबर मत मिले थे। जिस पर यह फैसला हुआ था कि दोनों को अध्यक्ष पद पर  छह.छह माह का कार्यकाल दिया जायेगा। लेकिन जीत के बाद जश्न का दौर चल ही रहा था कि आगरा कचहरी में अध्यक्ष दरवेश यादव के कनीज वकील मनीश ने उनकी गोली मारकर हत्या कर दी थी। इसके बाद से बार कौंसिल के अध्यक्ष पद को लेकर रार मची हुई थी। प्रयागराज स्थित बार कौंसिल के मुख्यालय पर इस विवाद को लेकर बैठक का दौर शुरू हुआ था। रविवार को कौंसिल भवन में हुई रिक्यूजीशन बैठक में सर्वसम्मति से बड़ा फैसला लिया गया और हरिशंकर सिंह को ही अध्यक्ष माना गया। जानकारी देते हुये कौंसिल के सचिव रामचंद्र मिश्र ने बताया कि हरिशंकर सिंह का कार्यकाल 13 जून से ही प्रभावी माना जाएगा।
बढ़ गया था विवाद
दरवेश यादव की हत्या के बाद यूपी बार कौंसिल में अध्यक्ष की कुर्सी पर काबिज होने के लिए जमकर विवाद हो गया था। कौंसिल के अध्यक्ष व कार्यवाहक अध्यक्ष के बीच लगातार जोर.आजमाइश शुरू हो गयी थी दोनों इस कुर्सी पर अपने दावे करने लगे थे।  हरिशंकर सिंह ने तो प्रेस कांफ्रेस आयोजित कर साफ कर दिया था कि वह अध्यक्ष चुने गये हैं और समर्थन व कानून के साथ वह असली अध्यक्ष हैं। किसी भी कार्यवाहक की आवश्यकता नहीं है। दरवेश की दुखद मृत्यु के बाद कानूनन मेरा कार्यकाल ही बढाया जायेगा और वह 11 माह 27 दिन का हो गया है।
Nokia [CPS] IN

Written by Amarish Shukla

बेकाबू ट्रक ने चार को रौंदा, एक पुलिस हेड कांस्टेबल समेत दो की मौत, दो सिपाही घायल

प्रयाग में कंस मामा ने 8 साल के भांजे का गला घोंटा और फिर पानी की टंकी से नीचे फेंक कर मार डाला