in

इलाहाबाद यूनिवर्सिटी अब तक 15 हॉस्टल के 474 कमरे सील, छात्रों में सुलग रही चिंगारी

प्रयागराज / इलाहाबाद : इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में छात्र नेता रोहित शुक्ला की हत्या के बाद हाईकोर्ट के सख्त रूख से शुरू हुआ कार्रवाई का दौर लगतार पांच दिनों से जारी है। बदमाशों का अड्डा बन चुके यूनिवर्सिटी के हास्टलों को खाली कराने के लिये अब तक के सबसे बडे प्रशासनिक अभियान का असर भी दिखने लगा है। अब तक विश्वविद्वालय प्रशासन व जिला प्रशासन के संयुक्त अभियान में 15 हॉस्टल के 474 कमरे सील किये जा चुके हैं। इन कमरों पर अवैध रूप से कब्जा किया गया था और अवैध कब्जा करने वालों के विरूद्ध रिपोर्ट दर्ज कर कानूनी कार्रवाई भी शुरू कर दी गयी है। हालांकि कानून कार्रवाई के दूसरे पहलू से अब यूनविर्सिटी का माहौल और खराब हो रहा है। छात्र संघ के साथ छात्र संगठन इस कार्रवाई के खिलाफ लामबंद हो चुके हैं और हर रोज यह चिंगारी तेजी से सुलग रही हैं। प्रशासन को भी इस बात की आशंका है कि छात्रों का गुट किसी भी वक्त शहर में बडा बवाल कर सकता है, जिसे देखते हुये यूनिवर्सिटी का पूरा इलाका पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया है और सुरक्षा को प्रमुखता से आरएएफ के हवाले कर दिया गया है। इसके अलावा, पुलिस व पीएसी के जवानों का अलग से घेरा बनाया गया है।
कहां कितने कमरे हुये सील
हाईकोर्ट के सख्त रूख के बाद 22 अप्रैल को विश्वविद्वालय प्रशासन और जिला प्रशासन को अपना जवाब दाखिल करना है और जवबा दाखिल करने के लिये ही प्रशासन ताबडतोड कार्रवाई कर रहा है। जिसके क्रम में पीसी बनर्जी छात्रावास में 54 कमरे, सर सुंदर लाल में 43, डायमंड जुबिली में 46, केपीयूसी में 45, सर जीएन झा में 37, एस.राधाकृष्णन में 23, हिंदूू हॉस्टल में 35, अमरनाथ झा में एक, मुस्लिम बोर्डिग में 12, विलियम हालैंड हॉल में 25, पंत हॉस्टल में 79, एसडी जैन में 32 कमरो को सील किया गया है।
ऑपरेशन क्लीन अनवांटेड आउट
इलाहाबाद विश्वविद्यालय के पीसीबी हॉस्टल में रोहित शुक्ला की हत्या के बाद हाईकोर्ट की गहरी नाराजगी जाहिर होते ही हॉस्टलों पर बड़ी कार्रवाई करने की योजना मंगलवार देर रात में पुलिस के आलाधिकारियों ने बनाई और बिल्कुल सुबह जब छात्रावास नींद के आगोश में था तो ‘ऑपरेशन क्लीन अनवांटेड आउट’ शुरू कर दिया। इसका क्रम लगातार पिछले पांच दिनों से चल रहा है और अब तक 15 छात्रावासों को खाली करा लिया गया है। जहां हास्टल में अवैध कब्जा व पढाई से इतर चीजें बरामद हुई हैं।
हाईकोर्ट खुद करेगी मॉनिटरिंग
इलाहाबाद यूनिवर्सिटी का नाम हत्या, बमबाजी, अराजकता, गुडागर्दी जैसे मामलों में टाप पर आने और पढाई का ग्राफ शून्य को ओर जाता देख अब हाईकोर्ट भी पूरी तरह से सख्त हो गया है। हाईकोर्ट ने अपनी गहरी नाराजगी यूनिवर्सिटी प्रशासन व जिला पुलिस प्रशासन के प्रति व्यक्त करते हुये कहा कि कभी पूरी दुनिया में अपनी शैक्षिक गुणवत्ता के लिये यह संस्थान अग्रणी था, दुनिया इस पूरब का आक्सफोर्ड कहती थी, लेकिन आज विश्वविद्वालय का परिसर आपराधिक गतिविधियों का मैदान बन चुका है और विश्वविद्वालय प्रशासन मूक दर्शक बन कर सबकुछ देख रहा है। मुख्य न्यायमूर्ति गोविंद माथुर और न्यायमूर्ति एसएस शमशेरी की पीठ अब इस मामले में स्वत: संज्ञान के तहत याचिका पर सुनवाई करेगी और संभावना कि वह ठोस कदम भी उठायेगी। हाईकोर्ट ने कानून व्यवस्था पर तंज कसते हुये कहाकि अब वह खुद  इस बात पर संज्ञान ले रहे हैं कि इस सब में अधिकारियों की कितनी जिम्मेदारी है। शहर और आसपास के इलाके में कानून-व्यवस्था की अदालत खुद मॉनिटरिंग करेगी।
क्या है मामला
इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के पूर्व छात्र नेता रोहित शुक्ला उर्फ बेटे की यूनिवर्सिटी के पीसीबी हास्टल गेट के पास दो दिन पहले गोली मारकर हत्या कर दी गयी। मामले में हत्या के तार दूसरे छात्र नेताओं से ही जुटे हुये हैं। पता चला है कि दोनो पक्ष अवैध रूप से ही हास्टल में रह रहे हैं और उनके कब्जे में हास्टल के कयी कमरे हैं। हालांकि हत्या में कोई शैक्षिक विवाद नहीं है, बल्कि बिजनेस का मामला है। लेकिन छात्र नेता के नाम पर ही गुंडई और ठेके का काम लिया जाता है। विश्विविद्वालय में पूर्व छात्र नेताओं के नाम पर काम हों और वर्चस्व रहे इसके लिये आये दिन बमबाजी और बवाल होते रहते हैं और यह कोई नयी बात नहीं, बल्कि छात्रसंघ चुनाव की बहाली के साथ ही ऐसा होता आया है। फिलहाल मामले में पुलिस की जांच अभी चल रही है और हत्यारोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उनकी तलाश की जा रही है। वहीं रोहित की हत्या के बाद विश्वविद्वालय का माहौल पूरी तरह से खराब हो गया है और पूरे इलाके को कडी सुरक्षा व निगरानी में रखा गया है। इस दौरान एक बारात में हास्टल के छात्रों का भयंकर हुडदंग और बवाल भी इस कार्रवाई का प्रमुख कारण बना हुआ है।
Nokia [CPS] IN

Written by Amarish Shukla

कौशांबी में नानी के घर आयी किशोरी व ममेरी बहन के साथ तमंचे के बल पर गैंग रेप

प्रयागराज एक्सप्रेस में JNUकी छात्रा को गलत तरीके से छू रहा था टीटी फिर…