in ,

BIHAR : लोकसभा चुनाव-2014 में चली मोदी लहर में जनता के दिये झटके से हुए लालू-नीतीश हुए थे चारो खाने चित्त

BIHAR: Lalu-Nitish, who had been beaten by the public in the Lok Sabha election-2014

नेशनल टीवी इंडिया : (डेस्क रिपोर्ट बिहार) वर्ष 2014 का 16वीं लोकसभा का चुनाव बिहार में कई मायने में महत्वपूर्ण थी। पहले मायने को देखें तो उस समय एनडीए से अलग होकर नीतीश कुमार की जदयू अकेले चुनाव लङी थी। 2014  में एनडीए की धुर विरोधी बने राजद और जदयू  सहित सभी दलों के दिग्गजों को बिहार की जनता ने 2014 की मोदी लहर में नकार दिया था।

BIHAR: Lalu-Nitish, who had been beaten by the public in the Lok Sabha election-2014

बिहार की 40 लोकसभा सीटों पर हुए चुनाव में एनडीए का 31 सीटों पर कब्जा रहा था और वहीं नीतीश और लालू के एक होने की बड़ी वजह बनी थी। अलग-अलग चुनाव लड़ी लालू की पार्टी राजद को सिर्फ 4 सीटें मिली थी। नीतीश की पार्टी जेडीयू को वहीं महज 2 सीट पर संतोष करना पङा।

BIHAR: Lalu-Nitish, who had been beaten by the public in the Lok Sabha election-2014
BIHAR: Lalu-Nitish, who had been beaten by the public in the Lok Sabha election-2014

 

बिहार में हुए वर्ष 2014 की 16वीं लोकसभा के चुनाव ने कई समीकरणों को ध्वस्त कर दिया था। इस चुनाव में एक बड़ी बात यह हुई थी कि बिहार में लालू प्रसाद यादव और नीतीश कुमार की राजनीति चमक फीकी पड़ गई। दरअसल बात यह थी कि साल 2014 में नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में पूरे देश में ऐसी लहर चली कि सारे के सारे पूर्वानुुमान और सर्वे धरे के धरे रह गए. कई कद्दावर नेताओं को जनता ने ऐसा झटका दिया जो बाद के दौर में नए राजनीतिक समीकरणों का आधार बनीं। बिहार के संदर्भ में यह चुुुनाव खास इसलिए था कि मोदी लहर के असर से राजनीति में एक दूसरे के धुर विरोधी माने जाने वाले लालू-नीतीश भी एक हो गए थे।

BIHAR: Lalu-Nitish, who had been beaten by the public in the Lok Sabha election-2014

2014 में बिहार की 40 लोकसभा सीटों पर हुए चुनाव में किस दल को मिली थी कितनी सिटें
एनडीए – 31, 
आरजेडी – 4, 
जेडीयू – 2 
कांग्रेस – 2 
एनसीपी – 1
टोटल = 40
बाकी दलों का पत्ता साफ था 2014 कि मोदी लहर ने सबको कर दिया था पस्त
BIHAR: Lalu-Nitish, who had been beaten by the public in the Lok Sabha election-2014
BIHAR: Lalu-Nitish, who had been beaten by the public in the Lok Sabha election-2014
अगर अब बात करे सिर्फ एनडीए में किस पार्टी को कितनी सिटें मिली थी। बिहार की 40 सीटों पर हुए चुनाव में एनडीए ने 31 सीटों पर जीत दर्ज की थी। जो आकङे इस प्रकार हैं –
बीजेपी – 22  
एलजेपी को 6 
आरएलएसपी – 3 
टोटल = 31

BIHAR: Lalu-Nitish, who had been beaten by the public in the Lok Sabha election-2014

एक नजर इस बार की 17वीं लोकसभा चुनाव मे एनडीए खेमे पर डालें तो इस प्रकार है।
स्थिति हालांकि इस बार उलट है क्योंकि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एक साथ आ गए हैं और रामविलास पासवान अब भी एनडीए का हिस्सा हैं।आरएलएसपी जरूर अलग हो गई है, लेकिन नीतीश कुमार के आने के साथ एनडीए खेमा पहले से और मजबूत दिख रहा है.
एक नजर महागठबंधन की खेमें पर डालें तो इस प्रकार है 
BIHAR: Lalu-Nitish, who had been beaten by the public in the Lok Sabha election-2014
BIHAR: Lalu-Nitish, who had been beaten by the public in the Lok Sabha election-2014
वही दूसरी ओर देखें तो आरजेडी, कांग्रेस, आरएलएसपी, हम, लेफ्ट और मुकेश सहनी की वीआईपी के एक साथ आने से इस बार जातिगत समीकरण कुछ अलग नजर आ रहे हैं. वही आरजेडी अपने ‘MY’ समीकरण यानी कि मुस्लिम यादव के फॉर्मूले पर आगे बढ़ रही है तो कांग्रेस मुस्लिमों के साथ सवर्णों को साधने में लगी है.

BIHAR: Lalu-Nitish, who had been beaten by the public in the Lok Sabha election-2014

दलित समुदाय को गोलबंद करने में लगी है महागठबंधन
BIHAR: Lalu-Nitish, who had been beaten by the public in the Lok Sabha election-2014
BIHAR: Lalu-Nitish, who had been beaten by the public in the Lok Sabha election-2014
वहीं मांझी, कुशवाहा, सहनी और लेफ्ट पार्टियों के गठजोड़ से पिछड़े और दलित समुदाय को गोलबंद करने में लगी है. जाहिर है यह गोलबंदी अगर जमीन पर मजबूत होगी तो एनडीए के लिए परेशानी का सबब हो सकती है. लेकिन सवाल ये है कि यह वोटिंग के दौरान किस पैटर्न पर चलती है यह देखना दिलचस्प होगा.

BIHAR: Lalu-Nitish, who had been beaten by the public in the Lok Sabha election-2014

एक नजर 2014 में हुए चुनाव की विधानसभावार स्थिति पर
BIHAR: Lalu-Nitish, who had been beaten by the public in the Lok Sabha election-2014
BIHAR: Lalu-Nitish, who had been beaten by the public in the Lok Sabha election-2014
वहीं विधानसभावार स्थिति पर नजर डालें तो 243 क्षेत्रों में 122 क्षेत्रों में बीजेपी आगे थी, 34 क्षेत्रों में एलजेपी आगे थी और 17 क्षेत्रों में कुशवाहा की पार्टी आगे थी. यानि 243 में 173 क्षेत्रों में एनडीए आगे था। 2014 के लोकसभा चुनाव में पड़े वोटों को विधानसभा क्षेत्रों में बांटें तो लालू की पार्टी 32 क्षेत्रों में आगे थी, नीतीश की पार्टी 18 विधानसभा क्षेत्रों में आगे थी और नीतीश के साथ चुनाव लड़ने वाली सीपीआई 1 क्षेत्र में आगे थी। कांग्रेस 14 विधानसभा क्षेत्रों में आगे थी और एनसीपी 5 में आगे थी।
बिहार से अमित कुमार की विशेष रिपोर्ट 

Written by Ranjeev Thakur

lok sabha election cm yogi attack on sp bsp congress for corruption

अखिलेश अब प्रदेश के किसी गांव में चले जाएंगे तो मुंह दिखाने लायक नहीं रहेंगे : सीएम योगी

congress rahul gandhi pm modi viral on social media

कांग्रेस अध्यक्ष ने जब कॉलेज छात्रा से कहा कि ‘मुझे सर नहीं, राहुल कहो