in ,

विद्यार्थियों की आंखों में ऐसे सपने भरें जो उन्हें आगे बढ़ने के लिये प्रेरित करें – राज्यपाल

governor anandiben patel honored LPS teachers
governor anandiben patel honored LPS teachers
लखनऊ : राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कहा कि विद्यार्थियों की आंखों में ऐसे सपने भरें जो उन्हें आगे बढ़ने की लिये प्रेरित करें। governor anandiben patel honored LPS teachers
उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने लखनऊ पब्लिक कालेज, गोमती नगर शाखा में शिक्षक दिवस के अवसर पर आयोजित एक कार्यक्रम में शिक्षकों को सम्मानित किया तथा लखनऊ पब्लिक विद्यालय के संस्थापक एस0पी0 सिंह द्वारा लिखित पुस्तक ‘सपने और रोजगार की राहें’ का विमोचन किया।
कार्यक्रम में अशोक बाजपेयी सांसद राज्यसभा, अरूण सिंह राष्ट्रीय महासचिव भारतीय जनता पार्टी, विद्यालय की मुख्य प्रशासिका कान्ती सिंह, विद्यालय के शिक्षक एवं विद्यार्थीगण व अन्य पदाधिकारीगण उपस्थित थे। राज्यपाल ने इस अवसर पर लखनऊ पब्लिक कालेज के विभिन्न शाखाओं की प्रधानाचार्यों को अंगवस्त्र एवं प्रशस्ति चिन्ह देकर सम्मानित किया।
राज्यपाल ने पूर्व राष्ट्रपति सर्वपल्ली डाॅ0 राधाकृष्णन को नमन करते हुए कहा कि डाॅ0 राधाकृष्णन का जन्मदिवस पूरे देश में ‘शिक्षक दिवस’ के रूप में मनाया जाता है। भारतीय संस्कृति में शिक्षकों को बहुत ऊंचा स्थान प्राप्त है क्योंकि वे विद्यार्थियों को अंधेरे से निकाल कर प्रकाश की ओर ले जाने में बड़ी भूमिका निभाते हैं। इस प्रकार शिक्षक व्यक्ति, समाज और राष्ट्र की अमूल्य सेवा करते हैं।
governor anandiben patel honored LPS teachers
governor anandiben patel honored LPS teachers
शिक्षा की प्रगति का सर्वाधिक महत्वपूर्ण संसाधन हमारे शिक्षक ही हैं। शिक्षकों को अनुशासन, अध्ययन और सदाचरण का एक आदर्श प्रस्तुत करना चाहिये ताकि छात्र उनका अनुसरण कर सकें। उन्होंने कहा कि भावी पीढ़ी के निर्माता होने के कारण राष्ट्र को शिक्षकों से बहुत अपेक्षाये हैं, उन पर बच्चों के चरित्र निर्माण और विकास को नये आयाम देने की बड़ी जिम्मेदारी है।
श्रीमती आनंदीबेन ने प्राथमिक शिक्षा से जुड़े शिक्षकों का आह्वान करते हुए कहा कि बच्चों की शिक्षा एवं उन्नयन में पूरी निष्ठा और लगन के साथ कार्य करें। कच्ची मिट्टी से भावी नागरिक तैयार करना शिक्षकों की जिम्मेदारी है इसलिये बच्चों की जड़ को मजबूत करें। विद्यार्थियों की आंखों में ऐसे सपने भरें जो उन्हें आगे बढ़ने की लिये प्रेरित करें।
प्राथमिक शिक्षक अंगुली पकड़कर बच्चों को आगे बढ़ाते हैं, स्वयं का ऐसा प्रतिबिम्ब बनायें जो विद्यार्थी याद करें। राज्यपाल ने कहा कि आज के युवा पढ़ाई के साथ-साथ समय निकालकर गरीब बच्चों को पढ़ाई के लिये प्रेरित करें। स्वच्छता एवं स्वास्थ्य का ध्यान रखें। पानी बचाने का काम करें। उन्होंने कहा कि भावी पीढ़ी सुयोग्य नागरिक बनेगी तो नये भारत की नई तस्वीर बनेगी।
इस अवसर पर राज्यपाल महोदया ने एलपीएस संस्थापक प्रबन्धक एसपी सिंह की पुस्तक ‘सपने और रोज़गार की राहें’ का लोकार्पण किया। एसपी सिंह ने यह पुस्तक शिक्षित बेरोजगारों के भविष्य निर्माण के लिए लिखा है जिसमें हजारों नौकरियों की जानकारियाँ, प्रेरक लेख व कॅरियर विकल्प की सूचनाएँ संकलित हैं।
राज्यपाल ने एलपीएस के 14 प्रिन्सिपल्स को भी सम्मानित किया। शिक्षकों को फुल अटेन्डेन्स, बेस्ट टीचर्स, बेस्ट सर्पोटर एवं आलराउण्डर्स के पुरस्कार के अतिरिक्त करीब 850 शिक्षकों को लगभग 35 लाख के पुरस्कार वितरित किये गये।
शिक्षकों के सम्मान में बच्चों ने प्रार्थना, योगा व क्वाॅयर की प्रस्तुतियाँ दीं। अपने स्वागत भाषण के दौरान एसपी सिंह ने कहा, ‘आज एलपीएस ने जो भी नाम व यश कमाया है वह सब यहां के समर्पित व कुशल शिक्षक-शिक्षिकाओं की देन है। डा0 राधाकृष्णनन के जन्म दिन पर इन शिक्षकों को सम्मानित करके मैं अभिभूत हूँ। शिक्षकों का सम्मान और गुणवत्तापरक शिक्षा मुहैया कराना मेरे जीवन की प्राथमिकताएँ हैं।’
आज के कार्यक्रम के अति विशिष्ट अतिथि अरुण सिंह ने अपने सम्बोधन में कहा की शिक्षक की भूमिका सबसे बड़ी होती है। यदि चाणक्य ना होते तो चन्द्रगुप्त ना होते, उसी प्रकार अरस्तू – सिकंदर, रामदास – शिवा जी और भगवान राम के जीवन में वशिष्ठ जी की भूमिका थी। व्यक्ति की सफलता के पीछे गुरु का हाथ होता है।
उसके आगे उन्होंने कहा कि हमें नए भारत का निर्माण करना है, एक ऐसा भारत जो गरीबी मुक्त हो, भ्रष्टचार मुक्त हो व स्वच्छ हो। 2022 के नये भारत में आतंकवाद व अलगाववाद नहीं होंगे। डिजिटल इण्डिया कार्यक्रम से कार्य करने की क्षमता बढ़ेगी, पारदर्शिता बढ़ेगी और करप्शन घटेगा। उन्होंने आगे कहा कि बच्चों को पुस्तक पढ़ने कि आदत डालनी चाहिए ।
गूगल, इन्टरनेट सूचनाएं तो दे सकता है ज्ञान नहीं, ज्ञान तो केवल शिक्षक ही दे सकते हैं। बच्चों को इण्टरनेट व मोबाइल से दूर रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि एलपीएस एक ऐसी संस्था है जो गुणवत्तापरक शिक्षा व रचनात्मकता पर जोर देता है। इंसान के निर्माण में पुस्तकों की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। अरुण सिंह ने उन शिक्षकों को सम्मानित किया जो पूरे सत्र में एक भी दिन छुट्टी नहीं लिए जिनकी फुल अटेंडेंस रही।
इस अवसर पर राज्यसभा सांसद डॉ. अशोक बाजपेयी ने बेस्ट टीचर्स को सम्मानित किया। उन्होंने शिक्षकों को सम्बोधित करते हुए कहा कि शिक्षक दिवस के अवसर पर शिक्षकों को उनके साल भर किये गये कार्य के आधार पर सम्मानित किया जाता है यह अनुकरणीय है।
शिक्षक ही एक मजबूत राष्ट्र की नींव रखता है। इस अवसर पर एमएलसी कान्ति सिंह, प्रबन्ध निदेशक सुशील कुमार, संयुक्त सचिव एलडीए डीएम कटियार, एसडीएम सरोजनी नगर चन्दन पटेल, के के वर्मा, सूरज वर्मा, डायरेक्टर्स – आशा सिंह, नेहा सिंह, हर्षित सिंह के अतिरिक्त सभी शाखाओं की प्रधानाचार्याएं व सैकड़ों शिक्षक मौजूद थे।

Written by Ranjeev Thakur

Governor visits Hazratganj Police Station, Balrampur Hospital and Anganwadi Center

राज्यपाल ने हजरतगंज थाने, बलरामपुर अस्पताल तथा आंगनबाड़ी केन्द्र का भ्रमण किया

Infinix launches Mobile Hot 8, see price and features

इंफीनिक्स ने मोबाइल हॉट8 लॉन्च किया, देखे कीमत और फीचर्स