in

अररिया में देश विरोधी नारे लगाने वाले 2 मुस्लिम युवक गिरफ्तार, सरफराज आलम की जीत में लगे थे नारे

नेशनल टीवी इंडिया : (ब्यूरो रिपोर्ट बिहार) बिहार के अररिया जिले में लोकसभा उपचुनाव नतीजों के बाद पाकिस्तान समर्थक नारें लगाए जाने के मामले में त्वरित कार्रवाई हुई है. अररिया लोकसभा उपचुनाव नतीजों के बाद देश विरोधी नारे लगाने के आरोप में दो युवकों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. दरअसल, अररिया लोकसभा उपचुनाव नतीजों के बाद एक वीडियो वायरल हो रहा है. इसमें दो युवक देश विरोधी नारे लगाते दिख रहे हैं. 

वायरल वीडियो में आपत्तिजनक शब्दों का प्रयोग किया गया है. हालांकि इस वीडियो की पुष्टि नेशनल टीवी इंडिया नहीं कर रहा है. अररिया के वायरल वीडियो मामले में 3 पर केस दर्ज, सरफराज आलम ने बताया BJP की साजिश.

Nokia [CPS] IN

इस मामले पर अररिया के पूर्व सांसद और बीजेपी नेता प्रदीप सिंह ने कहा कि बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय ने चुनाव प्रचार के दौरान कहा था कि सरफराज जीत जाता है तो अररिया आईएसआईएस का अड्डा बन जाएगा और यह वीडियो इस बात की पुष्टि करता है. उन्होंने कहा कि इस वायरल वीडियो ने पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए गए हैं, जो काफी दुर्भाग्य की बात है.

प्रदीप सिंह ने कहा कि मैंने फोन कर प्रशासन पर ऐसे देशद्रोहियों के खिलाफ मामला दर्ज कर कार्रवाई करने की बात कही है. वहीं आरजेडी नेता पोलो झा ने फोन पर कहा कि वायरल यह वीडियो बीजेपी वालों की ही करतूत हो सकती है. वहीं अररिया एसडीपीओ ने कहा कि इस वायरल वीडियो की बात सामने आई है. मामले की जांच कर कार्रवाई की जाएगी.

Nokia [CPS] IN

बता दें कि बिहार के सीमांचल इलाके में उपचुनाव के बाद राजनीति में नया उबाल आ गया है. अररिया लोकसभा सीट पर चुनाव नतीजे आने के बाद जिले में अशांति फैलामे की कोशिशें तेज हो गई हैं. इसी क्रम में एक वायरल वीडियो ने बिहार के सोशल मीडिया स्पेस में बुधवार से ही सनसनी मचा रखी है. इसमें कुछ युवकों द्वारा कथित तौर पर देशविरोधी नारेबाजी की गई थी. अब इस मामले में अररिया जिला प्रशासन ने कार्रवाई शुरू कर दी है. इसी कार्रवाई के तहत दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

Nokia [CPS] IN

Written by National TV

Comments

Leave a Reply

Loading…

0

Comments

0 comments

शरीर को बनाना है फौलादी तो महीने में खाए इस चीज की सिर्फ 4 खुराक

केजरीवाल के झूठे आरोप लगाने वाली राजनीति से आहत होकर भगवंत मान ने दिया इस्तीफा,