in ,

सीएम योगी फिर नजर आये हिंदू ह्रदय सम्राट, कांवड़ यात्रा में डीजे और माइक से प्रतिबंध हटाया

इलाहाबाद / प्रयागराज । उत्तर प्रदेश में इस बार सावन के महीने में निकलने वाली कावड़ यात्रा फिर से भव्य और दिव्य नजर आएगी । कावड़ यात्रा में इस बार डीजे और माइक का इस्तेमाल किया जा सकेगा। उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस बावत अनुमति प्रदान कर दी है और कहा है कि कांवड़ यात्रा में डीजे और माइक पर किसी भी तरह का प्रतिबंध नहीं होगा । यानी इस बार कांवड़ यात्रा में शामिल कांवरिया डीजे की धुन पर नाचते गाते हुए बाबा के धाम रवाना होंगे।  गौरतलब है कि कई घटना व हादसों के बाद कांवड़ यात्रा में डीजे व माइक आदि पर प्रतिबंध लगा दिया गया था। हालांकि कि इसे लेकर बड़ी संख्या में लोगों ने सीएम योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की थी और अपनी बातें उनके सामने रखी थी। जिसके बाद शिव भक्तों के हित में बड़ा आदेश देते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने कांवड़ यात्रा में डीजे और माइक पर से प्रतिबंध हटा दिया है ।

फिल्मी गानों पर प्रतिबंध
कांवड़ यात्रा के दौरान डीजे पर भजन और जैकारे तो चल सकेंगे। लेकिन, फिल्मी गानों पर प्रतिबंध होगा। इसके साथ ही डीजे पर अश्लील गाने भी नहीं बजा सकेंगे।  सीएम योगी ने इस बाबत साफ लफ्जो में कहा है कि कांवड़ यात्रा के दौरान डीजे पर भजन व भक्ति गीत बजा सकेंगे।  हहालांकि कांवड़ यात्रा में फिल्मी धुनों पर आधारित भक्ति गीत ही अधिकांश तौर पर बजाए जाते हैं।

Nokia [CPS] IN

कड़ी सुरक्षा का आदेश
सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के सभी अधिकारियों को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए सख्त निर्देश दिया है कि कांवड़ यात्रा में किसी भी तरह की कोई गड़बड़ी नहीं होनी चाहिए । सीएम योगी ने कड़े लफ्जों में सुरक्षा व्यवस्था की जिम्मेदारी बड़े अफसरों को सौंपते हुए कहा कि कुछ लोग माहौल बिगाड़ने की लगातार साजिश रच रहे हैं । लेकिन, उनकी मंशा में उन्हें कामयाब नहीं होने देना है । जो भी अराजकता फैलाने की कोशिश कर रहे हैं उन्हें चिन्हित कर कार्रवाई करने का निर्देश सीएम योगी द्वारा दिया गया है । गौरतलब है कि इस बार 17 जुलाई से सावन का महीना शुरू हो रहा है और 16 जुलाई से कांवड़ यात्रा का दौर शुरू हो जाएगा ।

सावन के विशेष दिन
सावन के महीने में इस बार सबसे ज्यादा 6 दिन बेहद ही महत्वपूर्ण होंगे इसमें सावन का पहला दिन 17 जुलाई और सावन का आखिरी दिन 15 अगस्त भी शामिल है।  जबकि इसके अलावा चार सोमवार व्रत के दिन भी पढ़ेंगे। जिस पर अत्यधिक भीड़ शिवालयों पर होती है। इनमें 22 जुलाई, 29 जुलाई, 5 अगस्त और 12 अगस्त को सोमवार का दिन पड़ रहा है । इस दिन विशेष तौर पर शिव मंदिरों में पूजा आराधना का विधान होता है।  गौरतलब है कि सावन के महीने का हिंदू धर्म में अत्यंत महत्वपूर्ण महत्व है।  इस महीने में शिव की विशेष पूजा होती है।  इस महीने में भगवान शिव को के प्रतीक शिवलिंग को गंगाजल से स्नान कराने व पूजा-पाठ करने का सनातन संस्कृति का परंपरा चली आ रही है । इस महीने में प्रकृति से बेहद ही गहरा संबंध नजर आता है और वर्षा ऋतु के आगमन से पूरी धरती हरी भरी हो जाती है । सावन महीने में शिव भक्तों द्वारा कावड़ यात्रा का आयोजन किया जाता है । इस दौरान लाखों शिवभक्त देवभूमि उत्तराखंड में स्थित शिव नगरी, हरिद्वार, गंगोत्री धाम समेत प्रयागराज, वाराणसी सेमत प्रत्येक शिव मंदिर आदि की यात्रा कांवड में जल भरकर करते हैं।

Nokia [CPS] IN

Written by Amarish Shukla

Only yogi government done noble work of illuminating homes of the poor: bjp

गरीबों के घरों को बिजली से रोशन करने का पुण्य कार्य केवल योगी सरकार ने ही किया है : भाजपा

भाजपा के पूर्व विधायक अशोक बाजपेई को बैंक ने घोषित किया डिफाल्टर, बेटा भी है भाजपा का विधायक