in

डिप्टी सीएम केशव मौर्य के विरूद्ध गिरफ्तारी वारंट जारी

प्रयागराज / इलाहाबाद : उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के विरूद्ध प्रयागराज की सांसद विधायक स्पेशल कोर्ट ने गिरफ्तारी वारंट जारी किया है। आचार संहिता उल्लंघन के मामले में चल रहे मुकदमे में पेश न होने पर स्पेशल कोर्ट ने केश्व मौर्य को चेतावनी दी है कि वह अगली सुनवाई पर हाजिर होकर अपनी जमानत कराये, अन्यथा उनके विरूद्ध कडी कानूनी कार्यवाही की जायेगी। गौरतलब है कि केशव मौर्य के विरूद्ध चल रहे इस मुकदमे में 23 मार्च 2017 को ही वारंट जारी किया गया है। लेकिन कोर्ट के आदेश की अवेहलना कर रहे केशव मौर्य पर अब स्पेशल कोर्ट ने सख्त रूख अख्तियार किया है और कोर्ट में पेश होकर जमानत ना कराने पर कडी कार्यवाही की चेतावनी दी है।  इस मामले की अगली सुनवाई  29 अप्रैल 2019 को होगी। मुकदमे पर सुनवाई स्पेशल कोर्ट के जज पवन कुमार तिवारी कर रहे हैं।
क्या है मामला
उत्तर प्रदेश के मौजूदा उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के खिलाफ 2007 में आचार संहिता उल्लंघन का मामला दर्ज किया गया था। केशव मौर्य पर आरोप था कि प्रतिबंधित क्षेत्र में केशव कमल का फूल का बैज लगाकर नारेबाजी करते हुए गये। इस दौरान उन्हे पुलिस ने रोकने का प्रयास किया लेकिन केशव मौर्य नहीं माने और केंद्राचल कालोनी से गुजरे। इस मामले में सब इंस्पेक्टर राजेंद्र प्रसाद की ओर से केशव मौर्य के विरूद्ध 2 मई 2007 को रिपोर्ट दर्ज करायी गयी। मामले में पुलिस ने चार्जसीट दाखिल की और सुनवाई शुरू हुई तो केशव मौर्य को कयी बार समन जारी किया गया। लेकिन केशव मौर्य जब कोर्ट में हाजिर नहीं हुये तो उनके विरूद्ध  23 मार्च 2017 को जमानती वारंट जारी किया था। जिसका आज तक अनुपालन नहीं किया गया है। यह मामला अब प्रयागराज की सांसद विधायक स्पेशल कोर्ट में पहुंचा तो केशव को हाजिर होकर जमानत कराने की सख्त चेतावनी दी गयी है। कोर्ट ने कहा है कि हाजिर नहीं होने पर कोर्ट अन्य कडी कार्रवाई के आदेश करेगी।
Nokia [CPS] IN

Written by Amarish Shukla

यूपी : वहशीपन में युवक ने 7 महीने की बछिया और पड़िया से किया कुकर्म, गिरफ्तार

JNU की छात्रा से प्रयागराज एक्सप्रेस में छेडखानी करने वाला टीटीई सस्पेंड