in

बिहार सरकार ने इस CO को दी थी लूट की छूट, दो लाख रुपये रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा गया

जर्नलिस्ट अमित कुमार 

नेशनल टीवी इंडिया : (ब्यूरो रिपोर्ट बिहार) औरंगाबाद जिले में आज सोमवार को निगरानी विभाग ने बड़ी कार्रवाई की है. जिले के दाउदनगर प्रखंड के अंचल अधिकारी विनोद कुमार को रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया है. उनके आवास पर रविवार देर रात ही निगरानी विभाग के अधिकारियों ने कार्रवाई की थी. अंचल अधिकारी विनोद कुमार पर आरोप है कि वे जमीन से जुड़े एक मामले में दो लाख रुपए रिश्वत की मांग कर रहे थे. इसकी जानकारी पीड़ित ने पहले निगरानी विभाग को दी, जिसके बाद हरकत में आये अधिकारियों ने पूरी तैयारी के साथ रविवार से ही उन्हें घेर लिया था.

Nokia [CPS] IN

विनोद कुमार पर पद के दुरूपयोग का आरोप नया नहीं है. वे करप्शन के इस खेल के पुराने खिलाड़ी हैं. विनोद कुमार इसके पहले भी करप्शन के आरोप में जेल जा चुके हैं. हालांकि यहां बात ये बड़ी नहीं है कि वे करप्शन के आरोप में पहले भी जेल जा चुके हैं. बात यह बड़ी है कि वे जेल से आने के बाद फिर वापस अपनी नौकरी पर योगदान कर चुके थे. सवाल यही खड़ा होता है कि एक सरकारी अधिकारी जो करप्शन में जेल गया हो, और जमानत मिलने पर बाहर आने के बाद फिर अपने पद पर कैसे योगदान कर सकता है. 

बताया जा रहा है कि मामला पिछले ही साल का है. बीते साल नवंबर महीने में विनोद कुमार को धान अधिप्राप्ति के मामले में गिरफ्तार किया गया था. गिरफ्तारी के बाद ये करीब 18 दिन जेल में रहे थे. इसके बाद जेल से जमानत पर बाहर आते ही विनोद कुमार ने फिर से अपने पद पर योगदान कर लिया था.


Nokia [CPS] IN

जानने वाले बताते हैं कि सरकारी कर्मी अगर एक बार 24 घंटे के लिए भी जेल चले जाते हैं, तो नियमतः उन्हें निलंबित कर दिया जाता है. लेकिन दाउदनगर प्रखंड के अंचल अधिकारी विनोद कुमार के मामले में इस नियम का पालन नहीं किया गया. सवाल यह भी है कि औरंगाबाद के पूर्व जिलाधिकारी कंवल तनुज ने उनपर कार्रवाई क्यों नहीं की. कँवल तनुज अभी खुद भी करप्शन के आरोपों में औरंगाबाद से हटाये जा चुके हैं.

Nokia [CPS] IN

मालूम हो कि विनोद कुमार को आज दो लाख रुपये रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा गया है. दरअसल निगरानी विभाग को इस बाबत सूचना मिली थी कि विनोद कुमार नासरीगंज पुल निर्माण के लिए जमीन अधिग्रहण मामले में रिश्वत मांग रहे हैं. सूचना की पहले पुष्टि की गई. जानकारी सही पाए जाने पर निगरानी की टीम पटना से दाउदनगर के लिए रवाना हुई. निगरानी की टीम औरंगाबाद पहुंचते ही बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया. विनोद कुमार के आवास पर छापेमारी कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया.

Nokia [CPS] IN

Written by National TV

Comments

Leave a Reply

Loading…

0

Comments

0 comments

हरिद्वार मे क्यो नही हो सकता श्री देवी का अस्थिविसर्जन जानिये पुरोहित क्यो कर रहे विरोध

अब पांच साल के बच्चों का भी आधार कार्ड बनाना अनिवार्य , जानिये कैसे और क्यो