in

पढ़े कमलेश तिवारी हत्याकांड का पूरा अपडेट

Kamlesh tiwari dead body

हिंदूवादी नेता कमलेश तिवारी की निर्मम हत्या से दहला प्रदेश

हिंदू महासभा के पूर्व नेता और हिंदू समाज पार्टी (Hindu Samaj Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमलेश तिवारी (Kamlesh tiwari)  (50) की शुक्रवार को दो बदमाशों ने लखनऊ में बेरहमी से हत्या कर दी।

दोनों बदमाश भगवा कपड़े पहने हुए थे और मिठाई के डिब्बे में पिस्टल व चाकू छिपाकर लाए थे। दोनों नाका स्थित खुर्शेदबाग की तंग गलियों में स्थित कमलेश (Kamlesh tiwari) के घर पहुंचे।

Nokia [CPS] IN

पहली मंजिल स्थित पार्टी दफ्तर में पहले उनकी गर्दन पर गोली मारी। फिर चाकू से ताबड़तोड़ वार करने के बाद गला रेत दिया। पुलिस ने मौके से .32 बोर की एक पिस्टल व एक खोखा बरामद की।

कमलेश तिवारी की हत्या की वारदात से प्रदेश में हड़कंप मच गया। हिंदूवादी संगठनों के पदाधिकारी और कार्यकर्ता सड़क पर उतरे। अमीनाबाद बाजार बंद कराकर नारेबाजी की।

तनाव को देखते हुए कई थानों की पुलिस फोर्स और रैपिड एक्शन फोर्स तैनात कर दी गई। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूरे मामले में अपर मुख्य सचिव गृह व डीजीपी से रिपोर्ट तलब की।

देर रात पुलिस ने कड़ी सुरक्षा में कमलेश का शव उनके गृह जनपद सीतापुर भेजा।

 

24 घंटे में सुलझायी कमलेश हत्याकांड की गुत्थी : डीजीपी

DGP Of Uttar Pradesh

डीजीपी ओम प्रकाश सिंह ने शनिवार को प्रेस कांफ्रेस में यह जानकारी दी कि हिन्दू समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमलेश तिवारी (Kamlesh tiwari) की हत्याकांड में शामिल मुख्य साजिशकर्ता रशीद पठान, कमलेश के कत्ल को वाजिब बताने वाला मौलाना मोहसिन शेख और 16 अक्तूबर को मिठाई खरीदने वाले फैजान युनुस को गिरफ्तार किया गया।

Kamlesh Tiwari With Vinod Prajapati


Nokia [CPS] IN

हिन्दू समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमलेश तिवारी के साथ नेशनल टीवी के पूर्व प्रधान संपादक विनोद प्रजापति जी !

हत्या करने वाले दो युवकों को गिरफ्तार करने के लिए अलग अलग टीमें बनाई गई। उन्होंने बताया कि कमलेश की हत्या 2015 पैेगंबर साहब को लेकर दिए गए विवादित बयान की वजह से की गई। इस घटना को अंजाम देने का प्लान रशीद पठान ने बनाया।

 

हत्याकांड के तार गुजरात के सूरत से जुडे

डीजीपी के अनुसार घटना स्थल से मिले मिठाई के डिब्बे और डिब्बे में मिली रसीद ने इस खुलासे में अहम भूमिका निभाई। रसीद पर तारीख और समय पड़ा था।

इतना ही नहीं जिस नंबर से आखिरी बार अभियुक्तों ने कमलेश तिवारी से बात की थी, उसी नंबर से गुजरात के कई नंबरों पर बात की गई।

जिससे पुलिस को इस हत्याकांड का सिरा तलाशने में आसानी हुई। डीजीपी ने बताया कि उन्होंने खुद गुजरात के डीजीपी से बात कर मदद मांगी।

गुजरात एटीएस सीधे मिठाई की दुकान पर पहुंची और वहां का सीसीटीवी फुटेज खंगाला तो उसमें एक युवक मिठाई लेता हुआ दिखाई दे रहा है।

एटीएस ने उसकी शिनाख्त फैजान के रूप में की। देर रात एटीएस ने फैजान को गिरफ्तार किया और फिर मोहसिन और राशिद को भी गिरफ्तार कर लिया गया।

 

बिजनौर का नामजद मौलाना भी हुआ गिरफ्तार

हिंदूवादी नेता कमलेश तिवारी की पत्नी किरण कमलेश तिवारी की ओर से दी गई तहरीर में नामजद मौलाना अनवारुल हक और मुफ्ती मोईन कासिमी को भी हिरासत में लिया गया।

इस मामले में लखनऊ पुलिस, यूपी एटीएस, यूपी एसटीएफ, बिजनौर पुलिस और गुजरात पुलिस व एटीएस द्वारा छानबीन की जा रही है।

 

लखनऊ होटल से बरामद हत्या के कपडे सहित अन्य सुराग

राजधानी दिल्ली के खालसा होटल से संदिग्ध सामान बरामद हुआ। कमरे से भगवा कपड़े मिले। बरामद कपड़ों पर खून के निशान मिले हैं। पुलिस मौके पर पहुंची है। पुलिस ने संदिग्ध सामान को कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है।

लखनऊ के होटल खालसा में संदिगध  शेख अशफाक और पठान मोइनुद्दीन अहमद के नाम की आईडी से बुक किए गए थे। ये दोनों होटल के कमरा नम्बर G 103 में रुके थे।

17 अक्तूबर की रात 11:08 मिनट पर होटल आए। 18 अक्तूबर को सुबह 10:38 पर चले गए। इसके बाद फिर एक बजकर 21 मिनट पर वापस आए। एक बजकर 37 मिनट पर फिर से वापस चले गए।

पुलिस को होटल के कमरे की अलमारी में बैग, लोअर, लाल रंग का कुर्ता मिला है। बेड पर भगवा कुर्ता मिला। जिसमें खून के धब्बे मिले हैं। बेड पर एक बैग भी पुलिस को मिल हैं। इसके अलावा खून का धब्बे लगा एक तौलिया भी मिला।]

 

अखिलेश यादव ने उठाये सीएम योगी पर सवाल

सपा मुखिया अखिलेश यादव ने शनिवार को रामपुर में कमलेश तिवारी की हत्या पर योगी सरकार को सवालों के कटघरे में खडा किया।

उन्होंने प्रदेश की बदहाल कानून व्यवस्था पर भी सवाल उठाए। अखिलेश यादव ने कहा कि लखनऊ में हिंदू महासभा के नेता कमलेश तिवारी की हत्या कर दी गई।

आज उस कमलेश तिवारी की मां भी सपा सरकार और आजम खां के काम को याद कर रही है कि आजम खां और सपा सरकार में उन्हें सुरक्षा मिली। आज तो हालात यह है कि जनता और पुलिस का पता नहीं चलता कि कौन क्या-क्या ठोंक रहा है।

सीएम योगी से मिला कमलेश तिवारी का परिवार

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की कमलेश तिवारी के परिजनों की मुलाकात की। सीएम आवास पर कमलेश की मां, पत्नी व बेटे मौजूद थे।

CM yogi with kamlesh tiwari's family

बता दें कि हत्या के बाद कमलेश की मां ने कहा था कि वह मुख्यमंत्री के आने पर ही अंतिम संस्कार करेंगी लेकिन प्रशासन के समझाने पर शनिवार को सीतापुर में कमलेश का अंतिम संस्कार कर दिया गया। जिसके बाद अब मुख्यमंत्री योगी परिजनों से मुलाकात की।

गुजरात ATS ने राजस्थान सीमा के पास से दोनों आरोपितों को किया गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश के कमलेश तिवारी हत्याकांड में जांच एजेंसियों को बड़ी कामयाबी मिली है। गुजरात एटीएस ने इस मामले के दोनों मुख्य आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया गया है। इनकी पहचान अशफाक शेख और मोइनुद्दीन पठान के रूप में हुई है।

murderer of kamlesh Tiwari

Nokia [CPS] IN

गुजरात एटीएस ने दोनों को राजस्थान सीमा पर श्यामलाजी के पास से गिरफ्तार किया। दोनों आरोपितों ने कमलेश तिवारी की हत्या करने की बात कुबूल कर ली है। दोनों आरोपी सूरत के रहने वाले हैं। दोनों आरोपितों को गुजरात एटीएस जल्‍द ही यूपी पुलिस को सौंपेगी।

Nokia [CPS] IN

Written by National TV

Crime in Uttar Pradesh

जंगलराज : युवक पर तलवार से हमला

आल इंडिया फेयर प्राइस शॉप डीलर एसोसिएशन संघ बरहज के कोटेदारों ने अपनी मांगों को लेकर किया रासन उठान का बहिष्कार