in

भाजपा के पूर्व विधायक अशोक बाजपेई को बैंक ने घोषित किया डिफाल्टर, बेटा भी है भाजपा का विधायक

इलाहाबाद /  प्रयागराज । उत्तर प्रदेश के प्रयागराज जिले की कद्दावर राजनैतिक फैमिली बाजपेई परिवार इन दिनों फिर से सुर्खियों में है । बाजपाई परिवार के मुखिया अशोक बाजपेई को भारतीय स्टेट बैंक में करोड़ों रुपए का लोन चुकता ना करने पर डिफाल्टर घोषित कर दिया है । अशोक बाजपेई पूर्व में विधायक रह चुके हैं, जबकि उनका बेटा हर्षवर्धन बाजपेई इस समय शहर उत्तरी से खुद विधायक है । अशोक बाजपेई की पत्नी, उनकी मां हर कोई राजनैतिक रसूख वाली शख्सियत रहा है और केंद्र सरकार तक में मंत्री रह चुके हैं । हालांकि अब बैंक द्वारा डिफाल्टर घोषित किए जाने पर इनकी जमकर किरकिरी हो रही है।

क्या है मामला
भारतीय स्टेट बैंक की ओर से भाजपा के पूर्व विधायक अशोक बाजपाई के खिलाफ करोड़ों के बकाया लोन को चुकाने के लिए नोटिस जारी की गई है।  उन्हें डिफाल्टर घोषित करते हुए बैंक ने चेतावनी दी है कि अगर 15 दिन में लोन तथा ब्याज की राशि नहीं जमा हुई तो उन पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। वहीं, बैंक की ओर से आम जनता को भी अशोक बाजपेई से व्यवहार ना रखने के प्रति आग्रह किया गया है।  हालांकि यह पहली बार नहीं है जब बैंक द्वारा कर्ज की रिकवरी के लिए नोटिस जारी की गई है। इससे पहले भी बैंक द्वारा इसी तरह से सख्ती की गई थी । लेकिन, मामला सत्तापक्ष से जुड़ा होने के कारण बैंक की कार्यवाही आगे नहीं बढ़ाई जा सकी, और बड़ा मामला होने के बावजूद भी फाइल को गठरी में डाल दिया गया । हालांकि एक बार फिर से अब बैंक की नोटिस ने मामले को तूल दे दिया है।

Nokia [CPS] IN

42 करोड़ है बकाया
भारतीय स्टेट बैंक के अनुसार अशोक बाजपेई ने अपने परेहाट स्टील लिमिटेड कंपनी के नाम पर 42.85 करोड का लोन लिया था।  उन पर इस राशि के अलावा ब्याज तथा अन्य मद में भी काफी पैसा बकाया है । रकम लगातार बढ़ती जा रही है। लेकिन, अशोक बाजपेई की ओर से ना तो ब्याज जमा किया जा रहा है ना लोन की मूल रकम ही वापस की जा रही है । इसके लिए बैंक ने तनावग्रस्त वसूली शाखा की ओर से नोटिस जारी किया गया है। बैंक ने बताया कि कर्जदार तथा उनके गारंटर को पूर्व में भी कई बार नोटिस जारी की जा चुकी थी। लेकिन, कर्ज़ ना जमा करने के बाद कारण अब उन्हें डिफाल्टर घोषित किया गया है । वहीं, इस मामले में जब अशोक बाजपेई से बात करने की कोशिश की गई तो उन्होंने इस मुद्दे पर कुछ भी बोलने से इंकार कर दिया । उन्होंने दो टूक में कहा कि आप इसके बारे में बैंक से ही पूछे।

Nokia [CPS] IN

Written by Amarish Shukla

सीएम योगी फिर नजर आये हिंदू ह्रदय सम्राट, कांवड़ यात्रा में डीजे और माइक से प्रतिबंध हटाया

UPPSC में चार्ज लेते ही अध्यक्ष प्रभात कुमार का एक्शन शुरू, अनु सचिव सुरेंद्र उपाध्याय निलंबित