in ,

अपोलोमेडिक्स में मरीज़ करता रहा वीडियो चैट, हो गई ब्रेन ट्यूमर की सर्जरी

brain tumor surgery during video chat with patient in ApolloMedics hospital lko
brain tumor surgery during video chat with patient in ApolloMedics hospital lko
लखनऊराजधानी के अपोलोमेडिक्स सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल में वीडियो चैट करते हुए मरीज की ब्रेन ट्यूमर की जटिल सर्जरी की गईं। brain tumor surgery during video chat with patient in ApolloMedics hospital lko
वीडियो चैट पर ज्यादातर लोग तो बात ही करते हैं लेकिन अगर कोई वीडियो चैट करके ब्रेन ट्यूमर की जटिल सर्जरी करवाए तो वाकई उसकी हिम्मत की दाद देनी होगी और करने वाले की भी। अपोलोमेडिक्स सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल ये शायद उत्तर प्रदेश में की गई पहली ब्रेन सर्जरी हो जिसमें मरीज अपने परिवार से वीडियो चैट करते हुए ब्रेन ट्यूमर की सर्जरी करवाई हो।
अपोलोमेडिक्स सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल में उन्नाव निवासी एक 20 वर्षीय युवक के ब्रेन ट्यूमर की अवेक सर्जरी अपने परिवार के साथ वीडियो चैट करते हुए की गई।
brain tumor surgery during video chat with patient in ApolloMedics hospital lko
brain tumor surgery during video chat with patient in ApolloMedics hospital lko
अपोलोमेडिक्स सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल के न्यूरो सर्जन डॉक्टर रवि शंकर ने बताया कि 20 वर्षीय नवयुवक को ब्रेन में बांयी ओर 5 से.मी. का ट्यूमर था जिसकी वजह से उसका दांया हाथ और पैर कमजोर हो रहा था। ये ट्यूमर एक लाख में से 2 लोगों में पाया जाता है। इसकी सर्जरी मरीज़ को बिना बेहोश हुये की जाती है। मरीज़ को इसकी जानकारी देने पर उसने घबराहट के कारण परिवारीजनो के सामने सर्जरी करवाने की इच्छा जताई।
लेकिन सर्जरी के दौरान परिवार का ओटी में रहना संभव नहीं था ऐसे में डाक्टर ने मरीज को सर्जरी के दौरान वीडियो चैट प्रस्ताव दिया जिस पर मरीज भी राज़ी हो गया। चार घन्टे तक चले इस आपरेशन के दौरान मरीज अपने परिवार से वीडियो चैट से सम्पर्क में था और उसकी सर्जरी कब पूर्ण हो गयी उसका उसको पता भी न चला।

brain tumor surgery during video chat with patient in ApolloMedics hospital lko

डॉक्टर रविशंकर ने बताया कि मरीज बीते दो साल से शरीर में कमजोरी से परेशान था इस ट्यूमर में ज्यादातर मरीज को ब्रेन के जिस दिशा में ट्यूमर होता है उसकी उल्टी दिशा का हाथ-पैर काफी कमजोर होने लगता है और कमजोरी इतनी बढ़ जाती है कि मरीज के शरीर का अंग लकवाग्रस्त भी हो सकता है। सर्जरी के बाद अब मरीज पूर्णतः स्वस्थ है और सामान्य रूप से अपने कार्य कर रहा है।
अपोलोमेडिक्स सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल के चेयरमैन डॉ सुशील गट्टानी ने इस सफल सर्जरी का श्रेय पूरी टीम को देते हुए कहा की अपोलो मेडिक्स सुपर स्पेशलटी हॉस्पिटल में आने वाले हर मरीज को विश्व विख्यात सुविधा देना उनका पहला उद्देश्य है। उपचार के उपरान्त मरीज सचिन को 4 दिन बाद हॉस्पिटल  से छुट्टी दे दी गई।
Nokia [CPS] IN

Written by National TV

youth RLD protest unnao rape case at gandhi statue GPO lko

उन्नाव रेप काण्ड के विरोध में युवा रालोद ने किया धरना प्रदर्शन

women's Safety awareness in SKD Academy and employment counseling camp held in IGNOU

एसकेडी एकेडमी में महिला सुरक्षा जागरूकता और इग्नू में रोजगार परामर्श शिविर का आयोजन हुआ