in

अन्ना हजारे ने दिया लोकसभा-विधानसभा इलेक्शन के कैंडिडेट्स पर बङा बयान

नेशनल टीवी इंडिया :  चुनाव सुधारों और लोकपाल को लेकर अगले महीने ‘सत्याग्रह’ करने जा रहे समाजसेवी अन्ना हजारे ने लोकसभा और विधानसभा चुनावों में प्रत्याशी के चेहरे को ही चुनाव चिह्न बनाने का सुझाव दिया. हजारे ने सदरौना स्थित मान्यवर काशीराम शहरी आवास कालोनी में जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि अगर लोकतंत्र को मुक्त कराना है तो इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) में प्रत्याशी की फोटो को ही चुनाव चिह्न बनाया जाये.

अन्ना हजारे ने कहा कि इससे ना सिर्फ चुनाव चिह्नों की नीलामी बंद होगी बल्कि प्रत्याशी चुनाव जीतने के बाद भी जनता के बीच रहने को बाध्य होगा. उन्होंने कहा कि भविष्य में भी उसे अपने चेहरे की पहचान कराने से ही वोट मिलेगा, इससे राजनीतिक भ्रष्टाचार पर लगाम लगेगा. 

Nokia [CPS] IN

हजारे ने ‘राइट टू रिजेक्ट’ को प्रभावी बनाने और वोटों की गिनती मशीन से करने की मांग करते हुए कहा कि इससे लोकतंत्र को प्रभावी बनाया जा सकता है. चुनाव प्रणाली में सुधार के बिना ना तो राजनीतिक भ्रष्टाचार पर लगाम लग सकेगी और ना ही जनहित में कार्य होगा. चुनावी खामी के कारण ही जनता की सरकार बनने के बजाय दल की सरकार बनती है, इसीलिए सरकारें जनहित के बजाय ‘दलहित’ में काम करती हैं.

Nokia [CPS] IN

पहली बार लखनऊ आये हजारे ने कहा कि वह लोकपाल, किसान समस्या और चुनाव सुधार के लिए दिल्ली में 23 मार्च से सत्याग्रह करेंगे. इसके लिए जन जागरण के मकसद से पूरे देश में कार्यकर्ताओं और जनता से मिलकर इन विषयों को बता रहे हैं. इसके तहत आज राजधानी लखनऊ में कार्यकर्ताओं और समर्थकों के बीच आये हैं. हजारे दो दिन के उत्तर प्रदेश दौरे पर आये हैं. वह कल सीतापुर में भी एक जनसभा को संबोधित करेंगे.

Nokia [CPS] IN

Written by National TV

Comments

Leave a Reply

Loading…

0

Comments

0 comments

59-59 विधानसभा सीटों पर मेघालय-नागालैंड में आज हो रहा है मतदान

बंद होने जा रहा हैं GST, वजह जानकर हैरान रह जायेंगे