in

इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में शोध कर रही छात्रा को अकेली देखकर कर्मचारी खींच ले गया कमरे में….एफआईआर दर्ज

इलाहाबाद / प्रयागराज : इलाहाबाद यूनिवर्सिटी से बड़ी खबर है। यहां छेड़खानी और रेप के प्रयास का एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। यूनिवर्सिटी में शोध कर रही एक छात्रा से रेप का प्रयास किया गया और आरोपी विश्विद्वालय का ही कर्मचारी है । आश्चर्य की बात यह है कि यूनिवर्सिटी कैंपस के अंदर ही पूरी घटना हुई है। पीड़ित छात्रा ने मामले में यूनिवर्सिटी के ही एक कर्मचारी को नामजद किया है और एफआईआर दर्ज करा दी है।  आरोप है कि कालेज से घर लौटने के लिये निकली छात्रा को अकेली देखकर कर्मचारी कमरे में खींच ले गया और उसके साथ जोरजबरदस्ती करने लगा। हालांकि छात्रा के कर्मचारी से भिड़ जाने व पुरजोर विरोध के बाद आरोपी अपने मनसूबे में कामयाब नहीं हुआ।
मनोविज्ञान में शोध कर रही है छात्रा
प्रयागराज शहर की रहने वाली एक छात्रा इलाहाबाद यूनिवर्सिटी से मनोविज्ञान विषय में शाोध कर रही है। शनिवार की शाम 5 बजे वह कैंपस से घर जाने के लिये निकली। इस दौरान सूनसान जगह व अकेली छात्रा को देखकर यूनिवर्सिटी में कार्यरत गोविंद नाम के एक कर्मचारी ने छात्रा का रास्ता रोक लिया और इससे पहले की वह कुछ समझ पाती युवक, छात्रा को कमरे में खींच ले गया। छात्रा ने विरोध किया और गोविंद से बचने के लिये भिड गयी। इस दौरान वह गिर पड़ी जिससे उसको चोट भी आयी। पुरजोर विरोध के बीच किसी तरह खुद को बचाकर छात्रा भाग निकली और सीधे कर्नलगंज थाने पहुंची। जहां छात्रा की शिकायत के बाद आरोपी कर्मचारी गोविंद को हिरासत में लिया गया। हालांकि थाने में दबाव के बाद दोनों पक्षों में बातचीत होने के बाद छात्रा ने मुकदमा दर्ज नहीं कराया। उस समय आरोपी कर्मचारी को पुलिस ने  सख्त चेतावनी देकर छोड़ दिया था।
चार दिन बार कराया एफआईआर
घटना के चौथे दिन मामले में छात्रा ने तहरीर देकर कर्नलगंज थाने में आरोपी गोविंद के विरूद्ध एफआईआर दर्ज करायी तो यह मामला सुर्खियों में आ गया। मामले में अब पुलिस ने कानूनी कार्रवाई शुरू की तो आरोपी गोविंद फरार हो गया। पुलिस जांच में पता चला है कि समझौता हो जाने के बाद भी गोविंद छात्रा पर गलत नजर बनाये हुये था और उसे दबोचने के फिराक में था। फिलहाल कर्मचारी के विरूद्ध एफआईआर दर्ज होने के बाद यूनिवर्सिटी प्रशासन भी अब आरोपी पर कार्रवाई करने की तैयारी में है। फिलहाल घटना के बाद से एक बार फिर से इलाहाबाद यूनिवर्सिटी की शाख को गहरा धक्का लगा है। वहीं, दूसरी ओर मामले में छात्र संगठन भी कड़ी व तत्काल कार्रवाई न किये जाने पर हंगामा कर सकते हैं, जिसे देखते हुये यूनिवर्सिटी कैंपस में सुरक्षा बढा दी गयी है।
Nokia [CPS] IN

Written by Amarish Shukla

हाईकोर्ट का बड़ा आदेश अब हस्ताक्षर व अगूंठे का निशान मैच न होने पर सीधे कार्रवाई व चयन से नहीं बाहर होंगे चयनित, सीआरपीएफ के 36 अभ्यर्थियों को राहत

Governor ram naik book 'Charavaiti! Charavaiti !! Visually impaired will be available in Hindi, English and Marathi

राज्यपाल की पुस्तक ‘चरैवेति!चरैवेति!! दृष्टिबाधितों के लिये हिन्दी, अंग्रेजी और मराठी में भी उपलब्ध होगी