in

अस्पताल में शिशुओं की खरीद-बिक्री का मामला उजागर, लाखों में लगती थी नवजात की बोली

buying and selling of infants in hospital was exposed, newborn's used in millions ramgarh jharkhand
buying and selling of infants in hospital was exposed, newborn's used in millions ramgarh jharkhand

नेशनल टीवी इंडिया : (ब्यूरो रिपोर्ट झारखंड) रामगढ़ में रांची रोड स्थित वृंदावन अस्पताल एवं रिसर्च सेंटर में शिशुओं की खरीद बिक्री का मामला उजागर हुआ है। लाखों में नवजात की बोली लगती थी। buying and selling of infants in hospital was exposed, newborn’s used in millions ramgarh jharkhand

बुधवार की देर रात को पुलिस के द्वारा अस्पताल से दो नवजातों को बरामद किया गया। पुलिस ने बताया कि दोनो नवजात को 15-15 हजार रुपये में कोलकाता से खरीद कर वृंदावन अस्पताल लाया गया था।

Nokia [CPS] IN
Nokia [CPS] IN

वहीं दोनों को 40 हजार रुपये की दर से बेचने की तैयारी थी। इसकी गुप्त सूचना जिला बाल कल्याण समिति को मिलने के बाद समिति ने पुलिस के सहयोग से अस्पताल में छापेमारी कर दोनों शिशुओं को बरामद किया। फिलहाल दोनों नवजातों को हजारीबाग के वात्सल्य गृह में रखा गया है।

buying and selling of infants in hospital was exposed, newborn's used in millions ramgarh jharkhand
buying and selling of infants in hospital was exposed, newborn’s used in millions ramgarh jharkhand
जिले की प्रसिद्ध डॉक्टरों में गिनी जाती है डॉक्टर मालती
वृंदावन अस्पताल की संचालिका डॉक्टर मालती पर नवजातों की खरीद बिक्री का आरोप लगा है। डॉक्टर मालती जिले की प्रसिद्ध डॉक्टर हैं। बुधवार रात को जब बाल कल्याण समिति के सदस्य वृंदावन अस्पताल पहुंची और नवजातों के बारे में जानकारी लेने की कोशिश की, तो डॉक्टर, दाई और नर्स ने अलग-अलग बयान दिए।

buying and selling of infants in hospital was exposed, newborn’s used in millions ramgarh jharkhand

लाखो में लगती थी नवजात शिशुओं की बोली

डॉक्टर मालती का कहना था कि वह दोनों नवजात को गोद लेना चाहती हैं। जबकि दाई का कहना था कि दोनों उसी के बच्चे हैं, लेकिन जब पुलिस ने कड़ाई से पूछताछ की तो अस्पताल में शिशुओं के खरीद- फरोख्त का बड़ा मामला सामने आया। पूछताछ में ये पता चला कि कोलकाता और आसपास के राज्यों से 15 से 20 हजार में शिशुओं को खरीद कर वृंदावन अस्पताल लाया जाता था और चार- चार लाख रुपये तक में बेचे जाते थे।
इनपुट – जर्नलिस्ट अमित कुमार 

Nokia [CPS] IN

Written by National TV

P. Chidambaram in CBI custody till August 26, CBI court verdict arrived

पी चिदंबरम 26 अगस्‍त तक सीबीआई हिरासत में, कोर्ट का फैसला आया

हिंदी में उपलब्ध टॉप 5 एडल्ट वेब सीरीज जो आपको अकेले ही देखनी चाहिए