Main Menu

खुलासा : अखिलेश यादव के होटल को बंद कराने में हिंदूवादी नेता कमलेश तिवारी का हाथ

Share This Now

लखनऊ :  उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के सपने को ग्रहण लग चूका हैं. जानकारी के अनुसार अखिलेश यादव के बन रहे आलिशान होटल पर हाई कोर्ट ने रोक लगा दी हैं. सूत्रों से   मिली जानकारी के आधार पर हाई कोर्ट ने राज्य सरकार से सरकारी जमीन आवंटन पर जवाब माँगा था लेकिन राज्य की योगी सरकार जवाब दाखिल नहीं कर पाई जिसके कारण अखिलेश यादव के होटल के निर्माण पर क लग गयी हैं.

यह भी पढ़े : अखिलेश यादव के होटल को लेकर कमलेश तिवारी ने उठाये सवाल, सीएम योगी पर भी साधा निशाना

अखिलेश यादव के होटल के निर्माण पर चला कमलेश तिवारी का हथौड़ा

अखिलेश यादव के होटल के निर्माण को लेकर हाई कोर्ट में एक जनहित याचिका दायर की गयी थी. इस याचिका में अखिलेश यादव को होटल के लिए मिली जमीन को लेकर कुछ सवाल उठाये गये थे जिसपर हाई कोर्ट ने राज्य सरकार से जवाब माँगा था. लेकिन राज्य सरकार यानी योगी सरकार जमीन को लेकर जवाब दाखिल नहीं कर पाई जिसके कारन हाई कोर्ट ने जमीन पर होटल निर्माण पर रोक लगा दी.

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार इस जनहित याचिका के पीछे हिंदूवादी नेता कमलेश तिवारी का हाथ बताया जा रहा हैं. और जानकारी के लिए बता दे कि इस बात को कमलेश तिवारी ने अपने फेसबुक पोस्ट के माध्यम से स्वीकार भी किया हैं कि उनके वकील द्वारा ही जन हित याचिका दाखिल की गयी थी.

कौन हैं कमलेश तिवारी ?

कमलेश तिवारी हिन्दू समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं . वे पहले हिन्दू महासभा से भी जुड़े हुए थे. जानकारी के लिए बता दे कि कमलेश तिवारी एक कट्टर हिन्दू की छवि के रूप में भी जाने जाते हैं साथ ही अखिलेश यादव की सरकार में कमलेश तिवारी पर इस्लाम पर दिए गये विवादित बयान पर रासुका लगा कर जेल भी भेजा था.



Leave a Reply