in

आतंकी हाफिज सईद के फाइनेंसर की संपत्ति गुरुग्राम में जब्त

jaish a muhhamad terrorist masood ajahar assets in france
jaish a muhhamad terrorist masood ajahar assets in france

नेशनल टीवी न्यूज डेस्क : आतंकियों को फंडिग (terrorist funding) के खिलाफ कार्रवाई करते हुए प्रवर्तन निदेशालय (Enforcement Directorate) ने लश्कर-ए- तैयबा (Lashkar-e-Taiba) से जुड़े कश्मीरी व्यवसायी जहूर अहमद शाह वटाली की गुरुग्राम में संपत्ति को जब्त किया (Property seized) है। वटाली लश्कर-ए-तैयबा के प्रमुख हाफिज सईद (Hafiz saeed) का बैंकर और फाइनेंसर है।

Enforcement Directorate Property seized of Lashkar-e-Taiba Hafiz saeed to terrorist funding

हाफिज सईद (Hafiz saeed) 2008 के मुंबई आतंकी हमले का मास्टरमाइंड है। वहीं (Enforcement Directorate) ईडी के सूत्रों के मुताबिक, गुुरुग्राम में यह विला सईद के फाइनेंसर कश्मीरी व्यापारी जहुर अहमद शाह वटाली ने खरीदा था। पिछले साल ही वटाली को एनआइए ने आतंकी संगठनों को फंडिंग (terrorist funding) करने के मामले में दबोचा था।

लश्कर-ए-तैयबा (Lashkar-e-Taiba) के प्रमुख हाफिज सईद (Hafiz saeed) के खिलाफ अपनी जांच के तहत राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने एक आरोप पत्र दाखिल किया था। 2017 में आतंकियों को मदद देने (terrorist funding) के आरोप में वटाली समेत 18 के खिलाफ मामला दर्ज किया था। इस मामले की एनआइए जांच अब भी जारी है।

Enforcement Directorate Property seized of Lashkar-e-Taiba Hafiz saeed to terrorist funding
Enforcement Directorate Property seized of Lashkar-e-Taiba Hafiz saeed to terrorist funding

लश्कर-ए-तैयबा (Lashkar-e-Taiba) मुखिया हाफिज सईद (Hafiz saeed) के पैसों से करोड़ों रुपये में गुरुग्राम में खरीदे गए विला को प्रवर्तन निदेशालय (Enforcement Directorate) ने कुर्क (Property seized) कर लिया है।

Enforcement Directorate Property seized of Lashkar-e-Taiba Hafiz saeed to terrorist funding

सूत्रों की मानें तो यह विला फलाह ए इंसानियत फाउंडेशन के पैसों से खरीदा गया था, जिसे सईद (Hafiz saeed) पाकिस्तान में चलाता है। यह भी बताया जा रहा है कि विला खरीदने के लिए यह पैसा संयुक्त अरब अमीरात से हवाला के जरिए भारत पहुंचा था। इस पैसों का मकसद आतंकी गतिविधियों (terrorist funding) को अंजाम देना भी था।

हाफिज सईद (Hafiz saeed) ने लश्कर-ए-तैयबा (Lashkar-e-Taiba) का नया नाम जमात-उद-दावा रखा, हालांकि हाफिज सईद (Hafiz saeed) इस बात से इनकार करता है कि जमात-उद-दावा का लश्कर से कोई संबंध है। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने मुंबई आतंकी हमलों के तुरंत बाद दिसंबर 2008 में जमात-उद-दावा को आतंकी संगठन घोषित किया था। मुंबई हमलों के बाद सईद (Hafiz saeed) को अंतरराष्ट्रीय दबाव को देखते हुए छह महीने से कम समय तक नजरबंद रखा गया था। लाहौर हाई कोर्ट के आदेश के बाद उसे 2009 में रिहा कर दिया गया था।

Written by Ranjeev Thakur

cm yogi at bjp office for loksabha election to make modi pm once again

loksabha election-2019; नरेंद्र मोदी को फिर से पीएम बनाने को लेकर अंडर करंट है : सीएम योगी

loksabha election ; bsp alliance congress mayawati

loksabha election-2019; बसपा न तो कांग्रेस से मदद लेगी और न ही कहीं पर गठबंधन करेगी : मायावती