in ,

चिन्मयानंद प्रकरण : लड़की और चिन्मयानंद दोनों जमानत के लिये पहुंचे हाईकोर्ट

इलाहाबाद / प्रयागराज।  एलएलएम छात्रा से दुष्कर्म के आरोप में जेल में बंद पूर्व गृह राज्य मंत्री चिन्मयानंद की जमानत अर्जी अधीनस्थ न्यायालय से खारिज होने के बाद अब वह जमानत के लिये हाईकोर्ट पहुंच गये हैं। इलाहाबाद हाईकोर्ट में चिन्मयानंद के वकील की ओर से जमानत याचिका इलाहाबाद हाईकोर्ट में दाखिल की गयी है। जिस पर इसी महीने की 30 तारीख को यानी 30 अक्टूबर को सुनवाई होगी। हालांकि इस केस की हाईप्रोफाइल चर्चा व देश भर में शोर मचा चुके इस मामले में चिन्मयानंद को बहुत अधिक राहत मिलने की उम्मीद नहीं है। लेकिन, उनकी जमानत याचिका में जमानत के लिये क्या आधार दिये गये हैं, इस पर अभी स्थिति स्पष्ट नहीं हो सकी है। स्वास्थ्य आदि को लेकर रिपोर्ट के आधार पर उन्हें कुछ राहत मिलने के आसार जरूर हैं, लेकिन, उससे पहले सरकार से हाईकोर्ट इस मामले में रिपोर्ट मांग सकती है और सरकार की ओर से हरी झंडी मिलने के बाद ही हाईकोर्ट चिन्मयानंद को कुछ हद तक राहत दे सकती है। फिलहाल चिन्मयानंद के अलावा आरोपित लड़की की ओर से भी हाईकोर्ट में जमानत याचिका दाखिल की गयी है और उस पर उच्च अदालत ने सरकार से जवाब मांगा है।

हाईकोर्ट में सौंपी गयी रिपोर्ट

इलाहाबाद हाईकोर्ट में इस हाई प्रोफाइन मामले की निगरानी का भी क्रम चल रहा है, जिसके क्रम में एसआईटी ने अपनी जांच की प्रगति रिपोर्ट भी सीलबंद लिफाफे में अदालत को सौंपी है। फिल्हाल अदालत ने प्रगति रिपोर्ट का अवलोकन किया जा रहा है। अदलात ने रिपोर्ट पर कोई कटाक्ष नहीं किया है, इससे संभावना है कि वह जांच रिपोर्ट से हाल फिलहाल संतुष्ट है। मामले में अब अहम विषय दोनों पक्षों की जमानत का ही है। चूंकि दोनों पक्षों की ओर से अलग अलग जमानत याचिकाएं दाखिल की है और दोनों ही एक दूसरे की जमानत का विरोध भी कर रहे हैं, ऐसे में जमानत पर फैसला सीधे आना मुश्किल नजर आ रहा है।

Nokia [CPS] IN

Nokia [CPS] IN

Written by Amarish Shukla

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार के खिलाफ गिरफ्तारी और कुर्की का वारंट जारी

PM मोदी के खिलाफ चुनाव याचिका पर सुनवाई पूरी, हाईकोर्ट ने सुरक्षित किया आदेश