in ,

चैती महोत्सव; ब्रज की होली व वीर एकलव्य नाटक ने किया मंत्र मुग्ध

chaiti mahotsav indian new year brij ki holi veer eklavya play shriram lila samiti
chaiti mahotsav indian new year brij ki holi veer eklavya play shriram lila samiti

लखनऊ। श्रीराम लीला समिति ऐशबाग के तुलसी शोध संस्थान के तत्वावधान में श्रीराम लीला परिसर के प्रांगण में चल रहे भारतीय नववर्ष मेला एवं चैती महोत्सव-2019 की आठवीं सांस्कृतिक संध्या में गीतांजलि शर्मा के ब्रज की होली व वीर एकलव्य नाटक ने मंत्र मुग्ध किया। chaiti mahotsav indian new year brij ki holi veer eklavya play shriram lila samiti

भक्ति संगीत से सजे कार्यक्रम का आरम्भ विभू बाजपेयी ने पंडित आदित्य द्विवेदी द्वारा लिखित रचना ’रिद्धि के स्वामी विनायक सिद्धि का उपहार दो’ पर भावपूर्ण अभिनय युक्त नृत्य प्रस्तुत कर दर्शकों को भगवान गणेश जी की भक्ति कर रसपान कराया।

चैती महोत्सव के आज का आकर्षण रहा गीतांजलि शर्मा का ब्रज का नृत्य। गीतांजलि शर्मा ने अपने कार्यक्रम का आरम्भ आरती युगल किशोरी की जय तन मन धन न्योछावर कीजे पर भावपूर्ण नृत्य से कर दर्शकों को मंत्र मुग्ध किया। मन को मोह लेने वाली इस प्रस्तुति के उपरान्त आयो रसिया मोर बन आयो रसिया पर आकर्षक नृत्य कर मयूर नृत्य की मोहक छटा बिखेरी।

chaiti mahotsav indian new year brij ki holi veer eklavya play shriram lila samiti
chaiti mahotsav indian new year brij ki holi veer eklavya play shriram lila samiti

इसी क्रम में गीतांजलि ने बांके बिहारी की देख छटा मेरो मन हय गायौ लता पता पर रिम भवई नृत्य, फाग खेलन बरसाने में आये हैं नटवर नन्द किशोर, आज बिरज में होरी रे रसिया और रंग बरसे रे गुलाल बरसे राधा रानी हमारी पे रंग बरसे पर लट्ठमार होली और फूलों की होली खेलकर दर्शकों को होली के रंग के मानिन्द सराबोर कर दिया। गीतांजलि ने चरकुला नृत्य से अपने कार्यक्रम को विराम दिया।

कार्यक्रम के अगले सोपान में भास्कर नाट्य कला केन्द्र कोलकाता की प्रस्तुति वीर एकलव्य नाटक आकर्षक का केन्द्र बिन्दु बनकर उभरा। नाट्य सारानुसार भगवान श्रीकृष्ण ने जब कंस को मारा तो जरासन्ध ने मथुरा पर आक्रमण कर दिया। इस घटना के बाद कृष्ण, बलराम और सभी बंधु बान्धव ने मथुरा छोड़ दिया। इस दौरान कृष्ण जी की चाची निहारिका ने एकलव्य को जंगल में छोड़कर कुत्ते के बच्चे को अपने साथ ले गई।

सुमेरू को पता चला कि जंगल में एकलव्य विद्यमान हैं, तब वह एकलव्य को लेकर उसे पालते पोसते हैं, इसी बीच जरासंध को पता चलता है कि एकलव्य सुमेरू के पास है तो वह उसे ढूंढते हुए वहां पहुंचता है, लेकिन सुमेरू होशियारी से एकलव्य को बहुत दूर छोड़कर कहते हैं कि अब यहां मत आना।

chaiti mahotsav indian new year brij ki holi veer eklavya play shriram lila samiti
chaiti mahotsav indian new year brij ki holi veer eklavya play shriram lila samiti

किसी प्रकार से एकलव्य निषादराज के पास पहुंचता है वहां पर उसका पालन पोषण होता है और युवावस्था में पहुंचने पर वह धनुष विद्या सीखने के लिए गुरू द्रोणाचार्य के पास जाता है जहां पर गुरू द्रोणाचार्य जी मना कर देते हैं, तब एकलव्य उनकी मिट्टी की मूर्ति बनाकर उससे शिक्षा ग्रहण करने लगते हैं। इस बात की जानकारी जब द्रोणाचार्य को लगती है तब वह एकलव्य से उसका अंगूठा मांग लेते हंै ताकि वह श्रेष्ठ धर्नुधर न बन पाए।

संगीत से सजे कार्यक्रम में अमृत सिन्हा ने सकल नृत्य संगम की सरिता प्रवाहित की। अमृत सिन्हा ने अपनी प्रस्तुति की शुरूवात सरस्वती आरती से कर विद्या की देवी सरस्वती जी के चरणों में अपनी अगाध श्रद्धा अर्पित की। इसी क्रम में अमृत ने भरतनाट्यम नृत्य के तहत पग पादम की उत्कृष्ठ प्रस्तुति दी।

chaiti mahotsav indian new year brij ki holi veer eklavya play shriram lila samiti

इसके अगले सोपान में अमृत ने पुष्पांजलि के अंतर्गत भगवती देवी दुर्गा के नवों रूपों के दर्शन दर्शकों को करवाए। भगवती के चरणों में समर्पित इस प्रस्तुति के उपरान्त भो शम्भों के तहत भगवान शिव शंकर के शान्त व रौद्र को अमृत ने भावाभिनय द्वारा दर्शाकर लोगों को भाव विभोर कर दिया।

मन को मोह लेने वाली इस प्रस्तुति के उपरान्त रिद्म डिवाइन इंस्टीट्यूट के छात्र-छात्राओं ने राजस्थानी घूमर नृत्य की मनोरम छटा बिखेरी। हृदय को हर्षातिरेक से भर देने वाली इस प्रस्तुति के उपरान्त अमृत सिन्हा ने शुभम् ब्रह्म प्रतापरा राम पर भावपूर्ण अभिनय युक्त नृत्य द्वारा भगवान श्रीराम की महिमा को रेखांकित किया।

14 अप्रैल को गुलमोहर डांस एकेडमी द्वारा बृज नृत्य माला, मंजू सिंह ग्रुप का स्तुति नृत्य व नृत्य नाटिका और कोलकाता भाष्कर नाट्य कला केन्द्र द्वारा गंगा अवतरण नाटक का मंचन होगा।

Written by Ranjeev Thakur

igcl brij ke chore and bhojpuri tigers won their cricket match

आईजीसीएल; बृज के छोरे और भोजपुरी टाइगर्स को मिली जीत

lok sabha election congress candiddate devbrat mishra from jaunpur

lok sabha election; जौनपुर से कांग्रेस ने देवब्रत मिश्रा पर खेला दाँव