in

सुसंस्कृत बच्चे सभ्य समाज की नींव : गीता परिवार

geeta parivar arjun bhav sanskar path camps foundation of civilized civil society
geeta parivar arjun bhav sanskar path camps foundation of civilized civil society

लखनऊगीता परिवार की ओर से चल रहे सात दिवसीय अर्जुन भव संस्कार पथ शिविर का राधाकृष्ण मंदिर यहियागंज में समापन हुआ। geeta parivar arjun bhav sanskar path camps foundation of civilized civil society

इस मौके पर आदर्श शिविरार्थी में यश गुप्ता, श्रीमद्भगवद्गीता में प्रिया कुमारी, कौन बनेगा ज्ञानपति में आर्यन गोयल, मधुराष्टकम् में ईशा माहेश्वरी, आत्म रक्षा में अंशु गुप्ता, महाभारत के पात्रों के नाम में कृति बाजपेई, चित्रकला प्रतियोगिता में कृष्णा गुप्ता विजयी रहे।

समापन अवसर पर मुख्य अतिथियों में डा. आशु गोयल गीता परिवार के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, विमल शुक्ला, संध्या एवं गणमान्य लोगों की उपस्थिति में प्रतियोगिता के विजयी बच्चों को सम्मानित किया गया। डा. आशु गोयल ने मुख्य अतिथियों का स्वागत एवं अभिनंदन पुष्पगुच्छ एवं अर्जुन भव का स्मृति चिन्ह भेंट कर किया।

geeta parivar arjun bhav sanskar path camps foundation of civilized civil society
geeta parivar arjun bhav sanskar path camps foundation of civilized civil society

इस मौके पर डा. गोयल ने जिज्ञासु बच्चांे के प्रश्नों उत्तर दिये। उन्हांने कहा कि जो बच्चे प्रतियोगिता में विजयी हुए उनके लिए उज्जवल भविष्य की कामना करता हूं और जो बच्चे प्रतियोगिता विजयी नहीं हो पाये उन्हें हार मानने की आवश्यकता नहीं बल्कि उन्हें कठिन परिश्रम करते रहना चाहिए जब तक वह अपने लक्ष्य प्राप्त हो। थे।

इस मौके पर मुख्य अतिथियों के समक्ष शिविर में सिखायी बातों की बच्चों ने मनमोहक प्रस्तुति दी। श्रुति माहेश्वरी, अंजलि द्विवेदी, आयुषी ने अपनी ओजमय वाणी से समापन कार्यक्रम का संचालन किया। कशिश, सूर्या, प्रियांशु, रिया, सौम्या, रौशनी, अनुष्का, तानवी, संस्कार ने शिविर में विभिन्न सत्रों का आयोजन किया।

पीयूष जयसवाल ने कहा कि बच्चों का बचपन वह दर्पण है जिसमें उनके भावी व्यक्तित्व की झलक देखने को मिलती है। विश्व के महापुरुषों के जीवनी से स्पष्ट होता है कि उनका बाल्यकाल किस तरह अनुशांसित, सुसंस्कृत, आत्म सम्मानपूर्ण था। उनमें साहस, आत्मविश्वास, धैर्य, संवेदना की ऐसी उदात्त भावनाएं थी, जिसने उन्हें महापुरुषों के स्थान तक पहुंचा दिया। इसलिए सुसंस्कृत बच्चे ही सभ्य समाज की नींव रखते है।

geeta parivar arjun bhav sanskar path camps foundation of civilized civil society

वहीं तीन दिवसीय शिविरों का बृहस्पतिवार को समापन हुआ। हनुमान मंदिर पारा में गीता श्लोक में मान्या तिवारी, आदर्श शिविरार्थी में मुकुल कनौजिया, ध्रुव साधना में निखिल, योग में उत्कर्ष पांडेय, सरस्वती पूजा पार्क मालवीयनगर में गीता श्लोक में मंजीत विश्वकर्मा, स्त्रोत में प्रीति, आदर्श शिविरार्थी में गीतांजलि शर्मा चुने गए।

आदर्श पार्क सीतापुर रोड में आदर्श शिविरार्थी में गौरी मिश्रा, धु्रव साधना में सूरज सिंह, गीता श्लोक में वेदाषी मिश्रा अव्वल रहे। भुइयन देवी मंदिर गढ़ीकनौरा में धु्रव साधना में हर्षित सिंह, गीत में करन सिंह, आदर्श शिविरार्थी में राजनंदनी, एकता पार्क राजाजीपुरम में आदर्श शिविरार्थी में आशनी गौतम, महाभारत पात्रों के नाम में आकाश गौतम, गीता श्लोक में सरोज गौतम ने बाजी मारी।

समापन पर विजेता बच्चांे को पुरस्कृत किया गया। इस मौके पर शिवेन्द्र मिश्रा, अरविंद शर्मा, अनुराग पांडेय, उद्देश्य बाजपेयी व अन्य मौजूद थे। शिविर का निर्देशन संस्कार शुक्ला, अनुराग, महिमा, सोनालिका दीक्षित, सूया गुप्ता और सत्रों का आयोजन नेहा, जान्हवी, अनुष्का मौर्या, दीपिका मिश्रा, रिया मिश्रा ने किया।

Written by National TV

engineering students made 3d printer now supply orders from isro and drdo

इंजीनियरिंग छात्रों ने किया कमाल, अब इसरो और डीआरडीओ से मिला आर्डर

pm modi reached maldives to take highest civilian honor

पीएम मोदी अपने पहले दौरे पर पहुंचे मालदीव